छत्तीसगढ़: रंग ला रहा ‘लोन वर्राटू’ अभियान, दंतेवाड़ा में नक्सली कमांडर ने किया सरेंडर

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के नक्सल प्रभावित दंतेवाड़ा में ‘लोन वर्राटू’ अभियान (घर लौटो अभियान) रंग ला रहा है। इसके तहत लगातार नक्सलियों (Naxalites) का सरेंडर हो गया। जिले में एक नक्सली कमांडर (Naxali Commander) ने पुलिस के सामने सरेंडर कर दिया।

Naxalites

सांकेतिक तस्वीर।

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के नक्सल प्रभावित दंतेवाड़ा (Dantewada) में ‘लोन वर्राटू’ अभियान (घर लौटो अभियान) रंग ला रहा है। इसके तहत लगातार नक्सलियों (Naxalites) का सरेंडर हो रहा है। इसी कड़ी में जिले में एक और नक्सली कमांडर (Naxali Commander) ने पुलिस के सामने सरेंडर कर दिया। इसके साथ ही नक्सली कमांडर की निशानदेही पर पुलिस ने तीन बारूदी सुरंग भी बरामद की हैं। 

जानकारी के मुताबिक, नक्सली कमांडर गुड्डी कर्मा ने पुलिस के सामने सरेंडर कर दिया। नक्सली कमांडर (Naxali Commander) गुड्डी कर्मा ने पुलिस को बताया कि उसने नक्सलियों की विचारधारा से त्रस्त होकर और स्थानीय पुलिस द्वारा चलाए जा रहे ‘लोन वर्राटू’ अभियान से प्रभावित होकर आत्मसमर्पण करने का फैसला किया है।

नक्सलियों ने सुरक्षाबलों के कैंप पर हमला किया, 2 अधिकारी समेत एक जवान शहीद

सरेंडर करने वाले नक्सली कमांडर (Naxali Commander) कर्मा पर कई नक्सली वारदातों में शामिल रहा है। वह साल 2014 से अब तक चार ग्रामीणों की हत्या, राष्ट्रीय खनिज विकास निगम की खदानों में लगे वाहनों में आगजनी और पुलिस कर्मी की अपहरण जैसे संगीन वारदातों में शामिल रहा है। सरेंडर करने के बाद कर्मा को प्रोत्साहन राशि के रूप में 10 हजार रूपए दिए गए। इसके अलावा राज्य सरकार की पुर्नवास नीति के तहत भी उसकी मदद की जाएगी।

बता दें कि दंतेवाड़ा में प्रशासन ने जून में ‘लोन वर्राटू’ अभियान (घर लौटो अभियान) की शुरुआत थी। इस अभियान के तहत इनामी नक्सलियों के गांवों में उनका पोस्टर बैनर लगाकर उन्हें समाज की मुख्यधारा में वापस लौट आने के लिए कहा जा रहा है। उन्होंने बताया इस अभियान के तहत अब तक 70 नक्सलियों ने पुलिस के सामने आत्मसमर्पण किया है।

भारत ने चीन को सुनाई खरी-खरी, कहा- देश की अखंडता के साथ कोई समझौता नहीं

दंतेवाड़ा जिले के एसपी डॉ. अभिषेक पल्लव ने 3 अगस्त को बताया कि जनमिलिशिया कमांडर गुड्डी कर्मा ने पुलिस के सामने आत्मसमर्पण कर दिया है। पुलिस ने कर्मा द्वारा बताए गए स्थान से तीन बारूदी सुरंग भी बरामद की हैं। इनमें से एक 10 किलोग्राम और अन्य दो बारूदी सुरंग तीन-तीन किलो के थे।

एसपी के अनुसार, पुलिस ने यह बारूदी सुरंग किरंदुल थाना क्षेत्र के अंतर्गत हिरोली और पीरनार गांव के बीच सड़क से बरामद की हैं। बमों को नष्ट कर दिया गया है। नक्सलियों ने यह बम 28 जुलाई से तीन अगस्त के बीच चल रहे शहीद सप्ताह के दौरान पुलिस दल को नुकसान पहुंचाने के लिए लगाए गए थे।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, यूट्यूब पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

यह भी पढ़ें