छत्तीसगढ़: 25 CRPF जवानों की हत्या में था शामिल, 8 लाख के इनामी नक्सली कमांडर ने किया सरेंडर

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) की दंतेवाड़ा पुलिस (Police) को नक्सली उन्मूलन मोर्चे पर एक बड़ी सफलता हासिल हुई है। धुर नक्सल प्रभावित दंतेवाड़ा (Dantewada) जिले में एक इनामी नक्सली कमांडर (Naxali Commander) ने आत्मसमर्पण कर दिया है।

Naxali Commander

8 लाख के इनामी नक्सली कमांडर ने किया सरेंडर।

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) की दंतेवाड़ा पुलिस (Police) को नक्सली उन्मूलन मोर्चे पर एक बड़ी सफलता हासिल हुई है। धुर नक्सल प्रभावित दंतेवाड़ा (Dantewada) जिले में एक इनामी नक्सली कमांडर (Naxali Commander) ने आत्मसमर्पण कर दिया है। जानकरी के मुताबिक, दंतेवाड़ा के एसपी डॉ. अभिषेक पल्लव और उप-महानिरीक्षक डीएन लाल के सामने नक्सलियों के प्लाटून नम्बर 24 के कमांडर प्रदीप उर्फ भीमा कुंजाम ने 28 मई को आत्मसमर्पण (Surrender) कर दिया।

आत्मसमर्पण करने वाला नक्सली कई बड़ी नक्सली घटनाओं में शामिल रह चुका है। नक्सली कमांडर (Naxali Commander) प्रदीप उर्फ भीमा कुंजाम सीआरपीएफ (CRPF) के 25 जवानों की हत्या में शामिल था। इस खूंखार नक्सली पर सरकार की ओर से 8 लाख रुपये का इनाम घोषित किया गया था।

Coronavirus: भारत में हालात बदतर, पिछले 24 घंटों में टूटा मौतों का रिकॉर्ड

इस इनामी नक्सली कमांडर (Naxali Commander) ने नक्सलवाद की खोखली विचारधारा से उबकर और सरकार की पुनर्वास नीति से प्रभावित होकर सरेंडर किया है। आत्मसमर्पण करने वाले नक्सली प्रदीप ने साल 2016 में सुकमा जिले के बुर्कापाल में सीआरपीएफ (CRPF) के जवानों की टुकडी पर हमले की घटना में शामिल था। इस हमले को एम्बुस लगाकर अंजाम दिया गया था। इस हमले में सीआरपीएफ के 25 जवान शहीद हो गए थे। वह इस नक्सली हमले का प्रमुख साजिशकर्ता था।

आत्मसमर्पण के बाद प्रदीप को तत्काल 10 हजार रुपयों की प्रोत्साहन राशि दी गई। जिले के पुलिस अधीक्षक अभिषेक पल्लव के मुताबिक, छत्तीसगढ़ शासन की पुनर्वास नीति के तहत प्रदीप ने आत्मसमर्पण किया है। आगे उसे पुनर्वास नीति का पूरा लाभ मिलेगा। आत्मसमर्पित नक्सली कमांडर (Naxali Commander) ने क्षेत्र में दहशत फैला रहे भटके हुए लोगों से नक्सलवाद का रास्ता छोड़कर समाज की मुख्यधारा में लौट आने की अपील की है।

यह भी पढ़ें