छत्तीसगढ़: 3 अप्रैल को हुए नक्सली हमले में शामिल भीमसेन वेको ने किया सरेंडर, 22 जवानों की शहादत का है जिम्मेदार

इस नक्सली (Naxalites) के खिलाफ सुकमा और बीजापुर जिले की सीमा में सुरक्षाबलों पर हमला करने का आरोप है। ये नक्सली बीते महीने घटी उस नक्सली घटना में शामिल था।

Naxalites

सांकेतिक तस्वीर

बीजापुर के पुलिस अधिकारियों ने गुरुवार को इस गिरफ्तारी के बारे में जानकारी दी। उन्होंने बताया कि 20 साल के नक्सली (Naxalites) भीमसेन वेको ने पुलिस के सामने सरेंडर कर दिया है।

बीजापुर: छत्तीसगढ़ में नक्सलियों (Naxalites) के खिलाफ अभियान जारी है। इस बीच बीजापुर में एक नक्सली ने पुलिस के सामने सरेंडर किया है। पुलिस ने ये जानकारी दी है।

इस नक्सली (Naxalites) के खिलाफ सुकमा और बीजापुर जिले की सीमा में सुरक्षाबलों पर हमला करने का आरोप है। ये नक्सली बीते महीने अप्रैल में घटी उस नक्सली घटना में शामिल था, जिसमें हमारे 22 जवान शहीद हो गए थे।

बीजापुर के पुलिस अधिकारियों ने गुरुवार को इस गिरफ्तारी के बारे में जानकारी दी। उन्होंने बताया कि 20 साल के नक्सली भीमसेन वेको ने पुलिस के सामने सरेंडर कर दिया है। वह वेको नक्सलियों के प्लाटून नंबर 13 का सदस्य है।

Coronavirus: देश में 44 दिनों बाद आए सबसे कम मामले, दिल्ली में भी बेहतर हुए हालात

पुलिस ने ये भी बताया कि ये नक्सली, संगठन की खोखली विचारधारा और भेदभाव से भरे रवैये से परेशान हो गया था, इसलिए इसने सरेंडर किया है।

नक्सली को सरेंडर करने पर 10 हजार रुपए प्रोत्साहन राशि दी गई है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, यूट्यूब पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

यह भी पढ़ें