विकास के मामले में छत्तीसगढ़ को मिली एक और सफलता, इस वजह से टॉप 10 राज्यों में हुआ शामिल

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) ने विकास के क्षेत्र में एक और उपलब्धि हासिल की है। छत्तीसगढ़ देश में टॉप 10 सर्वाधिक निजी निवेश प्राप्त करने वाला राज्य बन गया है। कोरोना काल और आर्थिक मंदी के दौर में प्रदेश के लिए यह बड़ी उपलब्धि है।

Chhattisgarh

फाइल फोटो।

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) में पिछले दो सालों में 104 एमओयू हुए हैं। इनके माध्यम से प्रदेश में 42 हजार 714 करोड़ रुपये का पूंजी निवेश प्रस्तावित है।

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) ने विकास के क्षेत्र में एक और उपलब्धि हासिल की है। छत्तीसगढ़ देश में टॉप 10 सर्वाधिक निजी निवेश प्राप्त करने वाला राज्य बन गया है। कोरोना काल और आर्थिक मंदी के दौर में प्रदेश के लिए यह बड़ी उपलब्धि है। प्रोजेक्ट टुडे की हालिया रिपोर्ट के अनुसार, वित्तीय वर्ष 2020-21 की तीसरी तिमाही में अक्तूबर से दिसम्बर, 2020 के बीच छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh)को विनिर्माण के लिए 10,228 करोड़ के निजी निवेश के प्रस्ताव प्राप्त हुए हैं।

वहीं, छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) में पिछले दो सालों में 104 एमओयू हुए हैं। इनके माध्यम से प्रदेश में 42 हजार 714 करोड़ रुपये का पूंजी निवेश प्रस्तावित है। इसके साथ ही छत्तीसगढ़ निवेशकों के लिए सर्वाधिक अनुकूल प्रदेश के रूप में उभरा है।

सरकारी नौकरी की चाह रखने वाले युवाओं के लिए बड़ा मौका, रक्षा मंत्रालय में निकली वैकेंसी

देश के एक प्रतिष्ठित अंग्रेजी अखबार में प्रोजेक्ट टुडे की रिपोर्ट पर खबर प्रकाशित की गई है। जिसमें बताया गया है कि देश में तीसरी तिमाही के विनिर्माण में निजी निवेश प्रस्ताव में 102 फीसदी की वृद्धि हुई है। पहली तिमाही में जहां सर्वाधिक निवेश प्रस्ताव तमिलनाडु को मिले थे। वहीं, दूसरी तिमाही में छत्तीसगढ़ ने तमिलनाडु को पीछे छोड़ते हुए सर्वाधिक निवेश प्रस्ताव प्राप्त किए।

वहीं, तीसरी तिमाही में भी छत्तीसगढ़ विनिर्माण के क्षेत्र में निजी निवेश प्राप्त करने वाले टॉप दस राज्यों की सूची में शामिल है। बता दें कि प्रोजेक्ट्स टुडे भारत का सबसे बड़ा डेटाबैंक है, जिसमें देशभर के सभी क्षेत्रों की नई और चल रही परियोजनाओं की अद्यतन जानकारी इकठ्ठी की जाती है।

Indian Army में महिला और पुरुषों के लिए निकलीं जगह, 2.5 लाख रुपए तक मिलेगी सैलरी

बता दें कि कि छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) में नई सरकार के गठन के बाद नई औद्योगिक नीति लागू की गई है, जिसमें राज्य सरकार द्वारा नई सहूलियत और रियायतें देकर निवेशकों के अनुकूल माहौल तैयार किया गया है। इस नई उद्योग नीति में पिछड़े क्षेत्रों के विकास पर बल, कृषि आधारित उद्योगों को विशेष प्राथमिकता तथा औद्योगिक विकास के लिए औद्योगिक क्षेत्रों में भूमि आबंटन की दरों में 30 प्रतिशत की कमी की गई है।

वहीं, परंपरागत कोर सेक्टर के अलावा रोबोटिक्स, आर्टिफिशयल इंटेलिजेन्स को बढ़ावा देने के लिए इसे प्राथमिकता श्रेणी में शामिल किया गया है। छत्तीसगढ़ सरकार (Chhattisgarh Government) ने समावेशी विकास, आत्मनिर्भर और परिपक्व अर्थव्यवस्था वाले नवा छत्तीसगढ़ गढ़ने का लक्ष्य रखा है, जिसके क्रियान्वयन के रूप में कई नई योजनाओं और परियोजनाओं की शुरुआत की है।

ये भी देखें-

यही वजह है कि इस आर्थिक मंदी के दौर में भी विनिर्माण के क्षेत्र में छत्तीसगढ़ सबसे अधिक निवेश प्राप्त करने के मामले में राज्यों की सूची में टॉप 10 में शामिल है। वित्तीय वर्ष के तीसरी तिमाही में छत्तीसगढ़ को प्रोजेक्ट के लिए कुल 10,228 करोड़ का निजी निवेश हुआ है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, यूट्यूब पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

यह भी पढ़ें