छत्तीसगढ़: नक्सलग्रस्त कुटरु गांव को मिला राष्ट्रीय बाल मित्र पंचायत पुरस्कार

National Bal Mitra Panchayat Award, Naxal affected Kutru village, Bijapur village, chhattisgarh, sirf sach, sirfsach.in
केंद्रीय पंचायती-राज मंत्रालय ने कुटरु गांव को राष्ट्रीय स्तर पर बाल मित्र पंचायत पुरस्कार देने की घोषणा की है।

छत्तीसगढ़ के नक्सलग्रस्त जिले बीजापुर के कुटरु गांव को राष्ट्रीय स्तर पर बाल मित्र पंचायत पुरस्कार मिला है। केंद्रीय पंचायती-राज मंत्रालय ने कुटरु गांव को यह पुरस्कार देने की घोषणा की है। यह गांव बीजापुर के सर्वाधिक नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में शामिल भैरमगढ़ विकासखंड में आता है। जंगलों में बसे इस गांव ने नक्सल हिंसा से त्रस्त होने के बावजूद यह उपलब्धि हासिल की है। यह ऐसा इलाका है जहां नक्सली कोई भी विकास कार्य नहीं होने देते हैं। नक्सलियों के उत्पात की वजह से सरकार की विकास योजनाओं का सही तरीके से क्रियान्वयन भी नहीं हो पाता।

आए दिन यह इलाका नक्सलियों के खून-खराबे का गवाह बनता है। इन सभी मुश्किलों के बावजूद इस गांव के लोगों की कोशिशों की वजह से आज यह गांव और पंचायत एक उदाहरण बन गया है। कठिन परिस्थितियों के बीच कुटरु की यह उपलब्धि प्रदेश के दूसरे पंचायतों को प्रेरित करेगी। पंचायत मंत्री टीएस सिंहदेव ने इस उपलब्धि के लिए कुटरु पंचायत के पंचों और सरपंच सहित सभी गांव वालों को बधाई दी। उन्होंने योजनाओं के प्रभावी क्रियान्वयन और उत्कृष्ट कार्यों के लिए ग्राम पंचायत की सराहना की।

प्रदेश के दूरस्थ वनांचल में बसे कुटरु पंचायत ने बच्चों की शिक्षा, सेहत और स्वच्छता के लिए श्रेष्ठ कार्य किया है। पंचायत की समितियों ने टीकाकरण, स्कूल में बच्चों के दाखिले, मध्यान्ह भोजन, शिक्षकों की उपस्थिति, पोषण सुधार, कुटरु को खुले में शौचमुक्त गांव बनाने और किशोरियों की स्वच्छता के लिए सेनेटरी नैपकिन उपलब्ध कराने में उल्लेखनीय कार्य किया है। इन सभीं कार्यों में केंद्र सरकार के मानकों पर खरा उतरने पर कुटरु पंचायत का चयन बाल मित्र ग्राम पंचायत पुरस्कार के लिए किया गया है।

पढ़ें: अपनी खत्म हो चुकी साख को पुनर्जीवित करने की रणनीति बना रहे नक्सली

अपनी खत्म हो चुकी साख को पुनर्जीवित करने की रणनीति बना रहे नक्सली

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here