INA में पासिंग आउट परेड पूरी, 152 युवा अधिकारी Indian Navy में शामिल; देखें PHOTOS

भारतीय नौसेना अकादमी (Indian Naval Academy) की पासिंग आउट परेड (Passing Out Parade) 29 मई को हुई। इसमें 152 प्रशिक्षु पास आउट होकर Indian Navy में अधिकारी बन गए हैं।

Published by सिर्फ़ सच टीम May 31, 2021
  • भारतीय नौसेना अकादमी (Indian Naval Academy) की पासिंग आउट परेड (Passing Out Parade) 29 मई को हुई। इसमें 152 प्रशिक्षु पास आउट होकर Indian Navy में अधिकारी बन गए हैं।

  • केरल के एझिमाला स्थित भारतीय नौसेना अकादमी (INA) से अपना प्रशिक्षण पूरा करने वालों में 100 आईएनएसी के मिडशिपमैन, 30 ए नेवल ओरिएंटेशन कोर्स (विस्तारित) और 32 नेवल ओरिएंटेशन कोर्स के कैडेट्स शामिल हैं।

  • परेड की समीक्षा पूर्वी नौसेना कमान के फ्लैग ऑफिसर कमांडिंग-इन-चीफ वाइस एडमिरल अजेंद्र बहादुर सिंह ने की। उन्होंने मेधावी मिडशिपमैन और कैडेट्स को पदक प्रदान किए।

  • भारतीय नौसेना अकादमी (Indian Naval Academy) से बी.टेक पाठ्यक्रम के लिए राष्ट्रपति का स्वर्ण पदक मिडशिपमैन मोहित भूरिया को प्रदान किया गया।

  • इसके अलावा आईएनएसी बी टेक कोर्स के लिए सीएनएस रजत पदक-। मिडशिपमैन रोहित डागरी को, आईएनएसी बी टेक कोर्स के लिए एफओसी-इन-सी दक्षिण कांस्य पदक-मिडशिपमैन गौरव कुमार को दिया गया।

  • वहीं, एनओसी (नियमित) के लिए सीएनएस स्वर्ण पदक कैडेट आकांक्षा मेहरा को, कमांडेंट, आईएनए एनओसी (नियमित) के लिए रजत पदक कैडेट रितिका मिश्रा को और सबसे होनहार महिला प्रशिक्षु के लिए जमोरिन ट्रॉफी कैडेट वैशाली मिश्रा को दी गई।

  • पासिंग आउट परेड में सफल प्रशिक्षु अपनी चमचमाती तलवारों और राइफलों के साथ स्लो मार्च में सलामी मंच के सामने से गुजरे।

  • इसके बाद भारतीय नौसेना अकादमी (Indian Naval Academy) से प्रशिक्षुओं को विदाई देने के लिए 'ऑल्ड लैंग सिन धुन बजाई गई, जिस पर पास आउट हुए छात्रों ने मार्च किया।

  • वाइस एडमिरल अजेंद्र बहादुर सिंह ने परेड में प्रशिक्षुओं को उनके त्रुटिहीन टर्न आउट, स्मार्ट ड्रिल और परेड के लिए बधाई दी।

  • अधिकारी ने कैडेट्स को संबोधित करते हुए कर्तव्य, सम्मान और साहस के मूल मूल्यों पर जोर दिया।

  • उन्होंने कहा कि सशस्त्र बल देश की रक्षा का सबसे मजबूत स्तंभ हैं और उन्हें हर बार खुद को साबित करना होता है, चाहे वह भूमि या समुद्री सीमाओं पर संघर्ष की स्थिति हो या कोविड महामारी, प्राकृतिक आपदा हो।

  • बता दें कि हाल ही में चक्रवात 'यास' और 'ताउते' के दौरान नौसेना ने खोज और बचाव अभियान चलाया है।​​

  • पास आउट हुए ये नए अधिकारी अब विशेष क्षेत्रों में अपने प्रशिक्षण को और मजबूत करने के लिए नौसेना के विभिन्न जहाजों और प्रतिष्ठानों में तैनात किए जाएंगे।

यह भी पढ़ें