तकनीकी तौर पर Indian Army खुद को लगातार कर रही मजबूत, बीते एक साल में SSD दायर किए 16 पेटेंट्स; देखें PHOTOS

सिमुलेटर डेवलपमेंट डिवीजन (SDD) की स्थापना साल 1991 में सिकंदराबाद के मिलिट्री कॉलेज ऑफ इलेक्ट्रिकल एंड मैकेनिकल इंजीनियरिंग में एक नोडल एजेंसी के रूप में की गई थी।

Published by सिर्फ़ सच टीम July 13, 2021
  • भारतीय सेना (Indian Army) तकनीकी तौर पर खुद को लगातार मजबूत कर रही है।

  • पिछले एक साल में सिम्युलेटर डेवलपमेंट डिवीजन (SDD) ने प्रसार और प्रोटेक्शन के लिए 16 पेटेंट्स दायर किए हैं।

  • सिम्युलेटर फुटप्रिंट्स और विजिबलिटी बढ़ाने के लिए पहली बार भारतीय सेना (Indian Army) ने अभ्यास किया।

  • बता दें कि सिमुलेटर डेवलपमेंट डिवीजन (SDD) की स्थापना साल 1991 में सिकंदराबाद के मिलिट्री कॉलेज ऑफ इलेक्ट्रिकल एंड मैकेनिकल इंजीनियरिंग में एक नोडल एजेंसी के रूप में की गई थी। इसका मकसद स्वदेशी सिमुलेटर के विकास की आवश्यकता को पूरा करना और अत्याधुनिक तकनीकी को सेना में शामिल करना है।

यह भी पढ़ें