मिथुन चक्रवर्ती: हिंदी सिनेमा के पहले डांसिंग स्टार, रशियन भी हैं ‘दादा’ के लिए पागल

कहा जाता है कि पहले से शादीशुदा मिथुन (Mithun Chakraborty) ने गुपचुप तरीके से श्रीदेवी (Sridevi) से शादी भी कर ली थी, लेकिन दोनों की नजदीकियों की खबर मिथुन की पत्नी को लग गई और उनके विरोध के कारण ही मिथुन ने श्रीदेवी से अपना नाता तोड़ा।

Mithun Chakraborty मिथुन चक्रवर्ती

Mithun Chakraborty Birth Anniversary II अभिनेता मिथुन चक्रवर्ती

Mithun Chakraborty Birth Anniversary: बॉलीवुड में मिथुन चक्रवर्ती का नाम एक ऐसे अभिनेता के तौर पर शुमार किया जाता है जिन्होंने डांसिंग स्टार के तौर पर अपनी खास पहचान बनायी। 16 जून, 1952 को कोलकाता शहर में जन्मे मिथुन का असली नाम गौरांग चक्रवर्ती है। उन्होंने स्नातक की शिक्षा कोलकाता के मशहूर स्कॉटिश चर्च से पूरी की। मिथुन अपने जीवन के शुरूआती दौर में वामपंथी विचारधारा से काफी प्रभावित रहने के कारण नक्सलवाद से जुड़े रहे लेकिन अपने भाई की असमय मृत्यु से उन्होंने नक्सलवाद का रास्ता छोड़ दिया और पुणे फिल्म संस्थान में दाखिला ले लिया।

वर्ष 1976 में प्रदर्शित फिल्म ‘मृगया’ बतौर अभिनेता मिथुन चक्रवर्ती (Mithun Chakraborty) के फिल्मी करियर की पहली फिल्म थी। फिल्म में उन्होंने एक ऐसे संथाली युवक मृगया की भूमिका निभाई जो अंग्रेजी हूकुमत द्वारा अपनी पत्नी के यौन शोषण के विरूद्ध आवाज उठाता है। फिल्म में उन्हें दमदार अभिनय के लिये बेस्ट एक्टर के नेशनल अवॉर्ड से नवाजा गया।

सुरैया जयंती विशेष: देवानंद से की बेइंतहा मोहब्बत, उनकी याद में आजीवन रहीं कुंवारी

फिल्म ‘मृगया’ की सफलता के बावजूद मिथुन चक्रवर्ती (Mithun Chakraborty) को बतौर अभिनेता काम नही मिल रहा था। आश्वासन तो सभी देते लेकिन उन्हें काम करने का अवसर कोई नही देता था। इस बीच मिथुन चक्रवर्ती  को ‘दो अंजाने’, ’फूल खिले है गुलशन गुलशन’ जैसी कुछ फिल्मों में छोटी सी भूमिका निभाने का मौका मिला लेकिन इन फिल्मों से उन्हें कोई खास फायदा नहीं पहुंचा।

साल 1979 में मिथुन चक्रवर्ती (Mithun Chakraborty) को रविकांत नगाईच की फिल्म ‘सुरक्षा’ में काम करने का मौका मिला जो उनके करियर की पहली हिट फिल्म साबित हुयी। मारधाड़ और एक्शन से भरपूर इस फिल्म में मिथुन चक्रवर्ती  एक जासूस की भूमिका में थे। उनका ये अंदाज दर्शकों को काफी पसंद आया। बाद में साल 1982 में इस फिल्म का सीक्वल ‘वारदात’ भी बनाया गया।

मिथुन चक्रवर्ती (Mithun Chakraborty) की किस्मत का सितारा साल 1982 में प्रदर्शित फिल्म ‘डिस्को डांसर’ से चमका। नाच गाने से भरपूर इस फिल्म में मिथुन चक्रवर्ती  ने डिस्को डांसर की भूमिका निभाई। बेहतरीन गीत, संगीत और अभिनय से सजी सुभाष घई की ये फिल्म उस जमाने की सुपर-डुपर हिट साबित हुई और इसी फिल्म ने मिथुन को बॉलीवुड में एक स्टार के तौर पर स्थापित कर दिया। 

फिल्म ‘डिस्को डांसर’ की सफलता के बाद मिथुन चक्रवर्ती (Mithun Chakraborty) की छवि एक डांसिग स्टार के रूप में बन गयी। इस फिल्म के बाद निर्माता-निर्देशकों ने अधिकतर फिल्मों में मिथुन चक्रवर्ती की डांसिग एक्टर की छवि को भुनाया। इन फिल्मों में ‘कसम पैदा करने वाले की’, ‘डांस-डांस’ जैसी फिल्में शामिल हैं।

अस्सी के दशक में मिथुन चक्रवर्ती (Mithun Chakraborty) उन निर्माताओं की पहली पसंद बन गये जो कम बजट की पारिवारिक फिल्म बनाते थे। उस दौर में वह फिल्म निर्माताओं के लिये ‘गरीबों का अमिताभ’ बनकर उभरे और कई सफल फिल्मों में काम करके दर्शकों का खूब मनोरंजन किया।

नब्बे के दशक के आखिरी वर्षों में उन्होंने फिल्म इंडस्ट्री से कुछ हद तक किनारा कर लिया और उटी चले गये। वहां वह होटल व्यवसाय के धंधे में उतर गए। जल्द ही उन्होंने कोलकाता, सिलिगुड़ी, उटी और दार्जिलिंग में मोनार्क समूह के कई होटल खोल लिये। हालांकि इस दौरान भी उन्होंने फिल्मों से अपना नाता पूरी तरह से नहीं तोड़ा और एक्का-दूक्का फिल्मों में एक्टिंग करते रहे।

एक्टिंग में एकरूपता से बचने और खुद को चरित्र अभिनेता के रूप में भी स्थापित करने के लिये मिथुन चक्रवर्ती (Mithun Chakraborty) ने खुद को अलग-अलग रोल में पेश किया। इसी सिलसिले में साल 2005 में प्रदर्शित फिल्म ‘एलान’ में ग्रे शेडस निभाकर अपने फिल्मी करियर की दूसरी पारी शुरू की। साल 2005 में ही मणिरत्नम की फिल्म ‘गुरू’ ने उनके अभिनय को नया आयाम दिया।

मिथुन चक्रवर्ती (Mithun Chakraborty) के फिल्मी सफर पर नजर डालें तो पायेगें कि वह मल्टी स्टारर फिल्मों का अहम हिस्सा रहे हैं। जब कभी फिल्म निर्माताओं को ऐसी फिल्मों में अभिनेता की जरूरत होती वह मिथुन चक्रवर्ती  को नजर अंदाज नहीं कर पाते।

मिथुन ने अपने करियर में सभी टॉप की हिरोइनों के साथ काम किया है लेकिन पर्दे पर उनकी जोड़ी रंजीता के साथ खासी पसंद की गयी। इसके अलावा मिथुन की जोड़ी श्रीदेवी (Sridevi), पदमिनी कोल्हापुरी और जीनत अमान के साथ भी पसंद की गयी। कहा जाता है कि पहले से शादीशुदा मिथुन ने गुपचुप तरीके से श्रीदेवी (Sridevi) से शादी भी कर ली थी, लेकिन दोनों की नजदीकियों की खबर मिथुन की पत्नी को लग गई और उनके विरोध के कारण ही मिथुन ने श्रीदेवी से अपना नाता तोड़ा।

मिथुन एक अभिनेता होने के साथ साथ गायक, निर्माता, निर्देशक, कारोबारी होने के अलावा एक समाजसेवी भी हैं। उन्होंने पश्चिम बंगाल की सड़क के किनारे कूड़े की ढेर में पड़ी एक लड़की को गोद भी लिया है। जिसको उन्होंने अपने बच्चों से भी ज्यादा प्यार दिया। दिशानी नाम की वो लड़की अभी न्यूयॉर्क में एक्टिंग की पढ़ाई कर रही है।

मिथुन चक्रवर्ती (Mithun Chakraborty) ने अभी तक करीब 350 फिल्मों में अभिनय किया है। इस सफर में मिथुन को दो बार फिल्म फेयर अवॉर्ड से नवाजा गया है। मिथुन तृणमूल कांग्रेस की सीट से राज्यसभा सांसद भी रह चुके हैं।