हैप्‍पी बर्थडे माधुरी दीक्षित: अपने दमदार अभिनय के दम पर श्रीदेवी से छीन लिया था नंबर-1 का ताज

माधुरी दीक्षित (Madhuri Dixit) को कई बार ‘फिल्म फेयर अवार्ड्स’ एवं अन्य अवार्ड्स से नवाजा गया। उन्हें फिल्म ‘दिल’ (1990), ‘बेटा’ (1992), ‘हम आपके हैं कौन’ (1994), ‘दिल तो पागल है’ (1997) के लिए ‘सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री का फिल्मफेयर अवार्ड’ तथा फिल्म देवदास के लिए सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेत्री का स्टार स्क्रीन अवार्ड (2002) मिला।

Madhuri Dixit Birthday

Madhuri Dixit Birth Anniversary

फिल्म इंडस्ट्री में एक वक्त ऐसा था, जब माधुरी दीक्षित (Madhuri Dixit) बतौर नायिका नंबर वन की कुरसी पर विराजमान थीं और वह कुर्सी उन्होंने उस वक्त की नंबर वन नायिका श्रीदेवी से हथिया ली थी। आज भी लोग माधुरी दीक्षित को नहीं भूल पाए हैं।

माधुरी दीक्षित (Madhuri Dixit) 1987 से 2003 के समय की प्रमुख नायिकाओं में से एक हैं| उनके पिता शंकर तथा माता स्नेहलता हैं। 15 मई, 1967 को जनमी माधुरी दीक्षित एक प्रशिक्षित कत्थक नृत्यांगना हैं। माधुरी दीक्षित ने सन् 1984 में फिल्म ‘अबोध’ से अपने फिल्मी जीवन की शुरुआत की। हीरोइन के रूप में उनकी पहली फिल्म ‘तेजाब’ थी। ‘तेजाब’ फिल्म से ही वह बॉलीवुड की जानी-मानी हीरोइनों में गिनी जाने लगीं। ‘दयावान’, ‘राम लखन’, ‘दिल’, ‘साजन’, ‘बेटा’, ‘खलनायक’ और ‘हम आपके हैं कौन’ उनकी अन्य सफल फिल्में हैं।

मृणाल सेन जन्मदिन विशेष: फिल्मों के माध्यम से समाज की रूढ़िवादी सोच पर गंभीर सवाल उठाने में महारथी

माधुरी दीक्षित (Madhuri Dixit) की फिल्म ‘आजा नचले’ क्या फ्लॉप हो गई, उनका कमबैक ज्यों-का-त्यों रह गया। हालांकि उन्हें और फिल्मों के ऑफर मिल रहे हैं लेकिन जब तक उन्हें कहानी पसंद नहीं आती और उनके लिए करने को कुछ ठोस नहीं होता, माधुरी आसानी से फिल्म साइन नहीं करतीं। शायद इसीलिए माधुरी के वफादार सेक्रेटरी रिक्कू उनके पुराने निर्माता-निर्देशकों को उनके लिए कहानी ढूंढने को कह रहे हैं।

दुबली-पतली माधुरी दीक्षित (Madhuri Dixit) ने जब ‘अबोध’ से अपना करियर शुरू किया था, तब उस समय किसी ने सोचा भी नहीं था कि यह लड़की एक दिन करोड़ों लोगों के दिलों पर राज करेगी। शुरुआत के चार वर्ष माधुरी को संघर्ष करना पड़ा। 1988 में ‘तेजाब’ ने माधुरी दीक्षित को टॉप पर पहुँचा दिया। ‘एक दो तीन’ गाते हुए उन्होंने सफलता की सीढियां चढ़ीं और शिखर पर जा पहुंचीं।  माधुरी दीक्षित ने देवदास के बाद ब्रेक ले लिया।  बॉलीवुड का ट्रेंड है कि वो अपने फंक्शन को बड़े धूम-धाम के साथ सेलिब्रेट करते हैं, फिल्म इंडस्ट्री में स्टार्स की शादी बहुत धूम-धाम से होती है वहीं माधुरी ने ऐसा कुछ भी नहीं किया। उन्होंने 17 अक्टूबर 1999 को अमेरिका स्थित भारतीय डॉक्टर श्रीराम नेने से लॉस एंजिलिस के कैलिफोर्निया में एक साधारण तरीके से शादी की। इसके बाद आजा-नच ले से ही उन्होंने बॉलीवुड में फिर से कम बैक किया जो 2007 में रिलीज हुई थी। इसके बाद माधुरी दीक्षित डेढ़ इश्किया फिल्म में दिखीं जो 2014 में रिलीज हुई थी। 

माधुरी दीक्षित (Madhuri Dixit) को कई बार ‘फिल्म फेयर अवार्ड्स’ एवं अन्य अवार्ड्स से नवाजा गया। उन्हें फिल्म ‘दिल’ (1990), ‘बेटा’ (1992), ‘हम आपके हैं कौन’ (1994), ‘दिल तो पागल है’ (1997) के लिए ‘सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री का फिल्मफेयर अवार्ड’ तथा फिल्म देवदास के लिए सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेत्री का स्टार स्क्रीन अवार्ड (2002) मिला। उन्हें फिल्म ‘हम आपके हैं कौन’ (1995), ‘राजा’ (1996), ‘मृत्युदंड’ (1998), के लिए सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री तथा फिल्म ‘देवदास’ के लिए सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेत्री का जी सिने अवार्ड’ (2003) से भी नवाजा गया। उन्हें ‘नेशनल सिटीजस अवार्ड’ (2001) सहित अन्य कई अवार्ड से भी सम्मनित किया गया है।

यह भी पढ़ें