कैटरीना कैफ- अंतर्राष्ट्रीय मॉडल से बॉलीवुड की टॉप एक्ट्रेस बनने का सफर

कैटरीना (Katrina Kaif) की परवरिश मिश्रित संस्कृति में हुई है। उनके पिता मूलत: कश्मीर के हैं, लेकिन उन्होंने ब्रिटिश नागरिकता स्वीकार कर ली है, जबकि कैटरीना की माँ ब्रिटेन की हैं। लंदन और हवाई द्वीप में पली-बढ़ी कैटरीना अंतर्राष्ट्रीय स्तर की मॉडल भी रह चुकी हैं।

Katrina Kaif II कैटरीना कैफ

Happy Birthday Katrina Kaif II कैटरीना कैफ को जन्मदिन की शुभकामनाएं

हिंदी सिनेमा में कैटरीना कैफ (Katrina Kaif) को एक ऐसी अदाकारा के तौर पर जाना जाता है जिन्होंने अपनी दिलकश अदाओं से दर्शकों को दीवाना बनाया है। हांगकांग में 16 जुलाई, 1984 को जन्मी कैटरीना कैफ सफलता का पर्याय बन गई हैं। छोटे से अंतराल में ही कैटरीना ने खुद को चोटी की अभिनेत्रियों में शुमार करा लिया है। मॉडलिंग इंडस्ट्री में अपनी खूबसूरती और ग्लैमर का परचम लहरानेवाली लंदन की इस खूबसूरत बाला ने जब हिंदी फिल्मों में कदम रखा तो उनकी सफलता को लेकर प्रश्नचिह्न लगाए गए।

15 जुलाई, 1948 के दिन राष्ट्रीय कैडेट कोर की स्थापना की गई थी, जानें इसके बारे में सबकुछ

दरअसल, वह हिंदी शब्दों का सही उच्चारण नहीं कर पाती हैं, जिस कारण हिंदी फिल्मों में उनके भविष्य को लेकर ऐसे कयास लगाए जा रहे थे। कैटरीना (Katrina Kaif) ने अपने आकर्षण से इन आशंकाओं को कोरा साबित कर दिया। उन्हें दर्शकों ने स्वीकारा। अपने आलोचकों का मुँह बंद करने के लिए कैटरीना ने अपनी मेहनत और लगन से हिंदी जैसे कठिन भाषा पर भी विजय प्राप्त की।

कैटरीना (Katrina Kaif) की परवरिश मिश्रित संस्कृति में हुई है। उनके पिता मूलत: कश्मीर के हैं, लेकिन उन्होंने ब्रिटिश नागरिकता स्वीकार कर ली है, जबकि कैटरीना की माँ ब्रिटेन की हैं। लंदन और हवाई द्वीप में पली-बढ़ी कैटरीना अंतर्राष्ट्रीय स्तर की मॉडल भी रह चुकी हैं। जब उन्हें भारत से मॉडलिंग के ऑफर्स आने लगे तो उन्होंने भारत आने का फैसला किया और उसके बाद तो वह यहीं की होकर रह गई।

हिंदी फिल्मों में खद को स्थापित करने के बाद उन्होंने सलमान खान के साथ मधुर रिश्ता भी जोड़ लिया। कैट (Katrina Kaif) की पहली फिल्म ‘बूम’ थी, जो बॉक्स ऑफिस पर ढेर हो गई। फिर आई ‘सरकार’। ‘सरकार’ में अभिषेक बच्चन की प्रेमिका की छोटी भूमिका में कैटरीना ने बड़े निर्माता-निर्देशकों का ध्यानाकर्षण किया, पर उन्हें व्यापक पहचान मिली ‘मैंने प्यार क्यों किया’ से। ‘मैंने प्यार क्यों किया में कैटरीना को सलमान खान का साथ मिला था। सलमान के साथ कैट की जोड़ी को दर्शकों का भरपूर प्यार मिला। इस फिल्म के साथ ही कैटरीना की सफलता का सिलसिला शुरू हो गया। हमको दीवाना कर गए’, ‘नमस्ते लंदन’, ‘अपने’, ‘पार्टनर’, ‘वेलकम’, ‘रेस’ और अब ‘अजब प्रेम की गजब कहानी’ जैसी सफल फिल्मों का हिस्सा रही कैटरीना हिंदी फिल्मों की ‘हॉट प्रॉपर्टी’ बन गई हैं।

खिलाड़ी अक्षय कुमार के साथ कैटरीना (Katrina Kaif)  की जोडी रूपहले परदे की सबसे सफल जोडियों में शामिल हो गई है। दोनों की साथ-साथ तीन फिल्में रिलीज हुई और तीनों ही बॉक्स ऑफिस पर सफलता का डंका बजाने में सफल रहीं। वैसे प्रेमी सलमान खान के साथ भी कैटरीना को बड़े पर्दे पर देखने के लिए दर्शक आतुर रहते हैं, लेकिन मैंने प्यार क्यों किया’ के बाद दोनों ‘पार्टनर’ में नजर तो आए, लेकिन इस बार कैटरीना की जोड़ी गोविंदा के साथ जमी थी। सलमान और कैट की हसीन जोड़ी मुक्ता आर्ट्स’ की ‘युवराज’ में फिर देखने को मिली, उसके बाद दोनों की जोड़ी ने यशराज बैनर की सुपरहिट फिल्म एक था टाइगर में खूब धमाल मचाई। कैटरीना धीरे-धीरे हिंदी फिल्मी दुनिया में खुद को ढाल चुकी हैं। ‘रेस’ में कैटरीना (Katrina Kaif)  के हिस्से जटिल भूमिका आई, जिसे उन्होंने बड़ी ही सहजता से निभाया। फिल्म ‘दे दना दन’ में भी अक्षय कुमार के साथ उनकी जोड़ी दर्शकों को फिर से खूब पसंद आई, लेकिन फिल्म समीक्षा आज भी उनकी अभिनय प्रतिभा पर संदेह की दृष्टि रखते हैं।

यह भी पढ़ें