सेनाओं में बढ़ रही है महिलाओं की भागीदारी, 2019 में 469 महिला अफसरों की नियुक्ति

सरकार ने कहा कि भारतीय सेना (Indian Army) ने महिला अधिकारियों  (Female Officers) को बल में स्थायी कमीशन देने के उच्चतम न्यायालय के 17 फरवरी के आदेश का पालन करने की प्रतिबद्धता जताई है और वर्ष 2019 के दौरान तीनों सेनाओं में कुल 469 महिला अधिकारियों  को भर्ती किया गया है। रक्षा राज्यमंत्री श्रीपाद नाइक ने एक प्रश्न के लिखित उत्तर में राज्यसभा को यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि वर्ष 2019 में कुल 469 महिला अधिकारियों को तीनों सेनाओं में भर्ती किया गया है। इनमें चिकित्सा और दंत शाखा में भर्ती की गयी महिला अधिकारी शामिल नहीं हैं।

Female Officers

उन्होंने बताया कि भारतीय सेना (Indian Army) में वर्ष 2017‚ 2018 और 2019 में क्रमशः 949, 819 और 364 महिला अधिकारियों  (Female Officers) को भर्ती किया गया। इस दौरान भारतीय वायुसेना (Indian Airforce) में क्रमशः 59‚ 59 और 51 तथा भारतीय नौसेना (Indian Navy) में 57‚ 38 और 54 महिला अधिकारियों को भर्ती किया गया।

पढ़ें: BSF ने अपने जवान अनीस को दिया 10 लाख का उपहार

उन्होंने बताया कि 2020 में अभी तक सेना (Indian Army) में एक महिला अधिकारी की भर्ती हुई है जबकि नौसेना (Indian Navy) में 18 महिला अधिकारियों (Female Officers) की भर्ती प्रक्रियाधीन है।

नाइक ने बताया कि सशस्त्र बल चिकित्सा सेवाओं (AFMC) के तहत एक जनवरी 2020 तक थलसेना‚ वायुसेना और नौसेना (Indian Navy) में महिला चिकित्सा अधिकारियों की संख्या क्रमशः 1985 ( 21.25%)‚ 265 (29.38%) और 141 (20.74%) थी।

दंत चिकित्सा में इनकी संख्या क्रमशः 170 (25.15%)‚ 7 (20.59%) और 5 (14.29%) थी। तीनों बलों में सेवा नर्सिंग सेवा में महिला अधिकारियों (Female Officers) की संख्या 4658 (100%) थी।

उन्होंने कहा कि भारतीय सेना (Indian Army) महिला अधिकारियों (Female Officers) को उनकी योग्यता‚ व्यावसायिक अनुभव‚ विशेषज्ञता और संगठन की आवश्यकता के अनुसार स्थायी कमीशन देने के मकसद से 17 फरवरी के उच्चतम न्यायालय के निर्णय का अनुपालन करने के लिए प्रतिबद्ध है।

मंत्री ने कहा कि भारतीय वायुसेना (Indian Airforce) में कमांडिंग पदों का निर्णय पूर्णतः गुण दोष के आधार पर किया जाता है। भारतीय वायुसेना में कमांडिंग अधिकारियों के लिए महिला अधिकारियों (Female Officers) की नियुक्ति पर कोई रोक नहीं है।


उन्होंने कहा कि नौसेना (Indian Navy) की विभिन्न शाखाओं में समान योजना के अंतर्गत भर्ती किए गये पुरूष और महिला अधिकारियों (Female Officers) की नियुक्ति नौकरी देने में समान रूप से और बिना भेदभाव के व्यवहार किया जाता है।

<

p style=”text-align: justify;”> 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here