CAA और 370 पर पीएम मोदी की दो टूक, “अपने फैसले से नहीं हटेंगे पीछे”

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने वाराणसी में कहा कि दुनिया भर के तमाम दबावों के बावजूद उनकी सरकार नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) और जम्मू–कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने के फैसलों पर कायम है और आगे भी रहेगी। देश के विभिन्न हिस्सों में सीएए के खिलाफ जारी अनिश्चितकालीन प्रदर्शनों के मद्देनजर प्रधानमंत्री का यह बयान महत्वपूर्ण है।

Narendra Modi

प्रधानमंत्री ने अपने संसदीय निर्वाचन क्षेत्र वाराणसी में पंडि़त दीनदयाल उपाध्याय मेमोरियल सेंटर को राष्ट्र को समर्पित करने के साथ ही विभिन्न विकास परियोजनाओं का भी लोकार्पण किया। इस दौरान उन्होंने कहा‚ देश आज वो फैसले भी ले रहा है जो हमेशा पीछे छोड़़ दिए जाते थे। जम्मू–कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने का फैसला हो या फिर नागरिकता संशोधन कानून (सीएए)‚ वर्षों से देश को इन फैसलों का इंतजार था। देशहित में ये फैसले जरूरी थे और दुनिया भर के तमाम दबावों के बावजूद हम इन फैसलों पर कायम हैं और कायम रहेंगे।

इतिहास में आज का दिन – 17 फरवरी

मोदी (Narendra Modi) ने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के विचारक पंडि़त दीनदयाल उपाध्याय के अंत्योदय के सिद्धांत को अपनी सरकार के इरादों से जोड़ते हुए कहा कि दीनदयाल जिस तरह अंत्योदय की बात करते थे‚ वैसे ही देश के छोटे शहरों का उदय देश के विकास को नयी ऊंचाइयों पर ले जाएगा। उन्होंने कहा कि अभी हाल में जो बजट आया है‚ उसमें सरकार ने घोषणा की है कि मूलभूत ढांचे के निर्माण पर 100 लाख करोड़़ रुपए से ज्यादा धनराशि खर्च की जाएगी। इसका बहुत बड़़ा हिस्सा देश के छोटे–छोटे शहरों के खाते में ही जाने वाला है।

इससे पहले मोदी (Narendra Modi) ने वीरशैव समुदाय के जंगमबाड़ी मठ में आयोजित श्री जगदगुरु विश्वराध्य गुरुकुल के शताब्दी समारोह के समापन पर कहा कि भारत की सही पहचान को भावी पीढ़ी तक पहुंचाने का दायित्व हम सभी पर है। देश सिर्फ सरकार से नहीं बनता‚ बल्कि एक–एक नागरिक के संस्कार से बनता है। एक नागरिक के रूप में हमारा आचरण ही नये भारत की दिशा तय करेगा।

मोदी (Narendra Modi) ने श्री सिद्धान्त शिखमणी ग्रन्थ के 19 भाषाओं में अनुदित संस्करण और इसके मोबाइल एप्लिकेशन का विमोचन भी किया। उन्होंने कहा कि इस ग्रंथ को 21वीं सदी का रूप देने के लिये वह विशेष अभिनंदन करते हैं। भक्ति से मुक्ति का मार्ग दिखाने वाले इस दर्शन को भावी पीढ़ी तक पहुंचाया जाना चाहिये। एक मोबाइल एप्लिकेशन के माध्यम से यह दर्शन युवाओं तक पहुंचकर उन्हें प्रेरणा देगा।

<

p style=”text-align: justify;”>अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के संदर्भ में प्रधानमंत्री (Narendra Modi) ने कहा कि आज देश में ऐसे फैसले हो रहे हैं‚ उन पुरानी समस्याओं का समाधान किया जा रहा है‚ जिनकी किसी ने कल्पना नहीं की थी। राम मंदिर विवाद दशकों से अदालतों में उलझा हुआ था‚ लेकिन अब मंदिर निर्माण का रास्ता साफ हो गया है। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here