Jammu-Kashmir: आतंकियों ने BJP नेता वसीम बारी की गोली मारकर हत्या की, हमले में पिता और भाई की भी मौत

जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) के बांदीपोरा में आतंकियों (Terrorists) ने भारतीय जनता पार्टी (BJP) नेता वसीम बारी (Wasim Bari) की हत्या कर दी। आतंकियों के हमले में वसीम के भाई उमर सुल्तान और पिता बशीर शेख को भी गोली लगी थी।

Wasim Bari

वसीम बारी (फाइल फोटो)

जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) के बांदीपोरा में आतंकियों (Terrorists) ने भारतीय जनता पार्टी (BJP) नेता वसीम बारी (Wasim Bari) की हत्या कर दी। आतंकियों के हमले में वसीम के भाई उमर सुल्तान और पिता बशीर शेख को भी गोली लगी थी, बाद में दोनों की भी मौत हो गई।

जानकारी के अनुसार, बीजेपी नेता (BJP Leader) अपने पिता और भाई के साथ दुकान पर थे, इसी दौरान आतंकवादियों ने उन पर गोलियां चलाईं। कश्मीर के आईजी ने कहा है कि परिवार को 10 सुरक्षाकर्मी मिले हैं, लेकिन घटना के समय कोई भी साथ नहीं था। घर और दुकान दोनों ही पास में हैं। पीएसओ को पहली मंजिल पर बैठने की अनुमति थी।

Coronavirus: भारत में जारी है कोरोना का कहर, संक्रमितों का आंकड़ा पहुंचा 7 लाख 67 हजार के पार

इस वारदात के बाद बीजेपी नेता वसीम बारी (Wasim Bari) की सुरक्षा में तैनात 10 सुरक्षाकर्मियों को गिरफ्तार कर लिया गया है। पुलिस ने इन सभी से पूछताछ शुरू कर दी है। बता दें कि शेख वसीम उर्फ वसीम बारी भाजपा की प्रदेश कार्यकारिणी के सदस्य और पूर्व जिला प्रधान थे। उनके भाई उमर भाजपा की जिला युवा इकाई का सदस्य थे, जबकि उनके पिता बशीर शेख भाजपा के जिला उपाध्यक्ष रह चुके थे।

सुरक्षाबलों ने पूरे इलाके को घेरकर आतंकियों की धरपकड़ के लिए बड़ा तलाशी अभियान शुरू कर दिया है। अब तक किसी आतंकी संगठन ने इस हमले की जिम्मेदारी नहीं ली है।

Kanpur Encounter: 8 पुलिसकर्मियों का हत्यारा विकास दुबे उज्जैन से गिरफ्तार

जानकारी के अनुसार, रात करीब 8:50 बजे आतंकियों का एक ग्रुप बांदीपोरा के मुस्लिमाबाद इलाके में आया था। आतंकियों ने वसीम (Wasim Bari) के मकान की निशानदेही की। उस समय भाजपा नेता अपने भाई और पिता संग मकान के साथ सटी अपनी दुकान पर ही थे। भाजपा नेता का मकान बांदीपोरा पुलिस स्टेशन के पास है।

आतंकियों ने मकान के बाहर दुकान पर मौजूद वसीम बारी, उनके पिता बशीर शेख और भाई उमर पर पिस्तौल से गोलियां दागीं। वे तीनों वहीं जमीन पर गिर पड़े। इसके बाद वहां से आतंकी भाग निकले। गोलियों की आवाज सुनकर पुलिस स्टेशन और निकटवर्ती शिविरों से सेना की आरआर के जवान मौके पर पहुंच गए।

India China Clash: पैंगोंग झील से भी पीछे हटी चीनी सेना, गोगरा पोस्ट एक-दो दिन में करेगी खाली

सुरक्षा के लिए तैनात पुलिस के 10 जवानों का दस्ता हमले के समय वहां मौजूद नहीं था। ये सुरक्षाकर्मी कथित तौर पर दुकान के ऊपर बने एक कमरे में मौजूद थे। इस मामले में आइजीपी कश्मीर विजय कुमार ने कहा है कि भाजपा नेता वसीम बारी (Wasim Bari) की सुरक्षा में तैनात सभी 10 पुलिसकर्मियों और एसपीओ से पूछताछ की जा रही है। वे अपने कर्तव्य का निर्वाह करने में नाकाम रहे हैं।

बता दें कि इससे पहले जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग में आतंकियों ने सरपंच अजय पंडिता (Ajay Pandita) की गोली मारकर हत्या कर दी थी। अजय पंडिता को आतंकियों ने उनके घर के पास ही गोलियों से भून दिया था, अस्पताल में उनकी मौत हो गई थी। लश्कर-ए-तैयबा (Lashkar-e-Taiba) से जुड़े संगठन द रेजिस्टेंस फ्रंट (TRF) ने इस हत्या की जिम्मेदारी ली थी। अजय पंडिता का संबंध कांग्रेस पार्टी से था।

यह भी पढ़ें