दिल्ली में यूपी एसटीएफ टीम की छापेमारी, शाहीनबाग सहित PFI के कई संदिग्ध ठिकानों पर एक साथ रेड

एसटीएफ ने सीएफआई के महासचिव रऊफ शरीफ (Rauf Sherif) से रिमांड के दौरान हुई पूछताछ में मिले अहम सुरागों के बाद यह छापेमारी की है।

Rauf Sherif

उत्तर प्रदेश पुलिस की स्पेशल टॉस्क फोर्स की टीम (STF) ने दिल्ली स्थित पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया‚ उसके छात्र संगठन कैंपस फ्रंट ऑफ इंडिया के साथ शक के दायरे में आए एक पीएफआई (PFI) सदस्य के ठिकानों पर छापेमारी की है। दरअसल एसटीएफ ने सीएफआई के महासचिव रऊफ शरीफ (Rauf Sherif) से रिमांड के दौरान हुई पूछताछ में मिले अहम सुरागों के बाद यह छापेमारी की है। इसके लिए बाकायदा कोर्ट से सर्च वारंट हासिल किया गया था।

अंतरिक्ष में दुनिया फिर देखेगी भारत की ताकत, अगले साल होगा चंद्रयान-3 का प्रक्षेपण

यूपी पुलिस के एसटीएफ अधिकारियों रऊफ शरीफ (Rauf Sherif) को साथ लेकर दिल्ली में तीनों ठिकानों को अपने कमांडो के साथ घेर लिया और गहराई से जांच शुरू कर दी। एसटीएफ के सूत्रों की माने तो छापेमारी में भड़काऊ पोस्टरों के अलावा कई इलेक्ट्रानिक डिवाइस और कई आपत्तिजनक सीडी बरामद हुई है जिनकी छानबीन की जा रही है। इसके अलावा कई बैंकों से जुड़े दस्तावेज भी मिले है।

एसटीएफ की पूछताछ के दौरान रऊफ शरीफ ने हाथरस कांड के बाद उत्तर प्रदेश में जातीय हिंसा की साजिश रचने और दिल्ली में हुए सीएए विरोधी प्रदर्शनों को लेकर कई महत्वपूर्ण जानकारी दी थी। साथ ही रऊफ (Rauf Sherif) ने पीएफआई के उन सक्रिय सदस्यों के बारे में भी बताया है जिन्होंने दिल्ली दंगों को भड़काने में जिम्मेदार थे।

रऊफ के बताई गई जानकारी के आधार पर यूपी एसटीएफ ने कई ठिकानों की तलाशी के लिए कोर्ट से सर्च वारंट हासिल किया और सबसे पहले शाहीनबाग स्थित पीएफआई (PFI) के दफ्तर पर धावा बोला। ठीक उसी समय दूसरी टीम ने  नजदीक स्थित सीएफआई के दफ्तर को भी घेर लिया‚ लेकिन यहां का ऑफिस पहले ही बंद हो चुका था। इसके बाद एसटीएफ की टीम ने पीएफआई के दफ्तर पर लगे ताले को खुलवाया और अंदर जाकर चप्पे–चप्पे की तलाशी ली। इस दौरान तमाम सीडी‚ इस्लामिक साहित्य‚ पेन ड्राइव‚ बैंक की कैश डिपॉजिट स्लिप बरामद हुई है। वहीं दूसरी ओर एक तीसरी टीम ने पीएफआई के सदस्य के घर की तलाशी के लिए रुख किया। लेकिन वो रऊफ (Rauf Sherif) की गिरफ्तारी के बाद से ही घर खाली करके फरार हो चुका है। हालांकि एसटीएफ की टीम उसकी तलाश के लिए लगातार प्रयासरत है।

एसटीएफ की नोएडा यूनिट मिले दस्तावेजों और इलेक्ट्रानिक डिवाइस की पड़ताल कर रही है और उम्मीद की जा रही है कि रऊफ (Rauf Sherif) की दी गयी सूचनाओं के आधार पर जल्द ही एसटीएफ कई पीएफआई सदस्यों को गिरफ्तार कर सकती है। इनमें से कई सदस्यों के खिलाफ यूपी में होने वाली आपराधिक घटनाओं के दौरान सक्रिय होकर अशांति फैलाने की साजिश रचने का आरोप भी है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, यूट्यूब पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App