Myanmar: तख्तापलट के बाद अपने नागरिकों की सुरक्षा को लेकर अमेरिका ने जताई चिंता, अमेरिकी दूतावास ने कही ये बात

अमेरिका (America) ने म्यांमार (Myanmar) में पैदा हुए हालातों के मद्देनजर अपने नागरिकों की सुरक्षा को लेकर चिंता जाहिर की है। म्यांमार स्थित अमेरिकी दूतावास (US Embassy) ने ताजा हालात को देखते हुए अपने नागरिकों से घरों में ही रहने की अपील की है।

Myanmar

म्यांमार (Myanmar) में तख्तापलट के बाद यंगून में हालात और तनावपूर्ण हो गए हैं। देश की सर्वोच्च नेता आंग सान सू ची (Aung San Suu Kyi) गिरफ्तारी के बाद से देशभर में प्रदर्शन हो रहे हैं।

अमेरिका (America) ने म्यांमार (Myanmar) में पैदा हुए हालातों के मद्देनजर अपने नागरिकों की सुरक्षा को लेकर चिंता जाहिर की है। म्यांमार स्थित अमेरिकी दूतावास (US Embassy) ने ताजा हालात को देखते हुए अपने नागरिकों से घरों में ही रहने की अपील की है। 15 फरवरी को एक ट्वीट के जरिए अमेरिकी दूतावास ने आगाह किया है कि वहां टेलीकॉम सेवाएं भी बंद की जा सकती हैं।

दूतावास की ओर से कहा गया है, “यंगून में सेना के मार्च के दौरान दोपहर एक बजे से सुबह 9 बजे तक टेलिकॉम सेवाएं बाधित होने के संकेत मिल रहे हैं। म्यांमार में रह रहे अमेरिकी नागरिकों से अपील है कि शाम आठ बजे से लेकर सुबह 4 बजे तक घरों से बाहर न निकलें।”

बता दें कि म्यांमार (Myanmar) में तख्तापलट के बाद यंगून (Yangon) तख्तापलट के बादमें हालात और तनावपूर्ण हो गए हैं। देश की सर्वोच्च नेता आंग सान सू ची (Aung San Suu Kyi) गिरफ्तारी के बाद से देशभर में प्रदर्शन हो रहे हैं। सड़कों पर सेना की बख्तरबंद गाड़ियां हैं। ऐसे में दुनिया के देशों की नजर वहां की मौजूदा स्थिति पर बनी हुई है।

Coronavirus: भारत में बीते 24 घंटे में आए 11,649 नए केस, दिल्ली में 2 मरीजों की मौत

माना जा रहा है कि सेना अब प्रदर्शनकारियों के खिलाफ सख्त एक्शन की तैयारी में है। काचिन में लगातार 9 दिन से सेना के तख्तापलट के खिलाफ प्रदर्शन हो रहे हैं। संयुक्त राष्ट्र (United Nations) के एक अधिकारी ने म्यांमार की सेना पर लोगों के खिलाफ जंग का ऐलान का आरोप लगाया है।

ये भी देखें-

म्यांमार (Myanmar) के लिए संयुक्त राष्ट्र (UN) के विशेष अधिकारी टॉम एंड्र्यूज (Tom Andrews) ने कहा, “ऐसा लग रहा है कि सेना ने म्यांमार के लोगों के खिलाफ जंग का ऐलान कर दिया है। आधी रात में छापे मारे जा रहे हैं, लोगों को गिरफ्तार किया जा रहा है, उनके अधिकार छीने जा रहे हैं। फिर से इंटरनेट भी बंद किया गया है। सेना के काफिले रिहाइशी इलाकों में घुस रहे हैं।”

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, यूट्यूब पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App