लोकसभा अध्यक्ष की बेटी ने पहले ही प्रयास में पास की सिविल सर्विसेज की परीक्षा

अंजलि ने कहा, ‘‘इस परीक्षा में चुने जाने पर मैं काफी खुश हूं। मैं समाज के लिए कुछ करने की खातिर सिविल सेवा (UPSC) में शामिल होना चाहती हूं क्योंकि मैंने हमेशा अपने पिता की प्रतिबद्धता देश के लोगों के प्रति देखी।’’

UPSC

UPSC

लोकसभा अध्यक्ष और बीजेपी सांसद ओम बिरला की बेटी अंजलि का चयन संघ लोकसेवा आयोग (UPSC) की सिविल सेवा के लिए हुआ है। यूपीएससी (UPSC) ने अपनी रिजर्व सूची के 89 उम्मीदवारों की सूची जारी की है। रामजस कॉलेज से राजनीति विज्ञान से ग्रेजुएशन की पढ़ाई करने वाली अंजलि ने पहले प्रयास में सिविल सेवा परीक्षा 2019 के लिए उत्तीर्ण किया। अंजलि की इस सफलता के लिए उनकी बड़ी बहन आकांक्षा ने मदद की।

पाकिस्तान इंस्टीट्यूट फॉर पीस स्टडी की रिपोर्ट, साल 2020 में Pak में आतंक की जड़ें हुईं और मजबूत

अंजलि ने कहा, ‘‘इस परीक्षा में चुने जाने पर मैं काफी खुश हूं। मैं समाज के लिए कुछ करने की खातिर सिविल सेवा (UPSC) में शामिल होना चाहती हूं क्योंकि मैंने हमेशा अपने पिता की प्रतिबद्धता देश के लोगों के प्रति देखी।’’

अंजलि ने अपनी चार्टेड अकाउंटेड बहन आकांक्षा को अपनी सफलता के लिए विशेष तौर पर धन्यवाद दिया। जिन्होंने यूपीएससी मेन्स इग्जाम की तैयारियों में उनकी काफी मदद की।

गौरतलब है कि सिविल सेवा परीक्षा (UPSC) का आयोजन साल में एक बार, वो भी तीन स्टेज में होता है — प्राइमरी, मेन्स और इंटरव्यू। इस परीक्षा के जरिये भारतीय प्रशासनिक सेवा (IAS), भारतीय विदेश सेवा (IFS) और भारतीय पुलिस सेवा (IPS) व अन्य सेवाओं के अधिकारियों का चयन होता है।

2019 के सिविल सेवा (UPSC) परीक्षा के परिणाम चार अगस्त 2020 को घोषित किए गए थे जिनमें आईएएस, आईएफएस, आईपीएस व अन्य समूह ‘ए’ तथा समूह ‘बी’ की सेवाओं के लिए 829 उम्मीदवार पास हुए थे, जबकि 927 पोजिशन खाली थीं। 2019 के सिविल सेवा परीक्षा के आधार पर आयोग ने अंजलि सहित 89 और उम्मीदवारों को अपनी रिजर्व सूची से उत्तीर्ण घोषित किया।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, यूट्यूब पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

यह भी पढ़ें