Today History (09 May): मखमली आवाज के जादूगर थे तलत महमूद, गजल गायकी के थे बादशाह

Today History: शुरुआत में तलत महमूद ने लखनऊ आकाशवाणी से गाना शुरू किया। उन्होंने सोलह साल की उम्र में ही पहली बार आकाशवाणी के लिए अपना पहला गाना रिकॉर्ड करवाया था। इस गाने को लखनऊ शहर में काफ़ी प्रसिद्धि मिली। तलत महमूद गायक और अभिनेता बनने की चाहत लिए 1944 में कोलकाता चले गए।

Today History

आज का इतिहास (Today History):  9 मई को देश और दुनिया में हुई कुछ महत्वपूर्ण घटनाओं में से कुछ हैं, प्रसिद्ध भारतीय गजल गायक और अभिनेता तलत महमूद का जन्म लखनऊ (उत्तर प्रदेश) के एक खानदानी मुस्लिम परिवार में 24 फ़रवरी, 1924 को हुआ था। उनके पिता का नाम मंजूर महमूद था। तीन बहन और दो भाइयों के बाद तलत महमूद छठी संतान थे। घर में संगीत और कला का सुसंस्कृत परिवेश इन्हें मिला। इनकी बुआ को तलत की आवाज़ की ‘लरजिश’ पसंद थी। भतीजे तलत महमूद बुआ से प्रोत्साहन पाकर गायन के प्रति आकर्षित होने लगे। इसी रुझान के चलते ‘मोरिस संगीत विद्यालय’, वर्तमान में ‘भातखंडे संगीत विद्यालय’, में उन्होंने दाखिला लिया। शुरुआत में तलत महमूद ने लखनऊ आकाशवाणी से गाना शुरू किया। उन्होंने सोलह साल की उम्र में ही पहली बार आकाशवाणी के लिए अपना पहला गाना रिकॉर्ड करवाया था। इस गाने को लखनऊ शहर में काफ़ी प्रसिद्धि मिली। तलत महमूद गायक और अभिनेता बनने की चाहत लिए 1944 में कोलकाता चले गए। उन्होंने शुरुआत में तपन कुमार के नाम से गाने गाए, जिनमें कई बंगाली गाने भी थे। शुरुआत में तो उन्हें मुंबई में कोई ख़ास सफलती नहीं मिली, लेकिन बाद में मुंबई में प्रदर्शित फ़िल्म ‘राखी’ (1949), ‘अनमोल रतन’ (1950) और ‘आरजू’ (1950) से उनके करियर को विशेष चमक मिली। फ़िल्म ‘आरजू’ की ग़ज़ल “ऐ दिल मुझे ऐसी जगह ले चल जहाँ कोई न हो…” ने अपार लोकप्रियता अर्जित की। यहीं से तलत और दिलीप कुमार का अनूठा संयोग बना, जो कई फ़िल्मों में दोहराया गया। तलत महमूद ने हिन्दी की तरह फ़िल्मों और तीन बांग्ला फ़िल्मों में अभिनय भी किया। उन्होंने 17 भारतीय भाषाओं में गाने गाये। तलत महमूद ने अपने लम्बे कैरियर में हिन्दी समेत विभिन्न भाषाओं में क़रीब 800 गीत गाए, जिनमें से उनके कई गीत आज भी लोगों के जहन में ताजा हैं। साठ के दशक में फ़िल्मी गीतों के अंदाज में आए बदलाव से तलत महमूद जैसे गायक तालमेल नहीं बैठा सके और उनका कैरियर उतार पर आ गया। मखमली आवाज़ के जरिए लोगों को अर्से तक अपना दीवाना बनाने वाले इस कलाकार ने 9 मई, 1998 को दुनिया से विदा ली।

 

Today History- इतिहास में  09 मई की तारीख में दर्ज देश और दुनिया अन्य महत्वपूर्ण घटनाएं:-

  • 2000 – जाफना प्राय:द्वीप के एलीफेंट दर्रे पर कब्ज़े के लिए लिट्टे के साथ हुए संघर्ष में श्रीलंका के 358 सैनिक मारे गये।
  • 2002 – कराची विस्फोट में पाकिस्तान के ही संगठन का हाथ होने के संकेत।
  • 2004 – चेचेन्या में एक विस्फोट में वहाँ के राष्ट्रपति अखमद कादरोव का निधन।
  • 2005 – मास्को में रूस द्वारा द्वितीय विश्वयुद्ध के दौरान जर्मनी सेना पर विजय की 60वीं वर्षगांठ के जलसों में भारत के प्रधानमंत्री डाक्टर मनमोहन सिंह ने भाग लिया।
  • 2008 – अमेरिका ने पाकिस्तान को 8.1 करोड़ डॉलर की सैन्य सहायता देने से इन्कार किया।
  • 2010 – भारत की वंदना शिवा को विकासशील देशों में महिला सशक्तिकरण और पर्यावरण संरक्षण के क्षेत्र में सहयोग देने के लिए वर्ष 2010 के सिडनी शांति पुरस्कार के लिए चुना गया। उन्हें चार नवंबर को सिडनी ओपेरा हाउस में यह पुरस्कार प्रदान किया जाएगा।

Today History- इतिहास में 09 मई  को जन्मी कुछ प्रमुख हस्तियां

  • 1540 – महाराणा प्रताप, उदयपुर, मेवाड़ में शिशोदिया राजवंश के राजा
  • 1866 – गोपाल कृष्ण गोखले, स्वतंत्रता सेनानी, समाजसेवी, विचारक एवं सुधारक थे।
  • 1836 – फ़र्डिनांड मोनोयेर – प्रसिद्ध फ़्राँसीसी नेत्र रोग विशेषज्ञ थे।
  • 1935 – स्नेहमयी चौधरी – प्रसिद्ध हिन्दी कवयित्री
  • 1661 – जहाँदारशाह – बहादुरशाह प्रथम के चार पुत्रों में से एक था।

Today History- इतिहास में 09 मई को देश-दुनिया के कुछ प्रमुख हस्तियों का निधन

  • 2014 – एन. जनार्दन रेड्डी – भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के राजनीतिज्ञ थे, जो आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री रहे।
  • 1959 – भवानी दयाल संन्यासी – राष्ट्रवादी, हिंदी सेवी और आर्यसमाजी थे।
  • 1986 – तेनज़िंग नोर्गे – माउंट एवरेस्ट, हिमालय पर पहुँचने वाले सर्वप्रथम व्यक्ति
  • 1995 – कन्हैयालाल मिश्र प्रभाकर – हिन्दी के जाने-माने निबंधकार।
  • 1998 – तलत महमूद – प्रसिद्ध भारतीय गजल गायक और अभिनेता

यह भी पढ़ें