भारतीय सेना में अगले साल शामिल हो जाएगी जांबाजों की ये टुकड़ी, युद्ध के दौरान अब नहीं बच पाएगा दुश्मन

भारतीय सेना (Indian Army) की इस टुकड़ी का नाम है मास्टर इंटीग्रेडट बैटल ग्रुप और ये अगले साल भारतीय सेना का हिस्सा बन जाएगी।

Indian Army

भारतीय सेना (Indian Army) की इस टुकड़ी का नाम है मास्टर इंटीग्रेडट बैटल ग्रुप और ये अगले साल भारतीय सेना का हिस्सा बन जाएगी। दरअसल भारतीय सेना ने पश्चिमी और पूर्वी सीमाओं की सुरक्षा के लिए ये योजना बनाई है कि वहां 11 से 13 इंटीग्रेटेड बैटल ग्रुप (IBG) ग्रुप तैनात हों।

नई दिल्ली: भारतीय सेना (Indian Army) लगातार अपनी ताकत में इजाफा कर रही है। इस बीच खबर मिली है कि भारतीय सेना जांबाजों की एक ऐसी टुकड़ी तैयार कर रही है, जो दुश्मनों से लड़ते हुए नामुमकिन को भी मुमकिन बनाने का हौसला रखती है।

भारतीय सेना (Indian Army) की इस टुकड़ी का नाम है मास्टर इंटीग्रेडट बैटल ग्रुप और ये अगले साल भारतीय सेना का हिस्सा बन जाएगी। दरअसल भारतीय सेना ने पश्चिमी और पूर्वी सीमाओं की सुरक्षा के लिए ये योजना बनाई है कि वहां 11 से 13 इंटीग्रेटेड बैटल ग्रुप (IBG) ग्रुप तैनात हों।

इंटीग्रेटेड बैटल ग्रुप (IBG) में अलग-अलग फील्ड में महारत हासिल रखने वाले लोग होंगे। इसमें पैदल सैनिक समेत वो सभी लोग होंगे, जिनकी एक युद्ध में विशेष तौर पर जरूरत होती है। अभी तक सभी की तैनाती अपने-अपने फील्ड में महारत के हिसाब से अलग-अलग यूनिट में होती है और ये केवल युद्ध की कंडीशन में ही एक साथ आते हैं। लेकिन अब जो दस्ता तैयार हो रहा है, ये किसी भी स्थिति से फौरन निपटने में सक्षम होगा क्योंकि इसमें हर फील्ड में महारत रखने वाले लोग एक साथ होंगे।

पीएम मोदी ने किया वैक्सीनेशन की नई रणनीति का ऐलान, जानें क्या हुआ बदलाव

ऐसा होने से किसी भी स्थिति से निपटने के लिए ज्यादा समय नहीं लगेगा। इस दस्ते को आदेश मिलते ही ये अपना काम शुरू कर देगा और दुश्मन को पल भर में नेस्तानाबूद कर देगा।

इस दस्ते के फाइटर्स को स्पेशल ट्रेनिंग दी जा रहीहै, जिससे वह हर तरीके की मुसीबत से आसानी से निपट सकेंगे। इंटीग्रेटेड बैटल ग्रुप (IBG) कितना बड़ा होगा, इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि ये किसी भी सैन्य ब्रिगेड से बड़ा होगा। इसकी कमान मेजर जनरल रैंक के एक अधिकारी को दी जाएगी और वह उस कोर के GOC के अंडर आएगा।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, यूट्यूब पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

यह भी पढ़ें