दक्षिण चीन सागर में अमेरिका और चीन के बीच तनाव उफान पर, मिसाइल हमले की चेतावनी!

दक्षिण चीन सागर में चीन अपना एकछत्र राज चाहता है। बीते दिनों चीन ने यहां युद्धाभ्यास किया जिसके बाद इससे उसके पड़ोसी देश जैसे ताइवान, फ‍िलीपीन्‍स और व‍ियतनाम डरे हुए हैं।

Nuclear Test

दक्षिण चीन सागर में चीन अपना एकछत्र राज चाहता है। बीते दिनों चीन ने यहां युद्धाभ्यास किया जिसके बाद इससे उसके पड़ोसी देश जैसे ताइवान, फ‍िलीपीन्‍स और व‍ियतनाम डरे हुए हैं।

दक्षिण चीन सागर में अमेरिका और चीन के बीच तनाव उफान पर है। दक्षिण चीन सागर में अमेरिकी नौसेना का युद्धाभ्‍यास के बीच चीन ने मिसाइल हमले की चेतावनी दी है। दोनों देशों की सेनाएं इस विवादित क्षेत्र पर युद्ध अभ्यास कर रही है। चीन अमेरिका को खुली धमकी भी दे रहा है। चीन ने साफ शब्दों में कहा है कि इस जगह पर तैनात उसकी मिसाइलें अमेरिकी एयरक्राफ्ट कैरियर को पलभर में तबाह कर सकती हैं क्योंकि अमेरिकी एयरक्राफ्ट कैरियर मिसाइलों की जद में हैं।

एक तरह से चीनी सरकार ने साफ शब्दों में अमेरिका को पीछे हटने और धमकाते हुए चेतावनी जारी कर दी है। चीन के सरकारी अखबर ‘ग्लोबल टाइम्स’ के मुताबिक चीनी सेना की डोंगफेंग-21 और डोंगफेंग-25 किलर मिसाइलों की जद में अमेरिकी कैरियर हैं लिहाजा चीनी सेना इन्हें पलभर में तबाह कर सकती है।

दक्षिण चीन सागर में चीन अपना एकतछत्र राज चाहता है। बीते दिनों चीन ने यहां युद्धाभ्यास किया जिसके बाद इससे उसके पड़ोसी देश जैसे ताइवान, फ‍िलीपीन्‍स और व‍ियतनाम डरे हुए हैं। अब अमेरिका के इस इलाके में युद्धाभ्यास करने से चीन बुरी तरह बौखलाया हुआ है।

बता दें कि अमेरिकी नौसेना ने दो एयरक्राफ्ट कैरियर को दक्षिण चीन सागर में तैनात किया है। अमेरिका ने इसकी पुष्टि करते हुए कहा है कि यूएसएस रेगन और यूएसएस निमित्ज हिंद प्रशांत क्षेत्र को स्वतंत्र रखने के लिए युद्धाभ्यास में जुटे हैं। रोनाल्ड रीगन कैरियर स्ट्राइक ग्रुप के अधिकारी लेफ्टिनेंट कमांडर सीन ब्रोफी ने एएनआई ने यह जानकारी साझा की है।

यह भी पढ़ें