कोरोना को करारा जवाब देने की तैयारी, भारतीय सेना के रिटायर्ड डॉक्टर्स भी संभालेंगे मोर्चा, करीब 600 लोग देंगे सेवाएं

Indian Army हमेशा अपने देश की रक्षा के लिए अलर्ट रहती है। ऐसे में कोरोना महामारी से निपटने के लिए अब सेना के रिटायर्ड डॉक्टर्स मैदान में उतरे हैं।

Indian Army

भारतीय सेना (फाइल फोटो)

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने ये जानकारी दी है। उन्होंने बताया कि डॉक्टरों की कमी ना हो, इसलिए सेना (Indian Army) से रिटायर हो चुके करीब 600 डॉक्टरों को ड्यूटी के लिए बुलाया गया है।

नई दिल्ली: भारतीय सेना (Indian Army) हमेशा अपने देश की रक्षा के लिए अलर्ट रहती है। देश के सामने ताजा समस्या कोरोना महामारी है और इसी से निपटने के लिए अब भारतीय सेना के रिटायर्ड डॉक्टर्स मैदान में उतरे हैं।

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने ये जानकारी दी है। उन्होंने बताया कि देश में मौजूदा हालातों में डॉक्टरों की कमी ना हो, इसलिए सेना (Indian Army) से रिटायर हो चुके करीब 600 डॉक्टरों को ड्यूटी के लिए बुलाया गया है। इन्हें सेना और सिविल हॉस्पिटल्स में सेवाएं देने के लिए बुलाया गया है।

कोरोना से हो रही मौतों पर हुई रिसर्च में खुलासा, इस बीमारी में स्पाइक प्रोटीन की अहम भूमिका

इसके अलावा भारतीय नौसेना (नेवी) के 200 बैटल फील्ड नर्सिंग असिस्टेंट को भी अलग-अलग अस्पतालों में तैनात किया गया है। सेना कोरोना के खिलाफ पूरी ताकत से लड़ रही है। अलग-अलग राज्यों में सेना ने 720 बेड की व्यवस्था की है।

राजनाथ सिंह ने ये भी बताया कि जल्द ही हेल्थ वेट्रन के जरिए टेली मेडिसन सर्विस शुरू की जाएगी। इससे घर पर ही लोगों को सलाह दी जा सकेगी।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, यूट्यूब पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

यह भी पढ़ें