पंजाब: बड़े हमले की कर रहे थे साजिश, दो खालिस्तानी आतंकी गिरफ्तार; आतंकी मॉड्यूल का भंडाफोड़

पंजाब पुलिस (Punjab Police) ने 18 जून की रात एक आतंकी मॉड्यूल का भंडाफोड़ कर दो खालिस्तान समर्थक आतंकियों (Terrorists) को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई (ISI) द्वारा प्रायोजित किए जा रहे एक टेरर मॉडयूल का भंडाफोड़ किया है।

Terrorists

पंजाब से गिरफ्तार खालिस्तानी आतंकी।

पंजाब पुलिस (Punjab Police) ने 18 जून की रात एक आतंकी मॉड्यूल का भंडाफोड़ कर दो खालिस्तान समर्थक आतंकियों (Terrorists) को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई (ISI) द्वारा प्रायोजित किए जा रहे एक टेरर मॉडयूल का भंडाफोड़ किया है। पुलिस ने दोनों आतंकियों के पास से विदेशी हथियार भी बरामद किए हैं।  पुलिस ने इन दोनों आतंकियों की निशानदेही पर जर्मनी में बनी एमपी-5 सब मशीनगन, 9 एमएम पिस्टल, 4 मैग्जीन, दो मोबाइल, बातचीत के रिकॉर्ड, संदेश और कुछ फोटोग्राफ्स भी बरामद की गई हैं।

पुलिस और सुरक्षा एजेंसियां दोनों आतंकियों (Terrorists) से लगातार पूछताछ कर रही हैं। पुलिस (Police) का कहना है कि ये आतंकी बड़े टेरर अटैक और टारगेट किलिंग की साजिश रच रहे थे। पुलिस के मुताबिक, पाकिस्तान से संचालित आतंकी गतिविधियों में लिप्त ये लोग सिलसिलेवार आतंकी हमलों और टारगेट किलिंग की वारदातों को अंजाम देने की तैयारी में थे।

जम्मू-कश्मीर: कठुआ में BSF ने मार गिराया हथियारों से लदा पाकिस्तानी ड्रोन

पाकिस्तान में बैठे इनके आका खुफिया एजेंसी आईएसआई की मदद और अपने हैंडलरों के माध्यम से इन तक हथियार पहुंचा रहे थे। इनके मोबाइल में कई तरह की खालिस्तान समर्थक सोशल मीडिया पोस्ट भी मिली हैं। पंजाब पुलिस के मुताबिक गुरमीत सिंह और बिक्रम सिंह नाम के इन दोनों आतंकियों (Terrorists) को अमृतसर से गिरफ्तार किया गया है।

पूछताछ में पता चला कि इनमें से एक आतंकी (Terrorist) गुरमीत सिंह 3 साल पहले पाकिस्तान जाकर अपने हैंडलरों से मिलकर आया था। तभी से वे इस खालिस्तान समर्थक नए मॉड्यूल को खड़ा करने की कोशिश में थे। 19 जून को पंजाब पुलिस महानिदेशक दिनकर गुप्ता ने मीडिया को बताया कि गुरुवार देर रात अमृतसर देहात की पुलिस टीम ने एक गुप्त जानकारी के आधार पर जंडियाला इलाके में जीटी रोड पर गुरदासपुरिया ढाबा के पास छापा मारकर गुरमीत सिंह और विक्रम सिंह को गिरफ्तार किया है।

माओवादियों पर शिकंजा! 11 के खिलाफ देशद्रोह का मुकदमा चलाने की तैयारी

दिनकर गुप्ता ने बताया कि इन दोनों से पाकिस्तान में बैठे संदिग्ध लोगों के साथ बातचीत के अंश, फोटो और एक विशेष जगह से संबंधित गैर जरूरी जानकारी हासिल हुई है। इसके अलावा गुरमीत सिंह नामक एक आरोपी के मोबाइल फोन में खालिस्तान के गठन से जुड़े कई प्रकार की पोस्ट और वेब-लिंक भी पाए गए, जो पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई द्वारा प्रायोजित भारत विरोधी तत्वों के साथ नियमित रूप से संपर्क में हैं।

डीजीपी के अनुसार, प्रारंभिक पूछताछ और बरामदगी के आधार पर आरोपियों के खिलाफ आईपीसी की 120बी, 121, 25, 54, आर्म्स एक्ट और गैरकानूनी गतिविधियों को अंजाम देने की कोशिश का केस दर्ज कर लिया गया है। अमृतसर के सुल्तानविंड रोड स्थित गंडा सिंह कॉलोनी का 44 वर्षीय गुरमीत सिंह तीन साल पहले पाकिस्तानी हैंडलर्स से मिलने के लिए वहां जाकर आ चुका है। इसके अलावा वह अमृतसर बी डिवीजन थाने में अपने भाई के साथ धोखधड़ी के एक केस में भी नामजद है। बहरहाल, गिरफ्तार किए गए दोनों लोगों से पूछताछ जारी है।