विदेश मंत्री एस जयशंकर ने PoK पर दिया बड़ा बयान, भड़का पाकिस्तान

Pakistan,POK,S Jaishankar, imran khan, kashmir, pok, article 370, sirf sach, sirfsach.in, पाकिस्तान, आर्टिकल 370, पीओके, कश्मीर, एस जयशंकर, सिर्फ सच
विदेश मंत्री एस जयशंकर

विदेश मंत्री एस जयशंकर ने विदेश मंत्रालय के 100 दिन पूरे होने पर बड़ा बयान देते हुए कहा कि पाक अधिकृत कश्मीर (PoK) भारत का हिस्सा है। एस जयशंकर का कहना है कि उम्मीद है कि जल्द ही PoK भारत का भौगोलिक हिस्सा होगा। इसके साथ ही जयशंकर ने एक बार फिर दोहराया कि अनुच्छेद 370 द्विपक्षीय मुद्दा नहीं है, यह भारत का आंतरिक मामला है। सरकार की बड़ी उपलब्धियों पर बात करते हुए उन्होंने कहा था कि हमारा अगला एजेंडा पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर को भारत का अभिन्न हिस्सा बनाना है। जयशंकर ने इसके साथ ही यह भी कहा कि एक सीमा के बाद इस बात की चिंता करने की जरूरत नहीं है कि कश्मीर पर लोग क्या कहेंगे क्योंकि यह भारत का आंतरिक मामला है और अपने आंतरिक मामलों में भारत की स्थिति मजबूत रही है और मजबूत रहेगी।

भारत सरकार के दूसरे कार्यकाल में विदेश मंत्री के तौर पर कार्यभार संभालने के बाद अपने पहले संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए विदेश मंत्री ने पाकिस्तान पर निशाना साधते हुए कहा कि भारत ‘पड़ोस प्रथम’ की नीति को आगे बढ़ा रहा है। लेकिन उसके समक्ष एक पड़ोसी की ‘अलग तरह की चुनौती’ है और यह तब तक चुनौती रहेगी जब तक वह सामान्य व्यवहार नहीं करता और सीमा पार आतंकवाद के खिलाफ कार्रवाई नहीं करता। सरकार के 100 दिन पूरे होने के मौके पर एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में बोलते हुए विदेश मंत्री एस जयशंकर ने कहा कि पाकिस्तान के साथ अनुच्छेद 370 का मुद्दा है ही नहीं। उसके साथ आतंकवाद का मुद्दा है।

पढ़ें: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जन्मदिन पर पाक मंत्री का शर्मनाक ट्वीट

उन्होंने कहा कि मुझे लगता है अंतरराष्ट्रीय समुदाय अनुच्छेद 370 पर हमारी स्थिति को समझता है। वहीं, सार्क पर बात करते हुए उन्होंने कहा कि सार्क क्षेत्रीय मुद्दों के बारे में है। व्यापार, कनेक्टिविटी… आपको आतंकवाद की आवश्यकता नहीं है। कौन सा देश सार्क को बढ़ावा देता है और कौन सा देश आतंकवाद को बढ़ावा देता है, यह सदस्यों को तय करना है। प्रेस कॉन्फ्रेंस में विदेश मंत्री ने कई मुद्दों पर अपनी बात रखी। कुलभूषण जाधव मामले पर बोलते हुए उन्होंने कहा कि हमारा उद्देश्य उनको कॉन्सुलर एक्सेस दिलाना था। अब हम निर्दोष व्यक्ति को अपने देश वापस लाने का समाधान निकाल रहे हैं। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि जाकिर नाइक के प्रत्यर्पण को लेकर हमारा अनुरोध है। हम उसे वापस चाहते हैं और हम उस पर काम कर रहे हैं।

बात यहीं खत्म नहीं होती। दरअसल, विदेश मंत्री के PoK वाले बयान पर पाकिस्तान पूरी तरह भड़क गया है। उसने ने भारत के इस बयान पर कड़ी आपत्ति जताई है और एक बार फिर अंतर्राष्ट्रीय समुदाय का समर्थन लेने की कोशिश की है। पाकिस्तान ने 17 सितंबर को अंतरराष्ट्रीय समुदाय से PoK पर भारत के बयान को ‘गंभीर संज्ञान’ लेने का आह्वान किया। पाकिस्तान ने कहा कि भारत से इस तरह के ‘गैर जिम्मेदाराना और उग्र’ बयानों से तनाव और बढ़ेगा और इन बयानों से क्षेत्र में शांति और सुरक्षा को गंभीर खतरा पैदा होगा। भारत के विदेश मंत्री एस जयशंकर के बयान पर पाकिस्तान के विदेश कार्यालय ने एक बयान में कहा, ‘हम पाकिस्तान और पीओके के बारे में भारतीय विदेश मंत्री द्वारा दिये गये भड़काऊ और गैरजिम्मेदाराना बयानों की कड़ी निंदा करते हैं और इन्हें खारिज करते हैं।’

पढ़ें: एक कवि, जिसकी मौत पर श्मशान में लगे हंसी-ठहाके

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here