प्रधानमंत्री मोदी ने लिखा देश के नाम पत्र, कहा- ‘कोरोना के खिलाफ लड़ाई में देश जीत हासिल करेगा, अर्थव्यवस्था भी उबर जाएगी’

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने अपनी सरकार के दूसरे कार्यकाल का एक साल पूरा होने पर देश की जनता के नाम चिट्ठी (PM Narendra Modi’s letter to nation) लिखी है। उन्होंने इस पत्र में अपनी सरकार द्वारा की गई पहलों, उपलब्धियों और बड़े फैसलों के बारे में जानकारी दी।

PM Narendra Modi

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने अपनी सरकार के दूसरे कार्यकाल का एक साल पूरा होने पर देश की जनता के नाम पत्र (PM Narendra Modi’s letter to nation) लिखा है। उन्होंने इस पत्र में अपनी सरकार द्वारा की गई पहलों, उपलब्धियों और बड़े फैसलों के बारे में जानकारी दी। साथ ही उन्होंने भरोसा दिलाया कि कोरोना वायरस (COVID-19) महमारी के खिलाफ लड़ाई में देश जीत हासिल करेगा और इसकी मार से अर्थव्यवस्था भी उबर जाएगी।

कोरोना संकट के दौर में पीएम मोदी (PM Narendra Modi) ने देशवासियों की हिम्मत बढ़ाते हुए कहा है कि हमें यह हमेशा याद रखना है कि 130 करोड़ भारतीयों का वर्तमान और भविष्य कोई आपदा या कोई विपत्ति तय नहीं कर सकती। हम अपना वर्तमान भी खुद तय करेंगे और अपना भविष्य भी। हम आगे बढ़ेंगे, हम प्रगति पथ पर दौड़ेंगे, हम विजयी होंगे।

जम्मू-कश्मीर: कुलगाम में मुठभेड़, जवानों ने हिज्बुल के दो आतंकियों को मार गिराया

साथ ही उन्होंने कहा कि कई लोगों ने आशंका जताई थी कि जब कोरोना भारत पर हमला करेगा, तो भारत पूरी दुनिया के लिए संकट बन जाएगा। लेकिन आज सभी देशवासियों ने भारत को देखने का नजरिया बदलकर रख दिया है। आपने यह सिद्ध करके दिखाया है कि विश्व के सामर्थ्यवान और संपन्न देशों की तुलना में भी भारतवासियों का सामूहिक सामर्थ्य और क्षमता अभूतपूर्व है।

पीएम मोदी (PM Narendra Modi) ने अपने पत्र में लिखा कि सामान्य परिस्थितियों में, वह लोगों के बीच में होते, लेकिन वर्तमान में कोरोना वायरस के कारण बनी परिस्थितियों के कारण ऐसा नहीं हो सकता। इस वजह से वे इस पत्र के माध्यम से लोगों का आशीर्वाद लेने आए हैं। एक बार फिर भारत के 130 करोड़ लोगों और हमारे राष्ट्र के लोकतांत्रिक लोकाचार को नमन। प्रधानमंत्री मोदी ने इस दिन को भारतीय लोकतंत्र के इतिहास में ‘स्वर्णिम अध्याय’ बताया।

Tiddi Attack: भारत में टिड्डियों का हमला, फसलों को हो रहा भारी नुकसान; कई राज्यों में अलर्ट जारी

उन्होंने कहा कि यह कई दशकों के बाद हुआ कि लगातार दूसरी बार जनता ने पूर्ण बहुमत की किसी सरकार को देश के चलाने की जिम्मेदारी सौंपी। पीएम मोदी ने कहा कि उनकी सरकार ने ‘ऐतिहासिक’ फैसले लिए हैं और पिछले एक साल में देश तेजी से आगे बढ़ा है। उन्होंने स्वीकार किया कि बहुत कुछ करना बाकी है और कई चुनौतियों और समस्याओं का सामना करना पड़ता है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने अनुच्छेद 370 को निरस्त करने, राम मंदिर के मुद्दे को सुलझाने, ट्रिपल तालक के अपराधीकरण और नागरिकता कानून में संशोधन को अपने दूसरे कार्यकाल के प्रमुख उपलब्धियों में गिनाया। उन्होंने कहा कि पिछले एक साल में उनकी सरकार ने ये फैसले भारत को वैश्विक नेता बनाने के सपने को पूरा करने के उद्देश्य से लिए।

Today History (30 May): सिख धर्म के पांचवे गुरु अर्जुन देव जी का शहीदी दिवस

प्रधानमंत्री मोदी (PM Narendra Modi) ने अपनी सरकार की भ्रष्टाचार विरोधी साख पर भी जोर देते हुए कहा कि पिछले पांच वर्षों में, राष्ट्र ने देखा कि कैसे प्रशासनिक तंत्र भ्रष्टाचार के दलदल के साथ-साथ कुशासन से भी मुक्त हुआ। अपनी सरकार की कई प्रमुख योजनाओं को जिक्र करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, ‘2014 से 2019 तक, भारत का कद काफी बढ़ गया। गरीबों की गरिमा बैंक खाते खोलकर मुफ्त गैस कनेक्शन देकर, मुफ्त बिजली कनेक्शन देकर, शौचालय बनवाकर, घर बनवाकर बढ़ाई।

प्रधानमंत्री (PM Narendra Modi) ने कहा कि उस कार्यकाल में जहां एक तरफ सर्जिकल स्ट्राइक और एयरस्ट्राइक हुई, वहीं दूसरी ओर वन रैंक वन पैंशन (OROP), वन नेशन वन टैक्स (GST), किसानों के लिए बेहतर एमएसपी जैसी दशकों पुरानी मांगें पूरी हुईं। वहीं, भारत में तेजी से फैलते कोरोना वायरस (Coronavirus) के बारे में उन्होंने चिट्ठी में लिखा है, ‘कई लोगों ने आशंका जताई थी कि जब कोरोना भारत पर हमला करेगा, तो भारत पूरी दुनिया के लिए संकट बन जाएगा। लेकिन आज सभी देशवासियों ने भारत को देखने का नजरिया बदलकर रख दिया है। आपने ये सिद्ध करके दिखाया है कि विश्व के सामर्थ्यवान और संपन्न देशों की तुलना में भी भारतवासियों का सामूहिक सामर्थ्य और क्षमता अभूतपूर्व है।’

प्रधानमंत्री मोदी (PM Narendra Modi) ने आगे लिखा, ‘ताली-थाली बजाने और दीया जलाने से लेकर भारत की सेनाओं द्वारा कोरोना वॉरियर्स का सम्मान हो, जनता कर्फ्यू या देशव्यापी लॉकडाउन के दौरान नियमों का निष्ठा से पालन हो, हर अवसर पर आपने ये दिखाया है कि एक भारत ही श्रेष्ठ भारत की गारंटी है। निश्चित तौर पर, इतने बड़े संकट में कोई ये दावा नहीं कर सकता कि किसी को कोई तकलीफ और असुविधा न हुई हो। हमारे श्रमिक साथी, प्रवासी मजदूर भाई-बहन, छोटे-छोटे उद्योगों में काम करने वाले कारीगर, पटरी पर सामान बेचने वाले, रेहड़ी-ठेला लगाने वाले, हमारे दुकानदार भाई-बहन, लघु उद्यमी, ऐसे साथियों ने असीमित कष्ट सहा है। इनकी परेशानियां दूर करने के लिए सभी मिलकर प्रयास कर रहे हैं।’

यह भी पढ़ें