PM Modi in Ladakh: लेह पहुंचे पीएम मोदी, CDS जनरल बिपिन रावत भी मौजूद, यहीं हुई थी चीन से झड़प

लद्दाख की गलवान घाटी में भारत और चीन के जवानों के बीच हुई हिंसक झड़प के 18 दिन बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शुक्रवार को लेह पहुंचे। प्रधानमंत्री मोदी यहां की स्थिति की समीक्षा करने के लिए इस दौरे पर गए हैं।

pm modi in ladakh

पीएम मोदी ने CDS विपिन रावत से समझा पूरा नक्शा। फोटो स्रोत- Twitter

लद्दाख की गलवान घाटी में भारत और चीन के जवानों के बीच हुई हिंसक झड़प के 18 दिन बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शुक्रवार को लेह पहुंचे। प्रधानमंत्री मोदी यहां की स्थिति की समीक्षा करने के लिए इस दौरे पर गए हैं।

यहां सेना के वरिष्ठ अधिकारियों ने उन्हें स्थिति से अवगत कराया। पीएम ने यहां पर सेना, वायुसेना और आईटीबीपी के जवानों से मुलाकात की। उनकी इस यात्रा पर उनके साथ CDS (Chief of Defence Staff) बिपिन रावत भी मौजूद हैं। प्रधानमंत्री मोदी की यह यात्रा पूर्वी लद्दाख की गलवान घाटी में चीनी सैनिकों के साथ भारतीय जवानों की हिंसक झड़प के बाद हो रही है। 15 जून की रात हुई इस हिंसक झड़प में 20 भारतीय जवान शहीद हो गए थे।

PMO से जारी किए गए बयान के मुताबिक, फिलहाल पीएम मोदी नीमू के एक फॉरवर्ड लोकेशन पर हैं। यहा वो तड़के सुबह ही पहुंच गए थे। यह जगह 11,000 की ऊंचाई पर स्थित है। यह इलाका सिंध नदी के किनारे पर और जांस्कर रेंज से घिरी हुई बहुत ही दुर्गम जगह है। इसके पहले सिर्फ CDS बिपिन रावत के लेह जाने की खबर आई थी। जानकारी है कि लद्दाख में बिपिन रावत कोर हेडक्वार्टर में सेना के अधिकारियों के साथ बैठक करेंगे। वहीं, एक दिन पहले यह भी खबर थी कि शुक्रवार को ही रक्षामंत्री राजनाथ सिंह का भी लद्दाख जाने का कार्यक्रम है, लेकिन उनके कार्यक्रम को आगे बढ़ा दिया गया है।

गौरतलब है कि गलवान घाटी में हुई झड़प के बाद से पीएम मोदी लगातार चीन पर दबाव बनाए हुए हैं। इसी कड़ी में केंद्र सरकार ने 59 चीनी ऐप्स को भारत में बैन कर दिया है। साथ ही कई चीनी कंपनियों को दिए गए ठेके वापस ले लिए गए हैं। अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी खुद लद्दाख पहुंचे हैं। यहां उन्होंने भारत और चीन सीमा की जमीनी हकीकत को समझा। चीन भारत के किन हिस्सों पर कब्जा जमाए है, वह भारत के किन हिस्सों पर अपनी दावेदारी बताता है, इन सारी बातों को पीएम मोदी ने लद्दाख पहुंचकर समझने की कोशिश की। सीडीएस विपिन रावत ने पीएम को विस्तार से बताया कि चीन कहां बदमाशी कर रहा है।

पूर्वी लद्दाख में चीन के साथ चल रहे सीमा पर तनाव के बीच प्रधानमंत्री मोदी का यह दौरा कई मायनों में खास है। माना जा रहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भारत-चीन बॉर्डर की हकीकत समझने के बाद और भी कठिन कदम उठा सकते हैं। उन्होंने हाल ही में रेडियो प्रोग्राम में ‘मन की बात’ में कहा था कि लद्दाख में हुई झड़प का चीन को उचित जवाब दे दिया गया है।

यह भी पढ़ें