टैक्सपेयर्स को तोहफा! PM मोदी ने लॉन्च किया नया प्लेटफॉर्म, मिलेंगी ये सुविधाएं

पीएम मोदी (PM Modi) ने कहा है कि ये प्लेटफॉर्म 21वीं सदी के टैक्स सिस्टम की शुरुआत है। इस प्लेटफॉर्म पर फेसलेस एसेसमेंट, अपील और टैक्सपेयर चार्टर की सुविधा मिलेगी। फेसलेस एसेसमेंट और टैक्सपेयर चार्टर को आज से ही लागू कर दिया गया है।

PM Modi

पीएम मोदी (फाइल फोटो)

पीएम मोदी  (PM Modi) ने एक नया प्लेटफॉर्म लॉन्च किया है। इस प्लेटफॉर्म पर फेसलेस एसेसमेंट, अपील और टैक्सपेयर चार्टर की सुविधा मिलेगी। फेसलेस एसेसमेंट और टैक्सपेयर चार्टर को आज से ही लागू कर दिया गया है। इसके अलावा फेसलेस अपील 25 सितंबर को लागू होगी। अब टैक्स देने में टैक्सपेयर्स को आसानी होगी और टेक्नालॉजी और भरोसे के जरिए लोगों का इस प्रणाली से जुड़ाव हो सकेगा। 

पीएम मोदी (PM Modi) ने देश के ईमानदार टैक्सपेयर्स को तोहफा दिया है। उन्होंने एक नया प्लेटफॉर्म ‘ट्रांसपैरेंट टैक्सेशन: ऑनरिंग द ऑनेस्ट’ (पारदर्शी टैक्सेशन व्यवस्था-ईमानदारों को सम्मान) लॉन्च किया है। पीएम (PM Modi) ने कहा है कि ये प्लेटफॉर्म 21वीं सदी के टैक्स सिस्टम की शुरुआत है।

इस प्लेटफॉर्म पर फेसलेस एसेसमेंट, अपील और टैक्सपेयर चार्टर की सुविधा मिलेगी। फेसलेस एसेसमेंट और टैक्सपेयर चार्टर को आज से ही लागू कर दिया गया है। इसके अलावा फेसलेस अपील 25 सितंबर को लागू होगी। अब टैक्स देने में टैक्सपेयर्स को आसानी होगी और टेक्नालॉजी और भरोसे के जरिए लोगों का इस प्रणाली से जुड़ाव हो सकेगा। 

इस मौके पर पीएम मोदी (PM Modi) ने कहा कि ये नई यात्रा की शुरुआत है। अब ईमानदारी का सम्मान किया जाएगा। एक ईमानदार करदाता, राष्ट्र निर्माण में अहम भूमिका निभाता है। पीएम ने ये भी कहा कि इस प्लेटफॉर्म से सरकार का दखल कम होगा और नई सुविधाएं मिनिमम गवर्नमेंट-मैक्सिमम गवर्ननेंस को आगे बढ़ाएंगी।

ये भी पढ़ेंसऊदी अरब से पैसा और तेल लेने के लिए तरसेगा पाकिस्तान, आखिर क्यों टूटी ये दोस्ती?

अब टैक्स देने में टैक्सपेयर्स को आसानी होगी और टेक्नालॉजी और भरोसे के जरिए लोगों का इस प्रणाली से जुड़ाव हो सकेगा।

इस मौके पर पीएम मोदी (PM Modi) ने कहा कि अब ट्रांसफर पोस्टिंग के मसलों से लोगों को राहत मिलेगी और टैक्स मामलों की जांच और अपील, फेसलैस हो सकेगी। उन्होंने कहा कि टैक्सपेयर्स से ही देश चलता है, इसलिए उसे तरक्की का मौका मिलता है।

पीएम ने कहा कि अब इनकम टैक्स विभाग को टैक्स चुकाने वाले का सम्मान करना अनिवार्य होगा। पीएम ने कहा कि वर्ष 2012-13 में जितने टैक्स रिटर्न्स होते थे, उसमें से 0.94 परसेंट की स्क्रूटनी होती थी। वर्ष 2018-19 में ये आंकड़ा घटकर 0.26 परसेंट पर आ गया है। यानी केस की स्क्रूटनी, करीब-करीब 4 गुना कम हुई है।

ये भी पढ़ें- भारत के साथ रिश्तों पर चीन ने कहा- दोस्त बनकर आगे बढ़ें, शक की निगाह से ना देखें

उन्होंने कहा कि आज 130 करोड़ लोगों में से केवल 1.5 करोड़ लोग ही टैक्स भर रहे हैं, ये काफी कम संख्या है। हमें इस पर चिंतन करना होगा। पीएम ने अपील करते हुए कहा कि लोग 15 अगस्त से ही टैक्स देने का संकल्प लें।

ये भी देखें- 

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, यूट्यूब पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

यह भी पढ़ें