जिनपिंग की भारत यात्रा से पहले छलका इमरान का दर्द

चीन (China) के राष्ट्रपति शी जिनपिंग की भारत यात्रा से पहले पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने जम्मू-कश्मीर के हालात पर अंतरराष्ट्रीय मीडिया कवरेज पर निराशा साधा। इमरान खान ने कहा कि अंतरराष्ट्रीय मीडिया कश्मीर मुद्दे को नजरअंदाज कर रही है। कश्मीर पर अंतरराष्ट्रीय मीडिया के रुख पर निराशा जाहिर करते हुए इमरान खान ने कहा कि उन्हें इस बात पर आश्चर्य हुआ है कि कैसे अंतरराष्ट्रीय मीडिया हांगकांग विरोध प्रदर्शनों को प्रमुखता से दिखा रहा है, लेकिन कश्मीर को नजरअंदाज कर रहा है।

China
इमरान का छलका दर्द

इकलौता China ही ऐसा देश है जिसने कश्मीर के मुद्दे पर पाकिस्तान का समर्थन किया था। हांगकांग इस समय China से आजादी चाहता है। तो इमरान को यह बुरा लगा कि विदेशी मीडिया हांगकांग में हो रहे विरोध प्रदर्शन को दिखा रही है, लेकिन कश्मीर को नहीं दिखा रही है। इमरान ने एक बार फिर कश्मीर मसले का हल संयुक्त राष्ट्र चार्टर के अनुसार करने की वकालत की है। हालांकि, पहले भी भारत द्वारा कश्मीर के हालातों पर जवाब दे दिया गया है। पाकिस्तान के पीएम इमरान खान का ये बयान ऐसे वक्त में आया है जब चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग आज से दो दिवसीय भारत दौरे पर आ रहे हैं।

पाकिस्तान का सबसे बड़ा मददगार China ही है। इमरान खान ऐसा करके चीन के राष्ट्रपति तक यह संदेश भेजना चाह रहे है कि वह भारत से कश्मीर को लेकर बात करे। बता दें कि उनके भारत आने से पहले वे इमरान खान से मिले थे, जो चीन के दौरे पर थे। हालांकि, China ने पहले तो यह कहा था कि कश्मीर के मुद्दे पर भारत और पाकिस्तान को आपस में ही बात करनी होगी, लेकिन इमरान से मुलाकात के बाद चीन का रुख बगावती हो गया था। मुलाकात के बाद राष्ट्रपति शी जिनफिंग का बयान आया कि हम कश्मीर पर नजर बनाए हुए है और पाकिस्तान को उसके मूल हितों से जुड़े मुद्दों का समर्थन करेंगे।

China का ये बयान कुछ दिन पहले दिए गए बयान से पूरी तरह उलट है, जिसमें उसने इस मसले को भारत-पाकिस्तान के बीच का मसला बताया था। हालांकि, अब China के इस ताजा बयान पर भारत ने कड़ी आपत्ति जताई है। China के राष्ट्रपति शी जिनपिंग 11-12 अक्टूबर को भारत दौरे पर रहेंगे। वह इस दौरान तमिलनाडु के महाबलीपुरम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ अपनी दूसरी अनौपचारिक शिखर बैठक करेंगे। विदेश मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि प्रधानमंत्री के आमंत्रण पर चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग दूसरी अनौपचारिक शिखर बैठक के लिए 11-12 अक्टूबर को भारत में चेन्नई का दौरा करेंगे।

पढ़ें: टेरर फंडिंग पर भारत का सख्त रुख, UN में पाकिस्तान की उड़ाई खिल्ली

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here