इमरान खान का झूठा दावा, सोशल मीडिया पर उड़ रहा मजाक

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान का सोशल मीडिया पर एक दावे को लेकर खूब मजाक उड़ाया जा रहा है। इमरान खान के दावे को लेकर खुद पाकिस्तान की जनता भी अपने प्रधानमंत्री का मजाक उड़ा रही है।

Imran Khan, UNHRC, Kashmir, Article 370, India, sirf sach, sirfsach.in, जम्मू कश्मीर, पाकिस्तान, भारत, संयुक्त राष्ट्र, इमरान खान, आर्टिकल 370, सिर्फ सच

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान का सोशल मीडिया पर एक दावे को लेकर खूब मजाक उड़ाया जा रहा है।

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान का सोशल मीडिया पर एक दावे को लेकर खूब मजाक उड़ाया जा रहा है। दरअसल, इमरान खान ने ट्वीट करके दावा किया था कि संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद (UNHRC) में पाकिस्तान को 58 सदस्य देशों ने समर्थन दिया है। जबकि UNHRC में केवल 47 सदस्य ही हैं। इमरान खान ने ट्वीट किया, ‘मैं उन 58 देशों की सराहना करता हूं, जिन्होंने 10 सितंबर को मानवाधिकार परिषद (UNHRC) में पाकिस्तान का साथ देकर विश्वसमुदाय की मांग को मजबूती दी कि भारत कश्मीर में बल प्रयोग रोके, प्रतिबंध हटाए, कश्मीरियों के अधिकारों की रक्षा हो और संयुक्त राष्ट्र प्रस्ताव के मुताबिक कश्मीर मुद्दे का समाधान किया जाए।’

Imran Khan, UNHRC, Kashmir, Article 370, India, sirf sach, sirfsach.in, जम्मू कश्मीर, पाकिस्तान, भारत, संयुक्त राष्ट्र, इमरान खान, आर्टिकल 370, सिर्फ सच
सोशल मीडिया पर छाए हैं इमरान खान के मीम्स

इमरान खान के दावे को लेकर खुद पाकिस्तान की जनता भी अपने प्रधानमंत्री का मजाक उड़ा रही है। पाकिस्तान की पत्रकार नायला इनायत ने इमरान का मजाक उड़ाते हुए ट्वीट किया है, ‘क्या संयुक्त राष्ट्र का मानवाधिकार आयोग 47 देशों से मिलकर नहीं बना है? लेकिन पीएम 58 देशों को धन्यवाद देना चाहते हैं। मुझे लगता है वे जिन्न भी गिन रहे हैं।’ वहीं, इमरान के इस झूठे दावे पर भारत ने कहा कि UNHRC में झूठ और धोखे के जरिए कश्मीर मुद्दे के ‘राजनीतिकर’ और ‘ध्रुवीकरण’ का पाकिस्तान का प्रयास पूरी तरह विफल हो गया और वैश्विक समुदाय उसके चरित्र से भली- भांति परिचित है।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा, ‘यह पाकिस्तान, ऐसा देश जो ‘आतंकवाद का केंद्र’ है, का ‘दुस्साहस’ है कि वह जिनेवा में यूएनएचआरसी सत्र में मानवाधिकारों पर वैश्विक समुदाय की तरफ से बोलने का ढोंग कर रहा है।’ कुमार ने पाकिस्तान के उस दावे पर भी सवाल उठाए कि करीब 60 देशों ने जम्मू-कश्मीर में मानवाधिकारों की स्थिति पर उसके संयुक्त बयान का समर्थन किया है। पाकिस्तान के मुताबिक उसने यह संयुक्त बयान UNHRC को सौंपा है। रवीश कुमार ने कहा, ‘ UNHRC में 47 सदस्य देश हैं। वे (पाकिस्तान) 60 देशों के समर्थन का दावा कर रहे हैं। साथ ही उन्होंने कहा कि भारत के पास उन देशों की सूची नहीं है जिनका समर्थन प्राप्त होने का पाकिस्तान दावा कर रहा है। पाकिस्तान को यह समझ लेना चाहिए कि ‘चार या पांच बार झूठ दोहराने से कोई बात सच नहीं होती।’

पढ़ें: इमरान खान ने कबूला- पाकिस्तान ने बनाए जेहादी, जम्मू-कश्मीर पर नहीं सुनी तो अमेरिका पर बरसे

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, यूट्यूब पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App