LoC पर पाकिस्तान ने फिर तोड़ा सीजफायर, सेना का जवान शहीद

पाकिस्तान ने राजौरी जिले में नियंत्रण रेखा के पास संघर्ष विराम का उल्लंघन (Ceasefire Violation) किया, जिसमें सेना (Indian Army) का एक जवान शहीद हो गया।

Ceasefire Violation

शहीद हवलदार संबुर गुरुंग (फाइल फोटो)

पाकिस्तान (Pakistan) ने जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) में एलओसी (LoC) पर अशांति फैलाने से बाज नहीं आ रहा। पाकिस्तानी सेना (Pakiatani Army) ने 9 जुलाई रात एक बार फिर से सीजफायर (Ceasefire) तोड़ा। पाकिस्तान ने राजौरी जिले में नियंत्रण रेखा के पास संघर्ष विराम का उल्लंघन (Ceasefire Violation) किया, जिसमें सेना (Indian Army) का एक जवान शहीद हो गया।

अधिकारियों के मुताबिक, पाकिस्तानी सैनिकों ने नौशेरा सेक्टर में नियंत्रण रेखा के पास अग्रिम चौकियों पर गोलीबारी की और गोले दागे। गोलीबारी में हवलदार संबुर गुरुंग गंभीर रूप से घायल हो गए। उन्हें अस्पताल ले जाया गया, जहां उन्होंने दम तोड़ दिया। शहीद जवान सबुर गुरुंग गोरखा रेजीमेंट में हवलदार थे।

जवानों को निशाना बनाने के लिए लगा रहा था लैंड माइंस, विस्फोट की चपेट में आने से नक्सली कमांडर की मौत

अधिकारियों के अनुसार, सीमा पर तैनात भारतीय सैनिकों ने भी संघर्ष विराम उल्लंघन (Ceasefire Violation) का मुंह तोड़ जवाब दिया। बीते दो दिन में दूसरी ऐसी घटना है। इससे पहले पाकिस्तानी सेना ने 8 जुलाई को भी एलओसी के पास पुंछ जिले में बालाकोट सेक्टर में सीजफायर तोड़ा था।

सीमापार से रात दो बजे से पौने तीन बजे तक फायरिंग हुई थी। इसमें 65 साल की महिला की मौत हो गई थी और एक अन्य गंभीर रूप से घायल हो गया था। पाकिस्तानी सेना एलओसी के उस पार से भारत के गांवों को निशाना बनाकर गोले दाग रही है। बता दें कि इस साल जनवरी से जून तक 6 महीने में पाकिस्तान ने 2027 बार सीजफायर तोड़ा है।

हालांकि, हर बार भारतीय सेना ने पाकिस्तान की इन हरकतों का माकूल जवाब दिया है। इस दौरान कश्मीर में 100 आतंकी मारे गए। आधिकारिक आंकड़ों के मुताबिक, इस साल केवल जून में ही पाकिस्तान ने 114 बार उल्लंघन (Ceasefire Violation) किया है। पिछले साल 3168 और 2018 में 1629 बार युद्धविराम उल्लंघन किया गया।

यह भी पढ़ें