आतंकियों की कमी से जूझ रही ISI ने चली नापाक चाल, पाकिस्तानी आतंकियों की जिंदगी और मौत का नया पैकेज किया तैयार

खुफिया सूत्रों के अनुसार पाकिस्तानी सेना जेल से भी आतंकी बनाने का दांव खेल रही है। पाक जेल में बंद मुजरिम की सजा माफ करना और रिहाई का आश्वासन देते हुए पैसे का भी लालच दिया जा रहा है।

Militants

पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई (ISI) भारत में अपने आतंक के पुराने खेल में मात खाने के बाद अब नया पैंतरा आजमा रही है। इसके लिए आईएसआई ने अपने मुल्क के आतंकवादियों (Militants) की जिंदगी और मौत की कीमत तय कर दी है। आईएसआई ने पाकिस्तानी नौजवानों को लुभाने के लिए उनकी जिंदगी की कीमत 5-12 हजार महीना और मौत पर 5-8 लाख रुपए देने की योजना बनाई है।

राजस्थान: पाकिस्तान की तरफ से बॉर्डर पर घुसपैठ की कोशिश करने वाला ढेर, BSF ने की कार्रवाई

जी हां‚ भारतीय सुरक्षाबलों के प्रहार से पाक परस्त आतंकी और उसके आकाओं में मौत का डर समा गया है। मौत के खौफ से आतंकी या तो सरेंडर कर रहे हैं या फिर सेना द्वारा जहन्नुम भेज दिया जा रहा है। इस वजह से पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई (ISI)आतंकवादियों (Militants) की कमी से जूझ रही है। लिहाजा आतंकवादियों को धन का लालच देकर आतंकी संगठन में भर्ती करने की नई रणनीति बनाई गई है।

खुफिया रिपोर्ट के अनुसार, आईएसआई (ISI) ने आतंकवादियों (Militants) की जिंदगी और मौत का सौदा करने की योजना बनाई है‚ जिसे अमलीजामा पहनाने का काम शुरू कर दिया गया है। हालांकि ये बात तो पूरी दुनिया जानती है कि पाक आतंकवाद की खेती करता है‚ दुनियाभर में अपने यहां से आतंकी (Militant) भेजता है और आतंक फैलाता है। जाहिर है पाकिस्तान में आतंक की इस इंडस्ट्री को चलाए रखने के लिए बाकायदा पूरा एक अर्थ तंत्र काम करता है।

खुफिया सूत्रों के अनुसार, इसमें एक सामान्य आतंकी को हर महीने 4 से 5 हजार रुपए मिलते हैं। यदि आतंकी शादीशुदा है‚ तो ऐसे आतंकी को 10 से 15 हजार रुपए महीने देने की योजना आईएसआई ने बनाई है। आतंकी बनने के लिए ट्रेनिंग पीरियड के दौरान बाकायदा 3 से 5 हजार रुपए स्टाइपन के तौर पर भी दिया जा रहा है।

यदि आतंकवादियों (Militants) को भारत में घुसपैठ का काम सौंपा जाता है‚ तो इसके लिए अलग से 10 से 15 हजार रुपए भी मिलते हैं। घुसपैठ के बाद जब पाकिस्तानी आतंकी भारत में मौजूद अपने ओवर ग्राउंड वर्कर के पास पहुंचता है‚ तो उसको भी 10 से 20 हजार रुपए देता है। इसके अलावा घुसपैठ करने के बाद आतंकवादियों (Militants) का योजना यदि भारत में हमला करने का है तो 5 लाख रुपए का जन्नती ऑफर भी मिलता है। यानी फिदायीन हमले में मारे गए तो परिवार वालों को 5 लाख रुपए दिए जाएंगे।

इस बात की भी जानकारी मिली है कि कम उम्र के लड़कों (उम्र 20 साल से कम है) को 12 हजार रुपए हर महीने और बड़ी उम्र वाले लड़कों को जो शादीशुदा या जिनके बच्चे भी हैं‚ उनको करीब 10 से 18 हजार रुपये दिए जाते हैं। यदि आतंकी फिदायीन हमला करने की ट्रेनिंग ले रहे हैं‚ तो इसके लिए 10 से 15 हजार रुपए हर महीने दिए जाते हैं।

खुफिया सूत्रों ने बताया कि पाकिस्तानी सेना जेल से भी आतंकी बनाने का दांव खेल रही है। पाक जेल में बंद मुजरिम की सजा माफ करना और रिहाई का आश्वासन देते हुए पैसे का भी लालच दिया जा रहा है। इंटेलीजेंस एजेंसियों से मिली जानकारी के अनुसार, पाक जेलों में बंद कैदियों के परिवार को 6 महीने से एक साल तक पैसे देने का लालच देकर आतंकी बनाया जा रहा है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, यूट्यूब पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

यह भी पढ़ें