जम्मू-कश्मीर में ऑपरेशन ऑलआउट का असर, रिकॉर्ड संख्या में आतंकियों का सफाया

सुरक्षाबलों से मिले आंकड़ों के मुताबिक, जम्मू कश्मीर में इस साल दिसंबर 2020 तक 203 आतंकी मारे जा चुके हैं। 2019 में ये संख्या 152 थी।

terrorists

सांकेतिक तस्वीर।

सुरक्षाबलों से मिले आंकड़ों के मुताबिक, जम्मू कश्मीर में इस साल दिसंबर 2020 तक 203 आतंकी (terrorists) मारे जा चुके हैं। 2019 में ये संख्या 152 थी।

जम्मू कश्मीर: राज्य में इस साल ऑपरेशन ऑलआउट का असर साफ देखने को मिला है। इसके तहत दिसंबर तक रिकॉर्ड संख्या में आतंकी (terrorists) मारे गए हैं और रिकॉर्ड संख्या में ही आतंकियों ने सरेंडर किया है।

सुरक्षाबलों से मिले आंकड़ों के मुताबिक, जम्मू कश्मीर में इस साल दिसंबर 2020 तक 203 आतंकी (terrorists) मारे जा चुके हैं। 2019 में ये संख्या 152 थी।

जम्मू कश्मीर में दिसंबर 2020 तक 49 आतंकियों को सुरक्षाबलों ने जिंदा पकड़ा है। 2019 में ये आंकड़ा 43 था।

छत्तीसगढ़: नक्सली अभियान के खिलाफ दंतेवाड़ा पुलिस की एक और बड़ी सफलता, मुठभेड़ में 7 लाख की इनामी 2 महिला नक्सली को किया ढेर

राहत की बात ये है कि इस साल जम्मू कश्मीर में पत्थरबाजी में भी गिरावट देखने को मिली है। 2019 में यहां पत्थरबाजी की कुल 922 घटनाएं हुई थीं, इसमें 512 नागरिक प्रदर्शन और 410 पत्थरबाजी की घटानाएं थीं। इस साल कुल नागरिक प्रदर्शन और पत्थरबाजी की 202 घटनाएं हुईं। जिसमें से 140 नागरिक प्रदर्शन हुए।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, यूट्यूब पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

यह भी पढ़ें