Cyclone Nisarga: चक्रवाती तूफान ‘निसर्ग’ महाराष्ट्र के तटीय इलाकों से टकराया, तेज हवाओं के साथ बारिश शुरू

Cyclone Nisarga: चक्रवाती तूफान ‘निसर्ग’ महाराष्ट्र के तटीय इलाकों से टकरा गया है। निसर्ग तूफान 3 जून दोपहर को मुंबई में अलीबाग के तट से टकराया है। मौके पर एनडीआरएफ (NDRF) की टीमें मौजूद हैं और लोगों को राहत शिविरों में शिफ्ट किया गया है।

चक्रवाती तूफान 'निसर्ग' Cyclone Nisarga

चक्रवाती तूफान 'निसर्ग' (Cyclone Nisarga) महाराष्ट्र के तटीय इलाकों से टकरा गया है।

चक्रवाती तूफान ‘निसर्ग’ (Cyclone Nisarga) महाराष्ट्र के तटीय इलाकों से टकरा गया है। निसर्ग तूफान 3 जून दोपहर को मुंबई में अलीबाग के तट से टकराया है। मौके पर एनडीआरएफ (NDRF) की टीमें मौजूद हैं और लोगों को राहत शिविरों में शिफ्ट किया गया है। मौसम विभाग (IMD) के मुताबिक, चक्रवाती तूफान करीब 120 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से टकराया है।

मुंबई (Mumbai) के ज्यादातर इलाकों में तेज हवाओं के साथ बारिश हो रही है। मुंबई और गुजरात के ज्यादातर इलाकों में रेड अलर्ट जारी है। मौसम विभाग के अनुसार, लैंडफॉल को पूरा होने में करीब 3 घंटे लगेंगे। तेज हवाओं और बारिश के साथ कई जगहों पर पेड़ टूटकर गिर गए हैं। लोगों को घरों में रहने की हिदायत दी जा रही है। साथ ही उन्हें तटीय इलाकों में जाने से रोका गया है।

झारखंड: लोहरदगा में नक्सलियों का तांडव, खनन के काम में लगे वाहनों को किया आग के हवाले

मौसम विभाग ने अपने ट्वीट में कहा, “चक्रवात निसर्ग (Cyclone Nisarga) का केंद्र महाराष्ट्र तट के काफी करीब है। भूस्खलन की प्रक्रिया शुरू हो गई है और यह अगले तीन घंटों तक जारी रहेगी।” मौसम विभाग के अनुसार, इस तूफान के असर से अगले 12 घंटों में 100 से 120 किमी प्रतिघंटे की रफ्तार से तेज हवाएं चलने और भारी बारिश के अलावा भूस्‍खलन भी हो सकता है।

एनडीआरएफ (NDRF) के महानिदेशक एस एन प्रधान ने समाचार एजेंसी एएनआई को बताया कि गुजरात और महाराष्ट्र में एनडीआरएफ की करीब 43 टीमें तैनात की गई हैं, जिसमें से 21 टीमें महाराष्ट्र में हैं। साइक्लोन वाली जगहों से करीब 1 लाख लोगों को बाहर निकाला गया है। इस बीच, पुलिस ने कल देर रात आदेश जारी करके, लोगों को समुद्र तट, पार्क जैसे सार्वजनिक स्थानों के साथ मुंबई तटीय रेखा पर सैर सपाटा करने से रोका है।

गद्य प्रधान कविता के जनक थे पंडित बालकृष्ण भट्ट, एक सफल पत्रकार और नाटककार होना इनकी है पहचान

मौसम विभाग (IMD) के मुताबिक दमन, दीव और दादरा नगर हवेली में तूफान का असर सबसे ज्यादा रहेगा। मुंबई समेत उत्तरी महाराष्ट्र के कई इलाकों और कोंकण में भारी बारिश का अलर्ट है। साथ ही दक्षिणी गुजरात के कई इलाकों में भी तूफान का असर ज्यादा होने की आशंका है। मुंबई के अलावा तूफान का कहर गुजरात तक हो सकता है। इसका असर अभी से दिखना शुरू हो गया है।

अहमदाबाद में जमकर बारिश हो रही है। गुजरात के नवसारी के आसपास के समंदर में ऊंची-ऊंची लहरें भी उठनी शुरू हो गई हैं। मौसम विभाग के अनुसार, बीती एक सदी में चक्रवाती तूफान ‘निसर्ग’ (Cyclone Nisarga) पहला चक्रवाती तूफान है जो महाराष्ट्र के तट से टकराएगा। इससे पहले 1948 और 1980 में दो बार चक्रवाती तूफान उठा था लेकिन वो तट से नहीं टकराया, समुद्र में ही कमजोर पड़ गया था।

यह भी पढ़ें