खालिस्तानी आतंकी गुरजीत सिंह दिल्ली एयरपोर्ट से गिरफ्तार, NIA को थी लंबे समय से इसकी तलाश

गुरजीत (Gurjeet Singh Nijjar) के खिलाफ एक लुक आउट सर्कुलर जारी किया गया था और इसी के तहत एनआईए (NIA) ने गुरजीत सिंह को नई दिल्ली हवाई अड्डे से गिरफ्तार किया गया है।

Gurjeet Singh Nijjar

Gurjeet Singh Nijjar arrested by NIA

राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) ने फरार खालिस्तानी आतंकवादी गुरजीत सिंह निज्जर (Gurjeet Singh Nijjar) को दिल्ली अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे से गिरफ्तार किया है। निज्जर पर आरोप है कि साल 2017 में भारत से फरार होकर वह यूरोप चला गया था और हाल के दिनों में यूरोप के साइप्रस में रह रहा था। उसके खिलाफ महाराष्ट्र के पुणे में आपराधिक मुकदमा दर्ज है। एनआईए अब निज्जर को ट्रांजिट रिमांड पर लेकर मुंबई जा रही है जहां उसे विशेष अदालत के सामने पेश कर पूछताछ के लिए रिमांड पर भेजा जायेगा।

ITBP ने सरकार से की मांग- सैनिकों की आंतरिक सुरक्षा में तैनाती जारी रखें

एनआईए (NIA) के एक शीर्ष अधिकारी ने कहा की निज्जर (Gurjeet Singh Nijjar) महाराष्ट्र के पुणे में एक आपराधिक मामले में शामिल था और इस मामले में एनआईए ने अन्य आरोपियों के साथ गुरजीत सिंह के खिलाफ भी आरोप पत्र अदालत में दायर किया था। मामले के मुताबिक आरोपी गुरजीत सिंह, हरपाल सिंह और मोइन खान सोशल मीडिया के प्लेटफार्म पर सक्रिय थे और खालिस्तान को अलग राज्य बनाने की मांग को लेकर आतंकवाद को पुनर्जीवित करने के लिए आपराधिक साजिश रची थी।

एनआईए (NIA) के छानबीन के दौरान यह पता चला कि अलग खालिस्तान राज्य बनाने की मांग को लेकर आरोपी हरपाल सिंह और मोइन खान ने पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री हत्याकांड के मुख्य आरोपी जगतार सिंह हवारा की तस्वीरों को सोशल प्लेटफॉर्म पर पोस्ट किए थे। साथ ही इन लोगों ने सोशल प्लेटफॉर्म पर 1984 की ऑपरेशन ब्लू स्टार की तस्वीरें और वीडियो के अलावा आतंकवादी संगठन बब्बर खालसा इंटरनेशनल से जुड़े हुये पोस्ट भी लगाई थी। इन सब के पीछे इनका मकसद ज्यादा से ज्यादा सिख नौजवानों को अपनी विचारधारा में शामिल करना था।

जांच के दौरान ये बात भी पता चली कि आरोपी मोइन खान 2013 से 2016 के बीच तिहाड़ जेल में बंद था और इसी समयावधि के दौरान उसने आतंकवादी जगतार सिंह हवारा से अपना संपर्क बनाया और उसके साथ काम करने की इच्छा जताई। इसके लिए मोइन खान ने अपने फेसबुक अकाउंट से खालिस्तान जिंदाबाद नाम की आईडी से उसे फ्रेंड रिक्वेस्ट भेजी। इसी फेसबुक अकाउंट से जुड़कर मोइन खान गुरजीत सिंह निज्जर (Gurjeet Singh Nijjar) और हरपाल सिंह के संपर्क में था ।

आरोपी गुरजीत सिंह (Gurjeet Singh Nijjar) पर आरोप है कि उसने मोइन खान को भारत में मुसलमानों और सिखों पर हुए कथित अत्याचारों के बारे में चर्चा करके प्रेरित किया और मोइन को खालिस्तान राज्य बनाने के लिए काम करने के लिए प्रेरित किया। इसी साजिश के सिलसिले में आरोपी गुरजीत सिंह निज्जर ने साल 2018 में मोइन खान को हथियार और गोला बारूद खरीदने के आदेश दिए और आतंकी साजिश को अंजाम देने को भी कहा।

एनआईए (NIA) ने 23 मई 2019 में मोस्ट वांटेड आरोपियों गुरजीत सिंह निज्जर (Gurjeet Singh Nijjar) आरोपी हरपाल सिंह व मोइन खान और सुंदर लाल पाराशर के खिलाफ स्पेशल कोर्ट में चार्जशीट दायर की थी। इस जांच के दौरान पता चला कि गुरजीत मूल रूप से अमृतसर की तहसील अजनाला का रहने वाला था और साल 2017 में ही साइप्रस चला गया था।

एनआईए (NIA) के शीर्ष अधिकारी के अनुसार, इसके बाद गुरजीत (Gurjeet Singh Nijjar) के खिलाफ एक लुक आउट सर्कुलर जारी किया गया था और इसी सर्कुलर के तहत गुरजीत सिंह को नई दिल्ली हवाई अड्डे से गिरफ्तार किया गया है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, यूट्यूब पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

यह भी पढ़ें