बीजापुर में दो अलग-अलग जगहों से 2 नक्सली पुलिस के हत्थे चढ़े

राजू बेडजा 7 जून को जगदलपुर से फरसेगढ़ जाने वाली जय भवानी बस में नक्सलियों द्वारा की गई आगजनी की घटना में शामिल था।

naxal, naxals arrested, bijapur naxal, chhattisgarh naxal, chhattisgarh, bijapur, sirf sach, sirfsach.in

गिरफ्तार नक्सली

छत्तीसगढ़ के बीजापुर जिले से दो नक्सलियों को पुलिस ने गिरफ्तार किया। जिले के थाना पामेड़ और एसटीएफ पामेड़ की संयुक्त कार्यवाही में 27 जून को मुखबिर की गुप्त सूचना के आधार पर यह कार्रवाई की गई। गिरफ्तार नक्सली का नाम कवासी कोसा है। वह महज 20 साल का है। लेकिन उसने बड़े-बड़े नक्सली वारदातों को अंजाम दिया है। वह तोंगगुडा में हुए पुलिस के जवानों की हत्या का आरोपी है।

पुलिस ने उसे धर्मावरम और जिडपल्ली के जंगल में एरिया डॉमिनेशन के दौरान गिरफ्तार किया। नक्सली कवासी कोसा पामेड़ एरिया कमेटी में सदस्य के तौर पर काम करता था। वहीं एक अन्य कार्रवाई में जिला पुलिस बल के जवानों ने एक अन्य नक्सली को गिरफ्तार किया है। जिला बल के जवान एरिया डॉमिनेशन के लिए करकेली गांव की ओर रवाना हुए थे।

इसी दौरान करकेली के जंगल में एक संदिग्ध व्यक्ति पकड़ा गया। गिरफ्तार नक्सली का नाम राजू बेंडजा है। वह बीजापुर के फरसेगढ थाना के तालमेड्री का रहनेवाला है। उसके विरूद्ध थाना कुटरू में अप0 क्र0 8/19 धारा 147, 148, 149, 341, 435 भादवि0 25 आर्म्स एक्ट का अपराध पंजीबद्ध है। आरोपी राजू बेडजा 7 जून को जगदलपुर से फरसेगढ़ जाने वाली जय भवानी बस में नक्सलियों द्वारा की गई आगजनी की घटना में शामिल था।

पढ़ें: पंचम दा ने बॉलीवुड में संगीत की परिभाषा ही बदल दी, बीयर की बोतल तक से निकालते थे धुन

 प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी को ‘स्वीटी’ बुलाने वाले सैम मानेकशॉ से जुड़े 9 किस्से

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, यूट्यूब पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App