कांकेर में और बड़ी वारदात अंजाम देने का था मंसूबा

छत्तीसगढ़ के कांकेर में 4 अप्रैल को बीएसएफ और नक्सलियों के बीच हुई मुठभेड़ की जगह और आस-पास के इलाकों से 27 बम बरामद किए गए हैं। इनमें पांच किलोग्राम के 14 प्रेशर कुकर बम, छह तीर बम और पेट्रोल बम शामिल हैं

कांकेर

सांकेतिक तस्वीर

छत्तीसगढ़ के कांकेर में 4 अप्रैल को बीएसएफ और नक्सलियों के बीच हुई मुठभेड़ की जगह और आस-पास के इलाकों से 27 बम बरामद किए गए हैं। इनमें पांच किलोग्राम के 14 प्रेशर कुकर बम, 6 तीर बम और पेट्रोल बम शामिल हैं।

मुठभेड़ के बाद से सुरक्षा बलों ने इस क्षेत्र में सर्चिंग तेज कर दी थी। तीसरे दिन 6 अप्रैल को सुरक्षाबलों को यह कामयाबी मिली। नक्सलियों ने सुरक्षा बलों को बड़ा नुकसान पहुंचाने के इरादे से इन बमों को प्लांट किया था।

सुरक्षाबलों के साथ बम स्क्वॉड की टीम भी सर्च ऑपरेशन पर है, जो बम को निष्क्रिय कर रही है। बम स्क्वॉड टीम के सदस्यों के मुताबिक अभी यहां और भी बम प्लांट होने की आशंका है। गौरतलब है कि 4 अप्रैल को सर्च ऑपरेशन पर निकले BSF के जवानों पर घात लगाकर बैठे नक्सलियों ने हमला कर दिया था।

नक्सलियों ने बीएसएफ की 114 बटालियन को निशाना बनाया था। मुठभेड़ कांकेर जिले के पंखाजुर इलाके के परतापुर में हुई थी। इस मुठभेड़ में बीएसएफ के चार जवान शहीद हो गए थे। जबकि दो जवान घायल हो गए थे।

यह भी पढ़ें: छत्तीसगढ़ के कांकेर में नक्सलियों के साथ मुठभेड़ में BSF के 4 जवान शहीद, 2 जख्मी

यह भी पढ़ें