छत्तीसगढ़: दंतेवाड़ा में सीआरपीएफ जवानों के हत्थे चढ़ा फरार इनामी नक्सली

साल 2016 में पुलिस-नक्सली मुठभेड़ के दौरान घायल हालत में पांडू को पकड़ा गया था। पुलिस ने पांडू को जिला अस्पताल में भर्ती किया था। लेकिन इलाज के दौरान वह पुलिसकर्मियों को चकमा देकर भाग निकला था।

नक्सली, नक्सली गिरफ्तार, सीआरपीएफ, बड़े गुडरा के कनकीपारा जंगलों से नक्सली को पकड़ा गया, जिला अस्पताल से पुलिस को चकमा देकर हो गया था फरार, तीन साल से फरार दो लाख का इनामी नक्सली गिरफ्तार, सिर्फ सच

दंतेवाड़ा में बड़े गुडरा के कनकीपारा जंगलों से नक्सली को पकड़ा गया

देश के सबसे अधिक नक्सल प्रभावित राज्य भी अब नक्सलियों के लिए महफूज नहीं रह गया है। सुरक्षाबलों के बढ़ते दबाव के चलते या तो वो सरेंडर कर रहे हैं या फिर एनकाउंटर में मारे जा रहे हैं। जो बचे हैं एक एक करके गिरफ्तार होते जा रहे हैं। ऐसी ही गिरफ्तारी हुई है दंतेवाड़ा से, जहां सीआरपीएफ जवानों ने 21 जून को एक नक्सली को धर दबोचा। पकड़े गए नक्सली पर प्रशासन की ओर से दो लाख रुपए का इनाम है। वह तीन साल से फरार चल रहा था। गिरफ्तार नक्सली का नाम पांडु है। वह साल 2016 में जिला अस्पताल से पुलिस को चकमा देकर फरार हो गया था। सीआरपीएफ के जवानों ने सर्चिंग के दौरान नक्सली को बड़े गुडरा के कनकीपारा जंगलों से गिरफ्तार किया। फिलहाल उससे पूछताछ की जारी है। दंतेवाड़ा के एसपी डॉ. अभिषेक पल्लव ने उसकी गिरफ्तारी की पुष्टि की।

जानकारी के मुताबिक, साल 2016 में पुलिस-नक्सली मुठभेड़ के दौरान घायल हालत में पांडू को पकड़ा गया था। पुलिस ने पांडू को जिला अस्पताल में भर्ती किया था। लेकिन इलाज के दौरान वह पुलिसकर्मियों को चकमा देकर भाग निकला था। पुलिस ने पांडु की गिरफ्तारी पर दो लाख रूपए का इनाम घोषित किया था। तीन साल बाद वह पुलिस को हाथ लगा है। जवानों को इलाके में पांडु की संदिग्ध गतिविधियों के बारे में जानकारी मिली थी। सर्चिंग के दौरान बड़े गुडरा के कनकीपारा जंगलों से पांडु को गिरफ्तार किया गया।

पुलिस के मुताबिक, पांडु प्लाटून नंबर 124 का सदस्य है और मैलावाड़ा विस्फोट सहित कई अपराधों में आरोपी है। नक्सली पांडु की पुलिस लंबे समय से तलाश कर रही थी। इससे पहले राज्य के सुकमा जिले में पुलिस ने दो नक्सलियों को गिरफ्तार किया था। ये दोनों नक्सली करीब दो दर्जन जवानों की हत्या के अलावा अन्य कई नक्सली वारदातों में शामिल थे। पुलिस ने छापेमारी कर इन दोनों को गिरफ्तार किया। पकड़े गए दोनों कुख्यात नक्सली हैं। गिरफ्तार नक्सलियों में से एक का नाम माड़वी जोगा और दूसरे का नाम सोड़ी हुंगा है।

पढ़ें: 2 महीने में 14 धराए, पढ़िए इस इलाके से ‘लाल आतंक’ के दम तोड़ने की कहानी

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, यूट्यूब पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App