प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जीवन की अनसुनी बातें

Narendra Modi Birthday : भारत के यशस्वी प्रधानमंत्री नरेंद्र दामोदर दास मोदी की ख्याति दुनिया के कोने-कोने में गूंज रही है। देश के सबसे बड़े ओहदे पर विराजमान नरेंद्र मोदी ने लगातार दूसरी बार प्रचंड बहुमत से अपनी सरकार बनाई है। ये नरेंद्र मोदी के कुशल नेतृत्व का ही नतीजा है कि आज उनकी पार्टी बीजेपी दुनिया की सबसे बड़ी पार्टी है और दुनिया के बड़े से बड़े देश के नेता उनके दोस्त हैं।

Narendra Modi

भारत को विकास की नई बुलंदियों तक ले जा रहे नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) का जन्म आज ही के दिन 17 सितंबर 1950 में तत्कालिन बॉम्बे स्टेट (वर्तमान गुजरात) के वडनगर गांव में हुआ था। नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) के पिता का नाम दामोदर दास मोदी था और वो एक छोटे व्यापारी थे जो चाय बेचा करते थे। मोदी की माता जी का नाम हीराबेन मोदी है और पीएम मोदी अपने प्रत्येक जन्मदिन पर अपनी मां से आशीर्वाद लेने गुजरात जरूर जाते हैं। 5 भाईयों और एक बहन के बीच मोदी अपने माता-पिता की तीसरी संतान हैं। इनके बड़े भाई सोमाभाई मोदी स्वास्थ्य विभाग से रिटायर होने के बाद इनके गृहनगर वडनगर में एक वृद्धाश्रम संचालित करते हैं। इनके दूसरे बड़े भाई अमृत भाई मोदी का अपना कारोबार है। इनके छोटे भाई प्रह्लाद मोदी अहमदाबाद में एक दुकान चलाते हैं और सबसे छोटे भाई पंकज मोदी गांधीनगर में एक सूचना विभाग में क्लर्क के तौर पर काम करते हैं। नरेंद्र मोदी का विवाह 18 साल की उम्र में जशोदा बेन चिमनलाल के साथ हुई है। लेकिन नरेंद्र मोदी ने देश सेवा खातिर अपनी पत्नी का साथ छोड़ दिया और देश के अलग-अलग हिस्सों में जाकर RSS के विचारों का प्रचार-प्रसार में लगे रहे। जशोदा बेन गुजरात में ही एक शिक्षिका के तौर पर सेवानिवृत हुई हैं।

नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) की आरंभिक शिक्षा वडनगर के स्थानीय स्कूल में हुई। नरेंद्र मोदी अपने बड़े भाईयों के साथ रेलवे स्टेशन और बस स्टॉप पर चाय बेचने का भी काम करते थे। इसी दौरान उनकी मुलाकात RSS के कई नेताओं से हुई ।  देश के प्रति इन नेताओं की समर्पित भावना से मोदी काफी प्रभावित हुए। 1967 में हायर सेकेंडरी की परीक्षा उत्तीर्ण करने के बाद वो RSS के साथ जुड़ गए और देश भ्रमण पर निकल गए। इस दौरान मोदी जी हिमालय की पहाडियों में जाकर ऋषि-मुनियों के साथ तप-जप भी किया। कई सालों तक भारत के विभिन्न हिस्सों का दौरा करने के बाद मोदी दोबारा 1978 में दिल्ली यूनिवर्सिटी से अपनी स्नातक की पढ़ाई पूरी की। इसके बाद अहमदाबाद से उन्होंने राजनीति में ही मास्टर की पढ़ाई पूरी की।

पढ़ाई पूरी करने के बाद मोदी जी अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के साथ जुड़कर RSS प्रचारक के रूप में काम करने लगे। साल 1975-77 में आपातकाल के दौरान मोदी ने भेष बदलकर लोगों के सामने देश में व्याप्त भ्रष्टाचार के खिलाफ एकजुट करने का भी काम किया।  धीरे-धीरे मोदी की गिनती RSS के अग्रणी प्रचारकों में होने लगी। साल 1987 में मोदी ने RSS का राजनीतिक विभाग बीजेपी को ज्वाइन किया। साल 1990 में मोदी ने लाल कृष्ण आडवानी की अयोध्या रथ यात्रा का भी संचालन किया। इसके बाद 1991-92 में मुरली मनोहर जोशी की एकता यात्रा में भी सराहनीय काम किया। इसके बाद मोदी लगातार बीजेपी के कार्यक्रमों में शिरकत करते रहे और पार्टी में उनका कद भी बढ़ने लगा।

साल 2001 में नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने पहली बार राजकोट से विधानसभा का चुनाव लड़ा और जीत हासिल करने के बाद पहली बार गुजरात के मुख्यमंत्री बने। इसके बाद नरेंद्र मोदी का राजनीतिक सफर लगातार आगे बढ़ता गया। 4 बार गुजरात के मुख्यमंत्री के तौर पर अपनी सेवाएं देने के बाद साल 2014 में उन्होंने प्रधानमंत्री पद के लिए लोकसभा चुनावों का रूख किया और वाराणसी से चुनाव जीतकर देश के 15वें प्रधानमंत्री के तौर पर राजधानी दिल्ली की गद्दी पर काबिज हुए। ये मोदी का करिश्मा ही है कि साल 2019 में हुई आम चुनावों में नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) के नेतृत्व में बीजेपी ने फिर से प्रचंड बहुमत हासिल की और मोदी दोबारा से प्रधानमंत्री की कुर्सी पर काबिज हुए।

Narendra Modi

 

मोदी का राजनीतिक सफर

  • साल 1987 में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद में शामिल हुए और इसके बाद गुजरात बीजेपी के महासचिव बने।
  • साल 1990 में लाल कृष्ण आडवानी की सोमनाथ से अयोध्या यात्रा के सारथी बने।
  • साल 1995 में बीजेपी में राष्ट्रीय सचिव और 5 राज्यों के प्रभारी बने।
  • साल 1998 में बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव बनाए गए।
  • साल 2001 में पहली बार 7 अक्टूबर को गुजरात के मुख्यमंत्री बने।
  • साल 2002 में गोधरा कांड के बाद भड़के दंगों में लगे आरोपों का डटकर सामना किया।
  • साल 2005 में गुजरात दंगों के आरोपों को देखते हुए अमेरिका ने नरेंद्र मोदी को वीजा देने इन्कार किया।
  • साल 2007 में नरेंद्र मोदी तीसरी बार गुजरात के मुख्यमंत्री बने।
  • साल 2010 में सुप्रीम कोर्ट द्वारा गठित SIT ने मोदी को क्लीन चिट दी।
  • साल 2012 में चौथी बार गुजरात के मुख्यमंत्री बने।
  • साल 2013 में बीजेपी ने  9 जून को मोदी को चुनाव अभियान समिति का अध्यक्ष बनाया।
  • साल 2013 में बीजेपी ने मोदी को पीएम उम्मीदवार घोषित किया।
  • साल 2014 में 26 मई को नरेंद्र मोदी देश के 15वें प्रधानमंत्री के रूप में सत्ता पर काबिज हुए।
  • साल 2019 में 30 मई को नरेंद्र मोदी ने दोबारा प्रधानमंत्री पद संभाला।

 

मोदी की दिनचर्या

  • सुबह 5 बजे उठना
  • सुबह 5:15 बजे चाय और इंटरनेट
  • सुबह 6 बजे योग
  • सुबह 8 बजे  मित्रों-नेताओं से बातचीत
  • सुबह 9 बजे नाश्ते में अंकुरित मूंग या फल का सेवन
  • सुबह 10:30 बजे पीएमओ दफ्तर
  • दोपहर 1:00 बजे अल्पाहार, खिचड़ी और कढ़ी बेहद पसंद
  • शाम 6 बजे चाय
  • रात 9-10 बचे के बीच खाना
  • रात 1 बजे सोना

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here