बढ़ने वाली है चीन की परेशानी, भारत के साथ ये देश करेंगे नौसैनिक अभ्यास…

इस साल के अंत में होने के जा रहे मालाबार नेवल अभ्यास (Malabar Naval Exercise)  में भारत (India), अमेरिका (America) और जापान (Japan) के साथ अब ऑस्ट्रेलिया (Australia) भी शामिल होना चाहता है। इससे अब चीन की चिंता बढ़ सकती है।

Malabar Naval Exercise

सांकेतिक तस्वीर।

इस साल के अंत में होने के जा रहे मालाबार नेवल अभ्यास (Malabar Naval Exercise)  में भारत (India), अमेरिका (America) और जापान (Japan) के साथ अब ऑस्ट्रेलिया (Australia) भी शामिल होना चाहता है। मालाबार नौसैनिक अभ्यास (Malabar Naval Exercise) में भाग लेने में ऑस्ट्रेलिया की दिलचस्पी पर भारत गंभीरता से विचार कर रहा है।

इस मामले के जानकार लोगों के मुताबिक, भारत, ऑस्ट्रेलिया को अभ्यास में शामिल करने पर सकारात्मक रूप से विचार कर रहा है। यदि भारत अभ्यास में ऑस्ट्रेलिया को भी शामिल करता है तो Quad या क्वाड्रीलैटरल कोअलिशन के सभी सदस्यों का नेवी युद्धाभ्यास चीन को बेहद परेशान कर सकता है।

Indian Army का बड़ा बयान, सीमापार से फिर घुसपैठ कराने की कोशिश में लगा पाकिस्तान

Quad का गठन हिंद-प्रशांत क्षेत्र में शांति और स्थिरता सुनिश्चित करने और क्षेत्र में चीन के बढ़ते सैन्य प्रभाव को रोकने के उद्देश्य से किया गया था। नवंबर 2017 में भारत, अमेरिका, जापान और ऑस्ट्रेलिया ने दीर्घकाल से लंबित चतुर्भुज गठबंधन को आकार दिया था। मकसद था हिंद-प्रशांत क्षेत्र में महत्वपूर्ण समुद्री मार्गों को किसी के प्रभाव से मुक्त रखने के वास्ते नई रणनीति बनाई जा सके।

मामले की जानकारी रखने वाले लोगों के अनुसार मालाबार नौसैनिक अभ्यास (Malabar Naval Exercise) में भाग लेने के प्रति ऑस्ट्रेलिया की दिलचस्पी पर भारत गंभीरता से विचार कर रहा है और अगले कुछ सप्ताह में इस पर निर्णय लिया जा सकता है। यह ऐसे समय में हो रहा है जब भारत और चीन के बीच सीमा पर तनाव है।

भारतीय वायुसेना की ताकत और बढ़ी, बोइंग ने सौंपे बाकी बचे अपाचे और चिनूक हेलिकॉप्टर

पिछले महीने दोनों देशों की सेनाओं में हिंसक झड़प के बाद स्थिति पिछले पांच दशकों में सबसे अधिक तनावपूर्ण हो गई है। मालाबार एक्सरसाइज की शुरुआत भारतीय और अमेरिकी नेवी के बीच 1992 में हुई थी। साल 2015 में जापान भी इसका स्थायी सदस्य बन गया। पिछले कुछ सालों से ऑस्ट्रेलिया भी इसमें शामिल होना चाहता है।

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच रक्षा और सुरक्षा क्षेत्र में सहयोग बढ़ा है। पिछले महीने ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री ने पीएम नरेंद्र मोदी के साथ वर्चुअल समिट के दौरान कई अहम समझौते भी किए थे। भारत की तरह ऑस्ट्रेलिया के साथ भी चीन की तनातनी है। अब मालाबार नौसैनिक अभ्यास (Malabar Naval Exercise) में ऑस्ट्रेलिया के भारत के साथ होने से चीन की परेशानी बढ़ सकती है।

यह भी पढ़ें