Madhya Pradesh: बालाघाट में पुलिस को मिली बड़ी कामयाबी, इंटर स्टेट नक्सल सप्लाई नेटवर्क का पर्दाफाश, 8 गिरफ्तार

मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) के बालाघाट जिले में पुलिस (Police) को एंटी नक्सल ऑपरेशन (Anti Naxal Operation) में बड़ी कामयाबी मिली है।

Naxalites

सांकेतिक तस्वीर

शहीद दिवस से पहले नक्सली (Naxalites) बड़ा हमला करने की फिराक में थे, लेकिन उससे पहले ही उनके मंसूबों पर पानी फिर गया।

मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) के बालाघाट जिले में पुलिस (Police) को एंटी नक्सल ऑपरेशन (Anti Naxal Operation) में बड़ी कामयाबी मिली है। पुलिस ने नक्सलियों (Naxalites) को हथियार (Weapons) गोला-बारूद, विस्फोटक (Explosive) और अन्य सामग्री की आपूर्ति करने वाले आठ लोगों को गिरफ्तार किया है।

पुलिस ने उनसे AK-47 सहित बड़ी मात्रा में हथियार और विस्फोटक सामग्री जब्त की है। ये हथियार नक्सलियों को सप्लाई किए जाने वाले थे। शहीद दिवस से पहले नक्सली (Naxalites) बड़ा हमला करने की फिराक में थे, लेकिन उससे पहले ही उनके मंसूबों पर पानी फिर गया। पुलिस ने बालाघाट जिले के किरनापुर थाना क्षेत्र से इन 8 लोगों को गिरफ्तार किया है। ये गिरफ्तारी किन्ही चौकी से सटे जंगल से की गई।

हैती के राष्ट्रपति जोवेनेल मोइसे की निजी आवास में घुसकर हत्या, प्रथम महिला को भी लगी गोली

आईजी एंटी नक्सल मोहम्मद फरीद शापू ने 7 जुलाई को इस बात की पुष्टि की है। IG के अनुसार, इस ऑपरेशन में राजस्थान, महाराष्ट्र और मध्य प्रदेश के तस्कर पकड़े गए हैं। ये लोग कई बार नक्सलियों को अवैध हथियार और विस्फोटक सामग्री सप्लाई कर चुके हैं। नक्सली इस विस्फोटक सामग्री से शहीद दिवस पर बड़ा हमला करने की तैयारी में थे।

फरीद शापू ने बताया कि गुप्त सूचना के आधार पर महाराष्ट्र और छत्तीसगढ़ की सीमा से लगे बालाघाट जिले में किरनापुर के जंगल में चार वाहनों को रोक कर तलाशी ली गई और तलाशी में पुलिस ने वाहनों से तीन पिस्तौल, पिस्तौल की मैगजीन, एके-47 राइफल, जिलेटिन की आठ छड़ें, एक एलईडी टार्च, एयर पंप, कपड़े, टेंट और अन्य सामान बरामद किया है।

बिहार: SSB और गया पुलिस को बड़ी कामयाबी, सालों से फरार हार्डकोर नक्सली भीम यादव गिरफ्तार

उन्होंने बताया कि गिरफ्तार किए गए आरोपियों के पहचान मुंबई निवासी संजय नाजी और शिव भाई बुटानी, गोंदिया निवासी घनश्याम शिवलाल आंचले और विजय जीवन कोरेटी, कोटा निवासी शकील खान और वाजीद तैथरी तथा झालावाड़ के निवासी तौसीफ और जितेन्द्र अग्रवाल के तौर पर हुई है।

ये लोग के मध्य प्रदेश समेत छग व महाराष्ट्र में सक्रिय नक्सली कमांडरों से संपर्क थे। इतना ही नहीं, वे समय-समय पर नक्सली कमांडरों से गुपचुप तरीके से मिलकर उनसे हथियारों व विस्फोटकों की डिमांड लेकर सप्लाई करते थे।

Coronavirus: बीते 24 घंटे में देश में आए 45,892 नए केस, दिल्ली में लगातार 7वें दिन मिले 100 से कम नए मरीज

आईजी के मुताबिक, आरोपी गोंदिया निवासी घनश्याम और विजय कोरेती के जरिए मध्यप्रदेश, महाराष्ट्र और छत्तीसगढ़ में सक्रिय नक्सलियों को हथियार, विस्फोटक और अन्य सामग्री की आपूर्ति करते थे। उनके अनुसार आरोपियों ने पूछताछ में स्वीकार किया कि पिछले एक साल में उन्होंने सात से आठ बार नक्सलियों को सामग्री पहुंचायी की और 25 लाख रुपये प्राप्त किए।

शापू के मुताबिक, पूछताछ में आरोपियों ने यह भी खुलासा किया कि नक्सलियों (Naxalites)  ने जुलाई के अंत में मनाए जाने वाले शहीद सप्ताह के दौरान पुलिस पर एक बड़े हमले की योजना बनाई है। डीजीपी ने कहा कि मामले में विस्तृत जांच की जा रही है।

ये भी देखें-

इन लोगों की गिरफ्तारी के साथ ही इंटर स्टेट नक्सल सप्लाई नेटवर्क का पर्दाफाश हुआ है। गिरफ्तार आरोपी बालाघाट जिले में सक्रिय टांडा दलम, मलाजखंड दलम दर्रेकसा दलम एवं विस्तार प्लाटून 2, विस्तार प्लाटून 3, खटिया मोर्चा एरिया कमेटी के नक्सलियों को अवैध हथियार और विस्फोटक सामग्री सप्लाई करते थे। एंटी नक्सल आईजी ने बताया कि पुलिस आरोपियों से पूछताछ कर रही है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, यूट्यूब पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

यह भी पढ़ें