LAC पर तनाव जारी, चीन को मुंहतोड़ जवाब देने की तैयारी में भारतीय सेना

पूर्वी लद्दाख में भारत और चीन के सेनाओं के बीच वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर तनाव जारी है। भारतीय सेना (Indian Army) साफ कर चुकी है कि जब तक स्थिति पहले जैसी नहीं हो जाती, वह एक इंच भी पीछे हटने को तैयार नहीं हैं।

LAC

पूर्वी लद्दाख में भारत और चीन के सेनाओं के बीच वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर तनाव जारी है। (फाइल फोटो)

पूर्वी लद्दाख में भारत और चीन के सेनाओं के बीच वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर तनाव जारी है। भारतीय सेना (Indian Army) साफ कर चुकी है कि जब तक स्थिति पहले जैसी नहीं हो जाती, वह एक इंच भी पीछे हटने को तैयार नहीं हैं। अब सारी नजरें 6 जून को होने वाली लेफ्टिनेंट जनरल स्तर की बातचीत पर टिकी है। इसमें सेना की 14वीं कोर के कमांडर और पीएलए के वेस्टर्न थिअटर के इसी रैंक के अधिकारी हिस्सा लेंगे।

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) का कहना है कि चीन के साथ सैन्य और कूटनीति दोनों स्तरों पर बातचीत चल रही है। चीन ने सीमा पर अपने सैनिकों के साथ-साथ हथियारों, टैंकों और आर्टिलरी गनों की भी तैनाती बढ़ाई है। इसके जबाव में भारत ने भी पूरा इंतजाम किया है। सूत्रों के मुताबिक, भारत ने लद्दाख सीमा पर चीन की किसी भी हरकत का मुंहतोड़ जवाब देने के लिए पुख्ता तैयारी कर रखी है।

Coronavirus: भारत में संक्रमितों का आंकड़ा पहुंचा सवा दो लाख के पार, अब तक 6,075 की मौत

शॉर्ट नोटिस पर टी-72, टी-90 टैंकों और बोफोर्स जैसी आर्टिलरी गनों को लद्दाख सीमा पर तैनात किया जा सकता है। साथ ही वायुसेना (Air Force) के विमान भी लगातार चीन की गतिविधियों पर नजर रखे हुए हैं। बता दें कि लद्दाख के सीमाई क्षेत्र में चीन की सेना अपना दम दिखाने की कोशिश कर रही है। भारतीय सेना (Indian Army) भी उसके सामने डट गई है।

दोनों तरफ से बातचीत भी जारी है, लेकिन अब तक गतिरोध खत्म नहीं हो पाया है। अब एक बार फिर दोनों मुल्कों की सेना बातचीत करने जा रही है। 6 जून की मीटिंग इस विवाद के लिहाज से काफी महत्वपूर्ण है। इस तानातनी के बीच रिपोर्ट्स आई हैं कि लद्दाख की गलवान घाटी में भारत और चीन की सेनाएं कुछ पीछे हट गई हैं। रिपोर्ट्स के मुताबिक, चीनी सेना 2 किमी और भारतीय सेना अपनी जगह से 1 किमी पीछे हटी है।

बॉलीवुड के ‘द ग्रेटेस्ट शोमैन ऑफ इंडियन सिनेमा’ थे राज कपूर

सूत्रों के मुताबिक, चीन की सेना ने पैंगोग सो और फिंगर 5 इलाके में एलएसी से 100 मीटर पीछे अपने टेंट गाड़े हैं। गलवान में चीन की सेना पट्रोलिंग पॉइंट 14, 15 और 16 पर मौजूद है। हालांकि पट्रोलिंग पॉइंट 15 पर कुछ पीछे हटी है। गौरतलब है कि पूर्वी लद्दाख में यह विवाद मई की शुरुआत से चला आ रहा है।

लद्दाख नें LAC पर भारत की तरफ से सड़क निर्माण का काम कराया जा रहा था जिसका चीन ने विरोध किया। इसके बाद 5 मई को पैंगोंग लेक पर दोनों देशों के सैनिक भिड़ गए। इस झड़प में जवान घायल भी हुए थे। इसके बाद चीन ने इलाके में सक्रियता बढ़ा दी और सैनिकों की तैनाती के साथ ही तंबू भी लगा दिए। LAC पर चीन की इस हरकत का भारतीय सेना भी माकूल जवाब दिया और वो भी वहीं डट गए।

यह भी पढ़ें