Jharkhand: पश्चिमी सिंहभूम में पत्थलगड़ी समर्थकों ने की उपमुखिया समेत 7 लोगों की हत्या

झारखंड के पश्चिमी सिंहभूम में उपमुखिया समेत सात लोगों की हत्या कर दी गई। इन लोगों की हत्या 19 जनवरी को पत्थलगड़ी (Pathalgadi) का विरोध करने पर की गई थी। घटना पश्चिमी सिंहभूम जिले के गुलीकेरा पंचायत के बुरुगुलीकेरा गांव में हुई। मृतकों में उपमुखिया जेम्स बूढ़ और अन्य 6 शामिल हैं।

Pathalgadi
सांकेतिक तस्वीर।

झारखंड के पश्चिमी सिंहभूम में उपमुखिया समेत सात लोगों की हत्या कर दी गई। इन लोगों की हत्या 19 जनवरी को पत्थलगड़ी (Pathalgadi) का विरोध करने पर की गई थी। घटना पश्चिमी सिंहभूम जिले के गुलीकेरा पंचायत के बुरुगुलीकेरा गांव में हुई। मृतकों में उपमुखिया जेम्स बूढ़ और अन्य 6 शामिल हैं। हत्या करने के बाद इनके शवों को जंगल में फेंक दिया गया था। इसके अलावा गांव के दो अन्य लोगों के गायब होने की भी सूचना है। पुलिस को घटना की सूचना 21 जनवरी को मिली। पुलिस के अनुसार, सातों ग्रामीणों का शव बरामद कर लिया गया है।

एसपी इंद्रजीत महथा के मुताबिक, पुलिस सूचना के आधार पर आरोपियों के खिलाफ सर्च ऑपरेशन चला रही है। सूचना मिलने के बाद कोल्‍हान के डीआइजी कुलदीप द्व‍िवेदी, डीसी अरवा राज कमल, एसपी इंद्रजीत महथा पुलिस टीम के साथ घटनास्‍थल के लिए रवाना हो गए थे। एडीजी मुरारी लाल मीणा के मुताबिक, यह नक्‍सल प्रभावित इलाका है। हालांकि, उन्होंने हत्या के पीछे नक्सली घटना से इनकार किया है। शव बरामद करने के बाद मामले की छानबीन शुरू हो गई है। जानकारी के मुताबिक, 19 जनवरी को बुरुगुलीकेरा गांव में पत्थलगड़ी (Pathalgadi) समर्थकों ने एक बैठक की थी।

पढ़ें: नक्सलियों की भाषा बन रही सुरक्षाबलों के लिए मुसीबत, जांच में भी आती हैं मुश्किलें

बैठक के दौरान कोई विवाद हो गया, जिसमें पत्थलगड़ी (Pathalgadi) समर्थकों ने उपमुखिया जेम्स बूढ़ और छह अन्य लोगों को पीटना शुरू कर दिया। समर्थकों पर जेम्स बूढ़ और अन्य लोगों को जंगल में उठा कर ले जाने का भी आरोप है। बाद में 21 जनवरी को पुलिस को जेम्स बूढ़ और छह अन्य लोगों के शव जंगल में फेंके जाने की सूचना मिली। झारखंड में पत्थलगड़ी (Pathalgadi) के समर्थन में अब तक कई घटनाएं हो चुकी हैं। लेकिन इतनी बड़ी वारदात पहली बार हुई है।

सात लोगों की हत्या की सूचना के बाद गुदड़ी थाना पुलिस से लेकर जिला पुलिस प्रशासन तक में हड़कंप मच गया। मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन 22 जनवरी को घटना से संबंधित अधिकारियों के साथ बैठक करेंगे। साथ ही स्थिति की समीक्षा भी करेंगे। मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने ट्वीट कर पश्चिमी सिंहभूम जिले में हुई घटना को दुर्भाग्यपूर्ण बताया है। उन्होंने लिखा कि झारखंड पुलिस मामले की जांच कर रही है और तलाशी अभियान जारी है। कानून सबसे ऊपर है और दोषी पाए जाने वालों के खिलाई कार्रवाई की जाएगी।

पढ़ें: धुर नक्सल प्रभावित इलाके में शांति के लिए हो रहा ‘रन फॉर पीस’ का आयोजन

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here