झारखंड: महाराज प्रमाणिक दस्ते के दो हार्डकोर नक्सली धराए, हत्या सहित आधा दर्जन मामलों में पुलिस कर रही थी तलाश

झारखंड (Jharkhand) के सरायकेला-खरसावां जिला पुलिस ने एक दंपति हत्याकांड मामले में हार्डकोर नक्सली महाराज प्रमाणिक दस्ते के दो सक्रिय नक्सलियों (Naxalites) को गिरफ्तार किया है। खरसावां पुलिस ने खुफिया सूचना के आधार पर इन नक्सलियों को गिरफ्तार किया।

Naxalites

सरायकेला से दो नक्सली गिरफ्तार।

झारखंड (Jharkhand) के सरायकेला-खरसावां जिला पुलिस (Police) ने एक दंपति हत्याकांड मामले में हार्डकोर नक्सली महाराज प्रमाणिक दस्ते के दो सक्रिय नक्सलियों (Naxalites) को गिरफ्तार किया है। खरसावां पुलिस ने खुफिया सूचना के आधार पर इन नक्सलियों को गिरफ्तार किया। बता दें कि ये नक्सली रायजामा गांव में हुई पति-पत्नी की हत्या में शामिल थे।

नक्सलियों ने इस दंपत्ति पर पुलिस के लिए मुखबिरी करने का आरोप लगाया था। इसके अलावा तमाड़ इलाके में दहशत फैलाने और पोस्टरबाजी के आरोप भी इन नक्सलियों पर हैं। गिरफ्तार नक्सलियों (Naxals) के नाम सोमा सरदार और उमेश मुंडा है।

Odisha: नक्सली नेताओं के रवैये से थे परेशान, मलकानगिरि में 6 लाख के इनामी नक्सलियों ने किया सरेंडर

नक्सली (Naxali) सोमा सरदार रायजामा का रहने वाला है। वहीं, उमेश मुंडा तमाड़ थाना के आराहंजा गांव का रहने वाला है। ये दोनों प्रतिबंधित भाकपा माओवादी संगठन के कुख्यात नक्सली महाराज प्रमाणिक दस्ते के सदस्य हैं।

पुलिस गिरफ्त में आए दोनों नक्सलियों (Naxalites) ने जिले में एक बार फिर से किसी नक्सली वारदात को अंजाम देने की योजना बनाई गई थी। जिसे पुलिस ने वक्त रहते विफल कर दिया।

कोरोना के कहर से जल्द मिलेगी मुक्ति! रूस ने किया दुनिया की पहली वैक्सीन का सफल मानव परीक्षण

बता दें कि दोनों ने पुलिस मुखबिरी के आरोप में पिछले 23 मई की रात खरसावां के रायजामा गांव में मंगल सिंह सरदार और उसकी पत्नी लखीमनी सरदार की गोली मार हत्या कर दी थी।

इसके अलावा ग्रामीणों में दहशत फैलाने के लिए इन्होंने पिछले 17 जून की रात में दहशत फैलाने के लिए सरायकेला-खरसावां जिले के अलावा रांची के तमाड़ थाना क्षेत्र में भी पोस्टरबाजी की थी।

दोनों पर विभिन्न थानों में आधे दर्जन से अधिक मामले दर्ज है। पुलिस काफी दिनों से दोनों नक्सलियों (Naxalites) की तलाश में थी। पुलिस अधीक्षक मोहम्मद अर्शी ने 12 जुलाई को यह जानकारी दी है।

एसपी ने बताया कि ये दोनों गिरफ्तार नक्सली किसी बड़ी नक्सली घटना को अंजाम देने की योजना बना रहे थे। इसकी गुप्त सूचना पुलिस को पहले ही मिल गई। सूचना के आधार पर अपर पुलिस अधीक्षक अभियान पुरुषोत्तम कुमार एवं सहायक पुलिस अधीक्षक सह सरायकेला अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी रंजन कुमार के नेतृत्व में पुलिस बल लगातार छापेमारी की गई। 12 जुलाई को गुप्त सूचना के आधार पर खरसावां थाना क्षेत्र के विभिन्न क्षेत्र से दोनों को गिरफ्तार किया गया। दोनों ने पुलिस के समक्ष अपना जुर्म कबूल कर लिया है। पुलिस अधीक्षक ने बताया कि पंद्रह दिन पहले भी इसी दस्ते के तीन नक्सलियों (Naxalites) को जेल भेजा जा चुका है।

यह भी पढ़ें