इनामी नक्सली महाराजा प्रमाणिक को गोला-बारूद देते थे, पुलिस ने धर दबोचा

हार्डकोर नक्सली महाराजा प्रमाणिक को आर्म्स सप्लाई करने आए चार नक्सली समर्थकों (Naxal Supporters) को झारखंड की सरायकेला पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। दरअसल, सरायकेला एसपी कार्तिक एस को गुप्त सूचना मिली थी कि प्रतिबंधित भाकपा माओवादी संगठन के कमांडर महाराजा प्रमाणिक के लिए कुछ नक्सली गोली, हथियार, बारूद और अन्य सामान लेकर सीनी के सरमाली गांव आ रहे हैं।

Naxal Supporters
गिरफ्तार नक्सली समर्थक।

हार्डकोर नक्सली महाराजा प्रमाणिक को आर्म्स सप्लाई करने आए चार नक्सली समर्थकों (Naxal Supporters) को झारखंड की सरायकेला पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। दरअसल, सरायकेला एसपी कार्तिक एस को गुप्त सूचना मिली थी कि प्रतिबंधित भाकपा माओवादी संगठन के कमांडर महाराजा प्रमाणिक के लिए कुछ नक्सली गोली, हथियार, बारूद और अन्य सामान लेकर सीनी के सरमाली गांव आ रहे हैं। इसी गुप्त सूचना के आधार पर पुलिस ने कार्रवाई करते हुए चार नक्सली समर्थकों (Naxal Supporters) को गिरफ्तार किया। गिरफ्तार नक्सली समर्थकों में सागर महतो, जगदीश महतो, अभिषेक कुमार और मुगा लाल महतो शामिल हैं।

पहले भी कर चुके हैं गोला-बारूद सप्लाई

हार्डकोर नक्सली महाराजा प्रमाणिक को आर्म्स सप्लाई करने की सूचना मिलने के बाद सरायकेला एसपी के द्वारा एक विशेष टीम का गठन किया गया। विशेष टीम ने कार्रवाई करते हुए सभी नक्सली समर्थकों (Naxal Supporters) को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने इनके पास से 200 जिंदा गोली नक्सली साहित्य समेत कई अन्य सामान बरामद किए हैं। पुलिस ने जब इन सभी समर्थकों से पूछताछ किया तो उन्होंने बताया कि भाकपा माओवादी कमांडर महाराजा प्रमाणिक को वो पहले भी गोली, बारूद, दूरबीन, वॉकी-टॉकी, गैस सिलेंडर समेत कई अन्य सामान की सप्लाई कर चुके हैं। साथ ही उन्होंने यह भी बताया कि वे सभी नक्सलियों के संपर्क में भी रहते थे।

पुलिस के लिए बड़ी चुनौती है महाराजा प्रमाणिक

बता दें कि महाराजा प्रमाणिक पर 10 लाख का इनाम भी है। कोल्हान क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले सरायकेला खरसावां, घाटशिला और चाईबासा के क्षेत्रों में सक्रिय नक्सली महाराजा प्रमाणिक पुलिस के लिए एक बड़ी चुनौती बना हुआ है। महाराजा प्रमाणिक मूल रूप से सरायकेला जिला के ईचागढ़ थाना क्षेत्र के दारूदा गांव का रहने वाला है। महाराजा प्रमाणिक एक के बाद एक घटनाओं का अंजाम देकर लगातार क्षेत्र में दहशत फैलाने की कोशिश कर रहा है। पिछले दो महीने के दौरान कोल्हान क्षेत्र में जितनी भी नक्सली घटनाएं हुई उन सभी में महाराजा प्रमाणिक के दस्ते की संलिप्तता सामने आई है। पुलिस महाराजा प्रमाणिक और उसके दस्ते के खात्मे के लिए जंगलों में लगातार अभियान चला रही है।

पढ़ें: विधायक की हत्या में शामिल नक्सली ने किया सरेंडर

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here