झारखंड: नक्सल कनेक्शन के खुलासे के बाद NIA ने कंस्ट्रक्शन कंपनी के दफ्तर में की छापेमारी

झारखंड (Jharkhand) में रामकृपाल कंस्ट्रक्शन कंपनी का नक्सलियों (Naxals) से कनेक्शन सामने आया है। एनआईए (NIA) ने कंपनी के एक कर्मचारी का नक्सलियों के साथ संबंध होने के खुलासे के बाद मामले की जांच शुरू कर दी है।

NIA

झारखंड (Jharkhand) में रामकृपाल कंस्ट्रक्शन कंपनी का नक्सलियों (Naxals) से कनेक्शन सामने आया है। एनआईए (NIA) ने कंपनी के एक कर्मचारी का नक्सलियों के साथ संबंध होने के खुलासे के बाद मामले की जांच शुरू कर दी है। रामकृपाल कंस्ट्रक्शन कंपनी के कर्मचारी मनोज कुमार की गिरफ्तारी के बाद छानबीन में कंपनी की गतिविधियों की जांच घेरे में आई है।

मनोज सरिया थाना क्षेत्र के केसवारी गांव का रहने वाला है। टेरर फंडिंग में कंपनी का कनेक्शन मिलने के बाद 2 जून को एनआईए (NIA) की टीम रांची में कचहरी रोड के पंचवटी प्लाजा स्थित रामकृपाल कंस्ट्रक्शन कंपनी के दफ्तर में छापेमारी की। एनआईए (NIA) ने छापेमारी के दूसरे दिन जारी बयान में बताया है कि छापेमारी के दौरान कंपनी के दफ्तर से बहुत सारे संदिग्ध दस्तावेज की मिले हैं, इसमें कैश बुक और कई बैंक खाते भी शामिल हैं।

तूफान ‘निसर्ग’ के बीच मुंबई एयरपोर्ट पर फिसला फेडेक्स का मालवाहक विमान

बता दें कि नक्सलियों (Naxalites) से संबंध होने के मामले में जनवरी, 2018 में मनोज की गिरफ्तारी एनआईए (NIA) ने की थी। गिरिडीह जिले के डुमरी थाना क्षेत्र से मनोज कुमार की गिरफ्तारी के साथ संदिग्ध दस्तावेज भी एनआईए को मिले थे। इस मामले में डुमरी थाना में प्राथमिकी दर्ज की गई थी।

तब झारखंड पुलिस को छानबीन में पता चला था कि मनोज कुमार के पास से बरामद राशि ठेकेदार से नक्सलियों के नाम पर ली गई थी। मनोज कुमार ने स्वीकार किया था कि वह नक्सलियों के रीजनल कमेटी के कृष्णा दा के लिए ठेकेदारों से लेवी वसूली करता था। इस बात का खुलासा हुआ है कि उसके पास से बरामद 6 लाख रूपए की लेवी नक्सलियों के लिए ही थे, जिसे वह उन तक पहुंचाने जा रहा था।

बता दें कि नक्सली लेवी के रूपए से हथियार, कारतूस और विस्फोटक पदार्थ खरीदते रहते हैं। इसी राशि से वे अपने संगठन का विस्तार करते हैं। इस खुलासे के बाद 2 जून को रामकृपाल कंस्ट्रक्शन कंपनी के कचहरी रोड के पंचवटी प्लाजा स्थित दफ्तर में एनआईए (NIA) की टीम ने छापेमारी की, जहां से कई कैश बुक, कई बैंक खाते और संबंधित दस्तावेज जब्त किए गए।

यह भी पढ़ें