Jharkhand: नक्सलियों को लेकर बड़ा खुलासा, डोडा और अफीम की कर रहे तस्करी

झारखंड (Jharkhand) में नक्सलियों (Naxalites) द्वारा डोडा और अफीम की तस्करी किए जाने का मामला सामने आया है। राजधानी रांची के सीमावर्ती इलाके से बड़े पैमाने पर डोडा और अफीम की तस्करी दूसरे राज्यों में की जा रही है।

Odisha

सांकेतिक तस्वीर।

राजधानी रांची के सीमावर्ती इलाके से बड़े पैमाने पर डोडा और अफीम की तस्करी दूसरे राज्यों में की जा रही है। इस तस्करी के पीछे नक्सलियों (Naxalites) का हाथ है।

झारखंड (Jharkhand) में नक्सलियों (Naxalites) द्वारा डोडा और अफीम की तस्करी किए जाने का मामला सामने आया है। राजधानी रांची के सीमावर्ती इलाके से बड़े पैमाने पर डोडा और अफीम की तस्करी दूसरे राज्यों में की जा रही है। इस तस्करी के पीछे नक्सलियों (Naxals) का हाथ है। इस बात का खुलासा चार दिन पहले गिरफ्तार दो तस्करों ने पुलिस के सामने किया है।

दरअसल, नामकुम पुलिस ने चार दिन पहले छत्रपाल और समर सिंह को सौ बोरा डोडा के साथ गिरफ्तार किया था। पूछताछ में दोनों ने पुलिस को बताया कि इस तस्करी में नक्सली (Naxalites) महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे हैं। आरोपियों ने पुलिस को यह भी जानकारी दी कि वे अब तक करीब 6 बार अनगड़ा, बुंडू और नामकुम इलाके से डोडा की खरीदारी कर उसे राजस्थान और यूपी ले जाकर बेच चुके हैं।

गिरिडीह: नक्सलियों ने मचाया उत्पात, एक जेसीबी समेत 2 मशीनों में आग लगाई, कर्मचारी को पीटा

खरीदारी के वक्त भी नक्सली उपस्थित रहते थे। आरोपी छात्रपाल और समर सिंह ने इस बात की जानकारी पुलिस को दी है। आरोपियों ने पुलिस को यह भी बताया कि उन्हें इस बात की जानकारी विक्रेताओं ने ही दी है कि डोडा की बिक्री से जो पैसे विक्रेता को मिलती है, उसमें से आधा हिस्सा नक्सली संगठन (Naxal Organization) के लोगों के खाते में चला जाता है।

उन्होंने बताया कि पांच सौ रुपए प्रति किलो के हिसाब से वे डोडा की खरीदारी करते हैं। राजस्थान और अन्य राज्यों में इसे दो हजार रुपए प्रति किलो के हिसाब से बेच देते हैं। जानकारी के मुताबिक, पूछताछ में आरोपियों ने विक्रेता के अलावा कुछ नक्सलियों (Naxalites) के नाम भी पुलिस को बताए हैं।

ओडिशा: संगठन के छलावे से तंग आकर इनामी नक्सली ने किया सरेंडर, करना चाहता है आगे की पढ़ाई

रांची पुलिस के मुताबिक, जिन लोगों के नाम आरोपियों ने बताए हैं, उन पर अनगड़ा, बुंडू और नामकुम में हत्या, लेवी वसूली, 17 सीएलए आदि के मामले दर्ज हैं। पुलिस ने उन सभी के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है। इन नक्सलियों (Naxals) की गिरफ्तारी के लिए पुलिस छापेमारी कर रही है।

बता दें कि 23 अगस्त को नामकुम पुलिस ने रिंग रोड सरवल के पास से एक ट्रक को पकड़ा था। इस ट्रक में एक सौ बोरा चावल लोड था। जब पुलिस ने इसकी तलाशी ली तो पता चला कि बोरे के भीतर डोडा रखा हुआ है। जानकारी के मुताबिक, करीब 16 सौ किलो डोडा था, जिसकी कीमत करीब 32 लाख रुपए है।

झारखंड पुलिस को मिली बड़ी सफलता, 5 लाख के इनामी समेत 7 नक्सली गिरफ्तार

इस मामले में पुलिस ने छत्रपाल और समर सिंह नाम के दो तस्करों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। बीते 11 अगस्त को भी रांची पुलिस ने ओरमांझी से एक ट्रक में लदे 98 बोरा डोडा और 17 किलो अफीम बरामद किया थे। इस मामले में भी दो लोगों की गिरफ्तारी हुई थी।

ये भी देखें-

रांची ग्रामीण एसपी नौशाद आलम के अनुसार, “डोडा और अफीम की तस्करी में नक्सली भी शामिल हैं। गिरफ्तार छात्रपाल और समर सिंह ने कुछ लोगों के नाम बताए हैं, जो नक्सली संगठन के हैं। उनकी गिरफ्तारी के लिए पुलिस प्रयासरत है।”

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, यूट्यूब पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

यह भी पढ़ें