नक्सलियों की जड़ खोदने की पूरी प्लानिंग में है झारखंड पुलिस, लेवी से वसूली गई संपत्ति होगी जब्त

झारखंड पुलिस (Jharkhand Police) नक्सलियों (Naxalites) की जड़ खोदने की पूरी प्लानिंग में है। पुलिस जबरदस्ती लेवी वसूलकर अकूत संपत्ति बनाने वाले नक्सलियों की जांच कर रही है।

Naxalites Letter

सांकेतिक तस्वीर।

झारखंड पुलिस (Jharkhand Police) के पास इस बाबत पुख्ता सबूत हैं कि मारे गए नक्सलियों (Naxalites) ने लेवी वसूल कर अकूत संपत्ति जमा की थी।

झारखंड पुलिस (Jharkhand Police) नक्सलियों (Naxalites) की जड़ खोदने की पूरी प्लानिंग में है। पुलिस जबरदस्ती लेवी वसूलकर अकूत संपत्ति बनाने वाले नक्सलियों की जांच कर रही है। बीते दिनों में गुमला और खूंटी में हुई मुठभेड़ में 15 लाख का इनामी के नक्सली बुद्धेश्वर उरांव और 10 लाख के इनामी नक्सली सनीचर सुरीन को पुलिस ने मार गिराया था।

झारखंड पुलिस (Jharkhand Police) के पास इस बाबत पुख्ता सबूत हैं कि मारे गए नक्सलियों ने लेवी वसूल कर अकूत संपत्ति जमा की थी। मुठभेड़ में मारे गए दोनों नक्सलियों के अलावा कई नक्सली गिरफ्तार भी हुए हैं। उन नक्सलियों का रिकॉर्ड भी पुलिस खंगाल रही है। नक्सलियों ने कहां-कहां से लेवी वसूला है और कितनी की प्रॉपर्टी बनाई है, पुलिस इसका पूरा लेखा-जोखा निकाले में जुटी हुई है।

बिहार: जमुई में पुलिस को मिली एक और सफलता, वॉन्टेड नक्सली को दबोचा

अब पुलिस द्वारा इन नक्सलियों की संपत्ति जब्त की जाएगी। गुमला जिले के एसपी के अनुसार, नक्सलियों की संपत्ति की जानकारी एकत्र करने का टास्क दे दिया गया है। एसपी ने उग्रवादियों की चल-अचल संपत्ति की जानकारी जुटाकर इसकी रिपोर्ट सौंपने का निर्देश दिया है। उधर, खूंटी पुलिस के द्वारा भी इनामी नक्सली सनीचर सुरीन की संपत्ति की जांच की जा रही है।

ये भी देखें-

बता दें कि झारखंड पुलिस (Jharkhand Police) अबतक 32 नक्सलियों की संपत्ति जब्त कर चुकी है। खूंटी पुलिस ने इससे पहले पीएलएफआई सुप्रीमो दिनेश गोप की संपत्ति जब्त किया है। लेकिन अब नए सिरे से दिनेश गोप सहित कई नक्सलियों की संपत्ति का पता चला है। इसके बाद से झारखंड पुलिस (Jharkhand Police) मुठभेड़ में मारे गए नक्सली और पकड़े गए नक्सलियों के अलावा अन्य नक्सलियों की संपत्ति की जांच कर रही है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, यूट्यूब पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

यह भी पढ़ें