लेवी नहीं मिलने पर मारपीट के बाद धमकाते थे, पुलिस ने सर्च अभियान चला कर 1 नक्सली को पकड़ा

नदी में पुल निर्माण में लगे श्रमिकों के साथ मारपीट की घटना को अंजाम देने वाले एक नक्सली को सुरक्षा बलों ने गिरफ्तार कर लिया है। बीते शनिवार को सीआरपीएफ और जिला बल के पुलिस द्वारा सर्च अभियान के दौरान इस नक्सली (Naxali) को पकड़ा गया है। रविवार को पुलिस ने इस कामयाबी की जानकारी दी है।

Naxali

सांकेतिक तस्वीर।

बीते सप्ताह झारखंड और बिहार के सीमा स्थित गिरिडीह भेलवाघाटी थाना क्षेत्र के कुलमुंगरी व चिरुडीह के बड़नेर नदी में पुल निर्माण में लगे श्रमिकों के साथ नक्सलियों (Naxals) ने मारपीट की थी। निर्माण कंपनी द्वारा नक्सलियों को लेवी नहीं दिये जाने के बाद डर का माहौल बनाने के लिए नक्सलियों ने यह मारपीट की। इसी मारपीट की घटना को अंजाम देने वाले एक नक्सली को सुरक्षाबलों ने गिरफ्तार कर लिया है। बीते शनिवार को सीआरपीएफ और जिला बल के पुलिस द्वारा सर्च अभियान के दौरान इस नक्सली (Naxali) को पकड़ा गया है। रविवार को पुलिस ने इस कामयाबी की जानकारी दी है।

बताया गया कि झारखंड और बिहार के सीमांचल क्षेत्र स्थित भेलवाघाटी और चकाई कैंप के पास ऑपरेशन के दौरान एक नक्सली (Naxali) को गिरफ्तार किया गया है। गिरफ्तार नक्सली की पहचान चकाई के निहाल डी गांव के राकेश उर्फ राकेश मरांडी के रूप में की गई। राकेश हार्डकोर नक्सली पिंटू राणा के दस्ते का एक खूंखार नक्सली है।

Chhattisgarh: दंतेवाड़ा में मुठभेड़, सुरक्षाबलों ने 8 लाख के इनामी नक्सली को मार गिराया

गिरिडीह के खोरी महुआ एसडीपीओ नवीन कुमार सिंह ने बताया कि राकेश के विरुद्ध भेलवाघाटी थाना कांड 14/ 20 के तहत भेलवाघाटी थाना क्षेत्र की गुनियाथर पंचायत के कुलमुंगरी और चीरूडीह में पुल निर्माण में लगे कर्मियों के साथ मारपीट करने और इसी थाना क्षेत्र में विस्फोटक पदार्थ बरामदगी के मामले में प्राथमिक दर्ज है।

इस अभियान का नेतृत्व भेलवाघाटी सीआरपीएफ 207 बटालियन के सहायक कमांडेंट अजय कुमार कर रहे थे। इसमें चकाई सीआरपीएफ 215 बटालियन के सहायक कमांडेंट राधेश्याम मीणा भेलवाघाटी के थाना प्रभारी एमजे खान भी शामिल थे।

Nisarga: ‘अम्फान’ के बाद देश पर ‘निसर्ग’ का खतरा, मुंबई में रेड अलर्ट जारी

बता दें कि 24 मई की रात में भाकपा माओवादी द्वारा चिरोड़ी व बाघमारी के मध्य कुल मुंगरी वह बेलाटांड़ गांव के मध्य से गुजरने वाली वडनेर नदी पर चल रहे पुल निर्माण कार्य में लगे मजदूरों व कर्मियों के साथ मारपीट की गई थी। इसमें नक्सलियों के एरिया कमांडर पिंटू राणा के दस्ते के सक्रिय सदस्य राकेश साहब, ताहिर मियां, अकबर मियां, और असगर मियां के विरुद्ध मुकदमा दर्ज किया गया था। इसके बाद से ही नक्सलियों को गिरफ्तारी को लेकर सीमाई क्षेत्र में लगातार सर्च अभियान चलाया जा रहा था।

वहीं बिहार की जमुई पुलिस व सीआरपीएफ द्वारा चलाए गए संयुक्त सर्च अभियान के दौरान चकाई थाना क्षेत्र के राजा डूंगर गांव से भाकपा माओवादियों की चरका पत्थर एरिया कमेटी के एरिया कमांडर मोतीलाल सोरेन उर्फ मुक्ति उर्फ मोती मरांडी उर्फ मुनीलाल सोरेन को गिरफ्तार किया गया है। गिरफ्तार एरिया कमांडर मोतीलाल सोरेन के विरुद्ध थाने में दर्जनों मामले दर्ज हैं। जमुई के एसपी अभियान सुधांशु कुमार के अनुसार गिरफ्तार एरिया कमांडर को जेल भेज दिया गया है।

यह भी पढ़ें