बिहार: झारखंड पुलिस की छापेमारी में कुख्यात नक्सली गिरफ्तार, कई थानों में 18 आपराधिक मामले दर्ज

नक्सली गणेश साव पर सिमडेगा में एक कांड सहित बिहार के कई थानों में कुल 17 अपराधिक मामले दर्ज हैं। गणेश साव के पास से लेवी मांगने का पर्चा और मोबाइल जब्त किया गया है।

Naxalite

सांकेतिक तस्वीर।

झारखंड के सिमडेगा जिले की पुलिस ने कुख्यात नक्सली (Naxali) गणेश साव उर्फ हप्पी को गिरफ्तार करने में सफलता पायी है। इस नक्सली की गिरफ्तारी पड़ोसी राज्य बिहार के पालीगंज थाना के उदयपुर अंकुरी से हुई है। गिरफ्तार नक्सली ने खुद को टीपीसी का सदस्य बताकर सिमडेगा के पाकरटांड़ थाना क्षेत्र के कारोबारी से फोन कर लेवी की मांग की थी। इस मामले में पाकरटांड़ थाना में 22 जून को प्राथमिकी दर्ज किया गया था। जिसकी छानबीन के दौरान ये गिरफ्तारी संभव हो सकी है।

बिहार: हार्डकोर नक्सली (Naxali) धर्मेंद्र कोड़ा गिरफ्तार, CRPF पर हुए हमले में है नामजद

सिमडेगा पुलिस अधीक्षक डॉक्टर शम्स तबरेज को खुफिया सूचना मिली थी कि कुख्यात नक्सली (Naxali) बिहार के पालीगंज में रह रहा है। इसी सूचना के आलोक में पाकरटांड थाना प्रभारी और सिमडेगा पुलिस की संयुक्त टीम बनाई गई। बिहार पुलिस की मदद से पालीगंज थाना क्षेत्र के उदयपुर अंकुरी में चलाये गये सर्च ऑपरेशन में नक्सली गणेश साव को गिरफ्तार किया गया है।

गौरतलब है कि कुख्यात नक्सली गणेश साव पर सिमडेगा में एक आपराधिक मामला सहित बिहार के कई थानों में कुल 17 जघन्य मामले दर्ज हैं। गिरफ्तारी के दौरान नक्सली (Naxali) गणेश साव के पास से लेवी मांगने का पर्चा और मोबाइल जब्त किया गया है।

एसपी डॉ शम्स तबरेज के अनुसार, गणेश साव को वह टीपीसी के नाम पर लेवी मांगने वाला आरोपी समझ रहे थे। लेकिन जब उसकी आपराधिक कुंडली खंगाली गयी, तो वह नक्सली (Naxali) गणेश साव निकला। इतना ही नहीं, उसके खिलाफ बिहार के करपी, पालीगंज, रामपुर चोरम थाना, अरवल थाना, खीरीमोड़ थाना और मेहंदिया थाना में 16 आपराधिक मामले दर्ज हैं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, यूट्यूब पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

यह भी पढ़ें