EXCLUSIVE: झारखंड के पलामू में नक्सलियों का तांडव, 13 वाहनों को किया आग के हवाले

EXCLUSIVE: झारखंड (Jharkhand) के पलामू में नक्सलियों (Naxals) ने एक बार फिर तांडव मचाया है। 8 मई की मध्यरात्रि में नक्सलियों (Naxalites) ने जिले के पिपरा थाना क्षेत्र के एक क्रेशर प्लांट के 13 वाहनों को आग के हवाले कर दिया।

Naxalites

EXCLUSIVE: झारखंड (Jharkhand) के पलामू में नक्सलियों (Naxals) ने एक बार फिर तांडव मचाया है।

EXCLUSIVE: झारखंड (Jharkhand) के पलामू में नक्सलियों (Naxals) ने एक बार फिर तांडव मचाया है। 8 मई की मध्यरात्रि में नक्सलियों (Naxalites) ने जिले के पिपरा थाना क्षेत्र के एक क्रेशर प्लांट के 13 वाहनों को आग के हवाले कर दिया। सूत्रों के अनुसार, नक्सली हथियारबंद थे और लेवी नहीं मिलने की वजह से क्रेशर प्लांट के वाहनों को डीजल और पेट्रोल डालकर आग के हवाले कर दिया।

क्रेशर संचालक के अनुसार, आधी रात को दर्जनों हथियारबंद नक्सलियों (Naxals) के जत्थे ने क्रेशर प्लांट में पहुंचकर इस घटना को अंजाम दिया। वहीं घटना की सूचना पर स्थानीय पुलिस जांच में जुट गई है। इस घटना से आसपास के क्षेत्रों में दहशत का माहौल है। बता दें कि लगभग 13 से 14 हथियारबंद नक्सलियों (Naxalites) का दस्ता छक्करबंधा के रास्ते प्लांट पर पहुंचा था। उन्होंने प्लांट में खड़े भारी वाहनों को आग के हवाले कर दिया।

कोरोना के खिलाफ मोर्चा ले रहे अर्द्धसैनिक बलों के जवान आ रहे चपेट में, 500 से अधिक संक्रमित

जानकारी के मुताबिक, इस घटना में 13 वाहनों को आग के हवाले किया गया था जिसमें 12 वाहन जलकर खाक हो गए। वहीं, एक वाहन को कम क्षति हुआ है। घटना को अंजाम देकर नक्सली (Naxali) पोस्टर बाजी करते हुए घटनास्थल से भाग गए। इधर घटना की सूचना पर पिपरा थाना की पुलिस (Police) ने घटना स्थल पर पहुंच कर जायज़ा लेते हुए नक्सलियों (Naxalites) द्वारा फेंके गए पोस्टर को जब्त कर लिया है।

घटना की जांच शुरू कर दी गई है। छतरपुर अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी के अनुसार, इस घटना को पुलिस गंभीरता से ले रही है। जल्द ही घटना का पर्दाफाश किया जाएगा तथा दोषियों को किसी भी स्थिति में बख्सा नहीं जाएगा। उन्होंने ‘सिर्फ सच’ से बात करते हुए बताया कि घटना गम्भीर है, लेकिन पुलिस एक-एक नक्सली (Naxali) को चुन-चुन कर गिरफ्तार करेगी।

इस घटना के बाद पुलिस ने चारों तरफ अपनी सूचना तंत्र को अलर्ट करते हुए नक्सलियों तक पहुंचने का निर्देश दिया है। संभावना जतायी जा रही हैं कि एक से दो दिनों के भीतर सभी नक्सलियों (Naxalites) को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

यह भी पढ़ें