झारखंड: पुलिस के साथ मुठभेड़ में था शामिल, TPC का एरिया कमांडर धराया

पुलिस ने झारखंड के पलामू जिले के छतरपुर थाना क्षेत्र में गुप्त सूचना के आधार पर छापेमारी कर टीपीसी (TPC) के एरिया कमांडर प्रीतम कुमार उर्फ अनुज उर्फ जयन्त जी को गिरफ्तार कर लिया।

TPC

कोरोना (Corona Virus) के चलते हुए लॉकडाउन में दोहरी ड्यूटी करते हुए पुलिस नक्सलियों और उग्रवादियों के खिलाफ भी अभियान चला रही है। पुलिस ने झारखंड के पलामू जिले के छतरपुर थाना क्षेत्र में गुप्त सूचना के आधार पर छापेमारी कर टीपीसी (TPC) के एरिया कमांडर प्रीतम कुमार उर्फ अनुज उर्फ जयन्त जी को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस जयंत की तलाश में लंबे समय से जुटी हुई थी। जयंत अपने दस्ते के साथ पुलिस मुठभेड़ सहित लेवी वसूलने की कई घटनाओं में शामिल रहा है। उसके पास से पुलिस ने 315 बोर का एक देसी कट्टा और 303 बोर की तीन गोलियां बरामद किया है।

TPC
गिरफ्तार TPC का एरिया कमांडर।

पुलिस को थी लंबे समय से तलाश: जिले के पुलिस अधीक्षक अजय लिंडा को गुप्त सूचना मिली थी टीपीसी (TPC) एरिया कमांडर प्रीतम कुमार उर्फ अनुज उर्फ जयन्त जी दस्ता से छुट्टी लेकर अपने घर लौट रहा है। इस सूचना के आधार पर छतरपुर के एसडीपीओ शंभू कुमार सिंह के नेतृत्व में कार्रवाई की गई। छतरपुर थाना क्षेत्र के करमाचराई के डाबलेवा जंगल में छापेमारी कर प्रीतम कुमार उर्फ अनुज उर्फ जयन्त जी को गिरफ्तार किया गया। उसकी तलाशी लेने पर उसके पास से एक एक देसी कट्टा और 303 बोर की तीन गोलियां बरामद की गईं। एसडीपीओ ने बताया कि जयन्त जी मनातू जंगल से दस्ता से छुट्टी लेकर अपने घर लौट रहा था। पुलिस को उसकी लंबे समय से तलाश थी।

प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी को ‘स्वीटी’ बुलाने वाले सैम मानेकशॉ से जुड़े 9 किस्से

2019 में बना एरिया कमांडर: जयन्त जी पुलिस के साथ मुठभेड़ के साथ लेवी वसूलने की कई घटनाओं में शामिल था। पिछले पांच सालों से वह टीपसी (TPC) के गिरेन्द्र गंझू दस्ता के लिए काम कर रहा था। उसे साल 2019 में एरिया कमांडर बनाया गया था। पिपरा, हरिहरगंज, हुसैनाबाद, मोहम्मदगंज, नावाबाजार के अलावा बिहार के औरंगाबाद जिले के टंडवा थाना क्षेत्र में भी वह सक्रिय था। इन थानों में इसके खिलाफ कई मामले दर्ज हैं। पूछताछ के दौरान जयंत जी ने कई कांडों में अपनी संलिप्तता स्वीकार की है।

कई संगीन मामले दर्ज हैं: टीपीसी (TPC) के एरिया कमांडर प्रीतम कुमार उर्फ अनुज उर्फ जयन्त जी के खिलाफ कई आपराधिक मामले दर्ज हैं। साल 2019 में एरिया कमांडर बनने के बाद उसने कई बड़े कांडों को अंजाम दिया। पिपरा, छतरपुर और हरिहरगंज थाना क्षेत्र में हाल के दिनों में हुई वाहनों में आगजनी, ईंट भट्टे या क्रशर के मुंशी के साथ मारपीट, क्रशर प्लांटों पर उत्पात आदि की घटनाओं में इसका हाथ था। एरिया कमांडर बनने के बाद जयंत जी ने छतरपुर एफसीआई के मैनेजर मनोज कुमार पासवान से प्रत्येक माह 10 क्विंटल चावल की लेवी मांगी थी। इसी तरह 4 जनवरी, 2020 को पिपरा के होलेया ईंट भट्ठे पर लेवी के लिए ट्रैक्टर में आग लगा देने, हुसैनाबाद के मुखिया अरविंद सिंह से लेवी मांगने में भी उसका हाथ रहा।

भाई की मौत के बाद संगठन से जुड़ा:  मार्च 2019 में पांडू में पुलिस के साथ मुठभेड़, 2018 में 28 मई को छतरपुर के हेसाग बस्ती में पुलिस के साथ मुठभेड़ में वह शामिल था। हेसाग की घटना में जहां इसके तीन साथी मारे गए थे, जबकि दो साथी लल्लू सिंह और सोनू यादव पकड़े गए थे। साल 2012 में बड़े भाई विकास कुमार की मौत के बाद टीपीसी (TPC) संगठन से जुड़ा था।

यह भी पढ़ें