लातेहार: PLFI के नक्सलियों ने मचाया उत्पात, सड़क निर्माण में लगे वाहन को लगाई आग

झारखंड (Jharkhand) के नक्सल प्रभावित लातेहार जिले के महुआडांड थाना क्षेत्र में 24 फरवरी की रात नक्सली (Naxalites) संगठन पीपुल्स लिबरेशन फ्रंट ऑफ इंडिया (PLFI) के सदस्यों ने एक बार फिर उपद्रव किया।

PLFI

नक्सल प्रभावित लातेहार जिले में 24 फरवरी की रात नक्सली (Naxalites) संगठन पीपुल्स लिबरेशन फ्रंट ऑफ इंडिया (PLFI) के सदस्यों ने एक बार फिर उपद्रव किया।

झारखंड (Jharkhand) के नक्सल प्रभावित लातेहार जिले के महुआडांड थाना क्षेत्र में 24 फरवरी की रात नक्सली (Naxalites) संगठन पीपुल्स लिबरेशन फ्रंट ऑफ इंडिया (PLFI) के सदस्यों ने एक बार फिर उपद्रव किया। नक्सलियों ने सड़क निर्माण में लगे वाहन को आग के हवाले कर दिया। हालांकि, इस घटना में किसी के हताहत होने की सूचना नहीं है।

PLFI
लातेहार में PLFI के नक्सलियों ने सड़क निर्माण में लगे वाहन को फूंक दिया।

लातेहार पुलिस के एक अधिकारी ने 25 फरवरी को इसकी जानकारी दी। पुलिस अधिकारी के मुताबिक, एक निजी कंपनी द्वारा कुरूंद से चंपा गांव तक सड़क निर्माण का कार्य कराया जा रहा है। 24 फरवरी की रात चंपा गांव में पीएलएफआई (PLFI) के 8-10 सशस्त्र नक्सलियों ने धावा बोलकर वहां एक हाईवा (डंपर) में आग लगा दी और फरार हो गए।

लातेहार के पुलिस अधीक्षक प्रशांत आनंद के अनुसार, इस घटना में किसी के हताहत होने की सूचना नहीं है। पुलिस घटनास्थल पर पहुंच गई है तथा नक्सलियों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी शुरू कर दी गई है। जानकारी के मुताबिक, प्रथम दृष्टया इस घटना की पीछे लेवी की आशंका व्यक्त की जा रही है।

प्रदेश में आए दिन नक्सली विकास कार्यों में बाधा डालने की कोशिश करते रहते हैं। इसके पीछे उनका मुख्य उद्देश्य लेवी वसूली करना होता है। इससे पहले, 10 फरवरी को भी लातेहार जिले में नक्सलियों ने तीन वाहनों को आग के हवाले कर दिया था। हथियार लिए हुए पांच लोग लातेहार जिले में चंदवाड़ा रेलवे स्टेशन के अंतर्गत टोरी कोल सीडिंग के पास पहुंचे थे।

अपराधियों ने पहले हवा में फायरिंग की थी और वहां स्थित तीन वाहनों में आग लगा दी थी। इस घटना के पीछे भी लेवी वसूली की बात सामने आई थी। बताया जा रहा है कि लेवी नहीं दिए जाने की वजह से नक्सलियों ने घटना को अंजाम दिया था।

पढ़ें: SSB ने हार्डकोर नक्सली को दबोचा, कुख्यात प्रद्युम्न शर्मा के लिए करता था काम

यह भी पढ़ें